Archive | समाचार RSS feed for this section

>local sirsa news सिरसा समाचार

7 जुलाई

>

नाव चालकों, मोटर बोट चालकों तथा गोताखोरों को नई तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाएगा
सिरसा
, 7 जुलाई।      जिला में बाढ़ जैसी स्थिति में बचाव कार्य के लिए प्रशासन द्वारा विभिन्न गांव के दो दर्जन से भी अधिक नाव चालकों, मोटर बोट चालकों तथा गोताखोरों को नई तकनीक का प्रशिक्षण दिया जाएगा और कार्य के दौरान इन लोगों को जिला प्रशासन द्वारा 1000 रुपए प्रतिदिन मानदेय दिया जाएगा। यह बात सिरसा के उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने आज इन सभी नाव चालकों तथा मोटर बोट चालाकों की बैठक लेते हुए कही। उन्होंने कहा कि इन सभी बोट चालकों को नवीनतम तकनीकों से प्रशिक्षित किया जाएगा। जिला के बाढ़ अनुदेशक श्री रणजीत सिंह सोखल इन्हें प्रशिक्षण देंगे जो नाव और बोट चालन का कुरूक्षेत्र और हथनी कुंड बैराज में प्रशिक्षण पाप्त कर चुके हैं।
    उन्होंने बताया कि बरसात के मौसम के दौरान घग्घर नदी में पानी बढ़ जाने और बाढ़ के एतिहातन प्रशासन द्वारा पर्याप्त मात्रा में किश्तियों, मोटर बोट और चप्पू आदि की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन के पास इस समय 11 किश्तियां, पांच मोटर बोट तथा 40 चप्पू उपलब्ध हैं जिनकी पूरी तरह से मरम्मत करवाकर तैयार रखा गया है। कई गांवों में घग्घर के आरपार जाने के लिए किश्तियां उपलब्ध करवाई गई हैं जिनमें पनिहारी, फरवाई, बुढ़ाभाणा सहित कई गांवों शामिल हैं।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि बाढ़ बचाव के लिए जिला में प्रशासन द्वारा सभी तरह के इंतजाम पुख्ता किए गए हैं और सभी संबंधित विभागों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। जिला में विभिन्न जगहों पर पांच बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं जिनमें दूरभाष की सुविधा भी उपलब्ध है। सभी बाढ़ नियंत्रण कक्षों में इंचार्ज की नियुक्ति कर दी गई है। जिला बाढ़ नियंत्रण कक्ष में डीआरओ सिरसा को इंचार्ज बनाया गया  है जिनका नंबर 01666-248882 हैं। इसी प्रकार से तहसील कार्यालय सिरसा घग्घर डिवीजन के कार्यकारी अभियंता कार्यालय, तहसील कार्यालय डबवाली, तहसील कार्यालय ऐलनाबाद तथा रानियां के तहसील कार्यालय में बाढ़ नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं।
    उन्होंने बताया कि जिला में उनकी अध्यक्षता में बाढ़ नियंत्रण समिति भी गठित की गई है जिनमें पुलिस अधीक्षक, स्वास्थ्य विभाग, सिंचाई, पशुपालन, लोक निर्माण विभाग, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों को शामिल किया गया। इसके अलावा बाढ़ से संबंधित सभी प्रकार की अग्रिम सूचना लोगों तक पहुंचाने के लिए जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी को इंचार्ज बनाया गया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में बाढ़ से प्रभावित अढ़ाई दर्जन से भी अधिक गांवों की पहचान की गई है। इन गांवों में से 15 गांवों का विशेष प्रबंध के लिए चयन किया गया।  इन सभी गांवों को सैक्टरों में बांटा गया। एक सैक्टर में झोपड़ा, नेजाडेला कलां, फरवाई कलां, बुर्जकर्मगढ़, पनिहारी, मुसाहिबवाला गांव को शामिल किया गया है। इस सैक्टर में तहसीलदार सिरसा और सिंचाई विभाग के रोड़ी डिवीजन के कार्यकारी अभियंता को सैक्टर अधिकारी लगाया गया है। इसी प्रकार से सहारणी, नेजाडेला खुर्द, मल्लेवाला, बुढ़ाभाणा, किराडकोट, नागोकी, रंगा, लहंगेवाला और मत्तड़ गांव को दूसरे सैक्टर में शामिल किया गया है जिसमें सिरसा के उपमंडलाधिकारी नागरिक और सिंचाई विभाग के नहराना डिवीजन के कार्यकारी अभियंता को सैक्टर अधिकारी लगाया गया है। इसके साथ-साथ जिला की सीमा में बहने वाली घग्घर नदी पर निगरानी के लिए नदी को भी सैक्टरों में बांटा गया है। घग्घर मुसाहिबवाला से लेकर ओटू तक, ओटू वीयर से जीवननगर ब्रिज तक  तथा जीवननगर ब्रिज से राजस्थान कनाल साइफन तक तीन सैक्टर बनाए गए हैं जिनमें दो-दो अधिकारियों को सैक्टर अधिकारी लगाया गया है।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि हालांकि अभी घग्घर नदी में पानी बहने की मात्रा बिल्कुल कम है। इस समय ओटू वीयर में 1000 क्यूसिक, चांदपुरा में 800 क्यूसिक तथा खनौरी पर भी बहुत कम पानी की सूचना है। इसलिए अभी सिंचाई विभाग द्वारा और अधिक पुख्ता इंतजाम करने का कार्य जारी है। विभाग द्वारा पहले से ही सभी तटबंधों को मजबूत किया जा चुका है तथा ओटू वीयर से आगे घग्घर नदी की धार (क्रीक) को गहरा किया गया है। इसके अलावा जिला में अन्य ड्रेनों की भी सफाई करवाई गई है।

युवाओं को गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध करवाने और शिक्षा का विस्तार करने के लिए 115.30 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई
सिरसा,
7 जुलाई।    जिला में युवाओं को गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध करवाने और शिक्षा का विस्तार करने के लिए वर्तमान सरकार के साढ़े छह वर्ष के कार्यकाल में 115.30 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई है, जिससे सिरसा जिला ने शिक्षा हब के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई है। यह जानकारी गृह उद्योग एवं शहरी स्थानीय निकाय राज्य मंत्री श्री गोपाल कांडा ने आज यहां प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी।
    उन्होंने आज यहां जारी विज्ञप्ति में बताया कि स्थानीय चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय को विकसित करने के लिए सरकार की जो भूमिका रही है वह किसी से छिपी नहीं हुई है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय में भवन निर्माण व अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर 56 करोड़ 42 लाख रुपए की राशि खर्च की गई है जिससे आज इस विश्वविद्यालय की पहचान राष्ट्रीय स्तर पर हुई है। इस विश्वविद्यालय की पहचान अभी तक आवासीय विश्वविद्यालय के रूप में थी लेकिन सरकार ने इस विश्वविद्यालय के विकास में एक और डग भरा है। अब हरियाणा के दो जिलों सिरसा और फतेहाबाद जिलों के 40 से भी अधिक सरकारी और गैर सरकारी महाविद्यालयों को चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध कर दिया है। सरकार का यह निर्णय अत्यंत सराहनीय है। इस निर्णय से जहां विश्वविद्यालय के विकास को चार चांद लगेंगे वहीं दो जिलों के हजारों छात्रों को लाभ मिलेगा और छात्रों के लिए बेहतर शिक्षा ग्रहण करने के लिए रास्ते खुलेंगे।
    श्री कांडा दोनों जिलों के महाविद्यालयों को इस विश्वविद्यालय से जोडऩे के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का आभार व्यक्त किया गया है। इससे पूर्व इन जिलों के महाविद्यालय कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरूक्षेत्र से सम्बद्घ थे और कुरूक्षेत्र की दूरी अधिक होने के कारण यहां के विद्यार्थी एवं आम जनता महाविद्यालयों को चौधरी देवी लाल विश्वविद्यालय, सिरसा से जोडऩे की बार-बार मांग कर रहे थे और मुख्यमंत्री के सिरसा दौरे के दौरान भी लोगों ने इन जिलों के महाविद्यालयों को इस विश्वविद्यालय से जोडऩे का आग्रह किया था और इसी के फलस्वरूप यह निर्णय लिया गया। उन्होंने कहा कि कहा कि मुख्यमंत्री का सिरसा जिले के साथ विशेष लगाव है और वे इस जिले के लोगों की मांगों को यथाशीघ्र पूरा करने का प्रयास करते हैं।
    उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय स्तरीय शिक्षा के साथ-साथ जिला में वर्तमान सरकार के कार्यकाल में ऐलनाबाद और डबवाली में दो राजकीय महाविद्यालयों की स्थापना की गई है जिन पर करोड़ों रुपए की राशि खर्च हुई है। डबवाली में राजकीय महाविद्यालय के भवन निर्माण के लिए सभी प्रशासकीय औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। इसके साथ-साथ जिला में शिक्षा विभाग की विभिन्न योजनाओं के तहत स्कूलों में सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए 58 करोड़ 98 लाख रुपए की राशि खर्च की गई है। सर्वशिक्षा अभियान के अंतर्गत लड़कियों को मुफ्त साईकिल प्रदान करने, बच्चों को मुफ्त किताबें वितरित करने और नए स्कूलों के निर्माण पर साढ़े 44 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा चुकी है। जिले के वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों और उच्च विद्यालयों में कमरों के निर्माण, मरम्मत तथा कंप्यूटर लैब आदि स्थापित करवाने पर आठ करोड़ 70 लाख रुपए की राशि खर्च की गई है। उन्होंने बताया कि जिला में 11 आदर्श विद्यालय भी घोषित किए गए हैं जिनमें सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर तीन करोड़ 70 लाख रुपए की राशि खर्च की है। इसी तरह से स्कूली विद्यार्थियों को गुणवत्ता की शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए कंप्यूटर शिक्षा को बढ़ावा दिया गया जिस पर लगभग 2 करोड़ रुपए की राशि खर्च हुई है। इस प्रकार से शिक्षा के मामले में सिरसा जिला ने नए आयाम स्थापित किए हैं। राज्य सरकार द्वारा उपरोक्त सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाने के दूरगामी सार्थक परिणाम आएंगे और भविष्य में यहां के शिक्षण संस्थाओं से निकलने वाले विद्यार्थी अंतर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर पर जिला की पहचान बनाएंगे।

आंगनवाड़ी केंद्रों व भवनों के निर्माण व उसमें सुविधाए उपलब्ध करवाने के लिए 12 करोड़ 59 लाख 39 हजार रुपए की राशि खर्च की गई
सिरसा,
7 जुलाई। जिला में नौनिहाल के बेहतर स्वास्थ्य एवं स्कूल शिक्षा के लिए तैयार करने हेतु आंगनवाड़ी केंद्रों व भवनों के निर्माण व उसमें सुविधाए उपलब्ध करवाने के लिए पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत 12 करोड़ 59 लाख 39 हजार रुपए की राशि खर्च की गई है।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि जिला में पिछड़ा अनुदान निधि योजना के तहत 2 करोड़ 89 लाख 80 हजार की लागत से 63 आंगनवाड़ी केन्द्रों कर स्थापना की जा रही है। ये केंद्र जिला के बड़ागुढा में 10 केंद्रों की स्थापना व डबवाली  में 13 व रानियां व ऐलनाबाद में 16-16, माधोसिंघाना में 8 केन्द्रों का निर्माण करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 2007-09 में 145 आंगनवाडी़ केन्द्रों का निर्माण करवाया जा चुुका है, जिन पर 4 करोड़ 99 लाख 14 हजार रुपए की राशि खर्च की गई है। इन सभी आंगनवाड़ी केंद्रो ने सुचारू रूप से कार्य करना शुरू कर दिया है।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि पिछड़ा अनुदान निधि योजना के तहत 1344 आंगनवाड़ी केंद्रों में ट्वॉय किट दी गई जिसमें 4 करोड़ 51 लाख रुपए की राशि खर्च की गई।  इसके साथ-साथ 1223 आंगनवाड़ी केंद्रों में 5495 रुपए की लागत से गैस कनैैक्शन दिए गए है, जिस पर 6 लाख 72 हजार 385 रुपए की राशि खर्च की गई। उन्होंने बताया कि 1344 आंगनवाड़ी केंद्रो में सीलिंग फन लगाए गए जिस पर 12 लाख 72 हजार 768 रुपए की राशि खर्च की गई।
    उन्होंने बताया कि जिला में बच्चों को स्वच्छ एवं साफ-सुथरा वातावरण प्रदान करने एवं उनके लिए गांवंों में एक परिसम्पत्ति सृजित करने हेतु आंगनवाड़ी भवनों  के निर्माण की योजना चलाई गई है। उन्होंने बताया कि  जिला में एक आंगनवाड़ी केंद्र स्थापित करने के लिए पिछड़ा अनुदान क्षेत्र योजना के तहत 4 लाख 60 हजार रुपए की राशि केंद्रों की  पंचायतों को प्रदान की जाती है। पंचायतों द्वारा कम से कम 200 वर्ग गज भूमि नि:शुल्क आंगनवाडी़ केंद्रों की स्थापना के लिए उपलब्ध करवाती है।

814 सीटों पर 2963 इच्छुक विद्यार्थियों के दाखिला-पत्र प्राप्त हुए
हिसार 
7 जुलाई 2011-गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के कुलपति डॉ एमएल रंगा ने बताया कि 9 एमटैक, 4 एम  फार्मेसी, 11 एमएससी व 4 पीजी डिप्लोमा पाठïयक्रमों में 814 सीटों पर 2963 इच्छुक विद्यार्थियों के दाखिला-पत्र प्राप्त हुए है।  उन्होने बताया कि मैरिट लिस्ट का निर्धारण विद्यार्थियों को दाखिला प्रवेश परीक्षा व शैक्षणिक योग्यता में प्राप्त अंको को बराबर-बराबर आधार पर सम्मिलित करके किया जाएगा। 
विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो आरएस जागलान ने बताया कि 9 जुलाई को ग्रुप-1 के पाठ्यक्रम एमएससी एप्लाईड साइक्लोजी, एमएसी मॉस कम्यूनिकेशन, एमएससी डवलपमेंट कम्यूनिकेशन, पीजी डिप्लोमा इन डिफेन्स जर्नलिजम, एमएससी एडवरटाइ्रजिंग मैनेजमेंट एण्ड पब्लिक रिलेशन्स, पीजी डिप्लोमा इन वैब एडवरटाईजिंग एण्ड एनिमेशन तथा पीजी डिप्लोमा इन टूरिज्म पीआर का व 10 जुलाई को ग्रुप-2 के पाठ्यक्रम एमएससी इण्डस्ट्रीयल माईक्रोबायोलोजी, एमएससी मैथेमेटिक्स, एमएससी फिजिक्स, एमएससी केमिस्ट्री, एमएससी एन्वायरमेंटल साईंसिस, एमएससी फूड टैक्नोलाजी, एमएससी बायो टैक्नोलाजी व पीजी डिप्लोमा इन पिगमेंट एण्ड पेन्ट टैक्नोलाजी की प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। प्रो जागलान ने बताया कि ग्रुप-1 में 238 व ग्रुप-2 में 1412 दाखिला पत्र प्राप्त हुए है।
प्रो जागलान ने बताया कि प्रवेश परीक्षाओं के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। ग्रुप-1 में सम्मिलित 7 पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षाएं 9 जुलाई व ग्रुप-2 में सम्मिलित 8 पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षाएं 10 जुलाई को सुबह 11:30 से 1:00 बजे तक आयोजित की जाएंगी।

बात के धनी श्री हुड्डा एक बार फिर अपने वायदों पर खरे उतरे है
सिरसा
। ब्लाक कांग्रेस कमेटी सिरसा शहरी के प्रधान भूपेश मेहता ने सिरसा व फतेहाबाद के सारे कालेजों को चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय से जोड़े जाने के निर्णय पर मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा व सांसद डा. अशोक तंवर के प्रति आभार जताते हुए कहा कि बात के धनी श्री हुड्डा एक बार फिर अपने वायदों पर खरे उतरे है तथा जिलावासियों की चिरलंबित मांग को पूरा किया है।
श्री मेहता आज अपने कार्यालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ औमप्रकाश एंथोनी, विनोद उपाध्याय, रामदास बजाज, जग्गी बाजेकां, औमप्रकाश फूलकां, वेद प्रकाश कसुंभी, हंसराज सलारपुर, सतपाल गोदारा शेरपुरा, प्रेम सैनी, रमेश गोयल, अभिमन्यू मलिक, भूप सिंह भडोरिया, बंसी कायत, चंद्रभान कुलडिया फूलकां, दर्शन सिंह चमकीला, सुरिंद्र कौर,दर्शनारानी सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भूपेश मेहता ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री हुड्डा ने सांसद डा. अशोक तंवर के नेतृत्व में सिरसा में आयोजित हुई बढ़ते कदम रैली में सिरसा वासियों से वायदा किया था कि वे चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय का संपूर्ण विकास करवाएंगे साथ ही लड़कियों के लिए अलग कालेज की स्थापना की जाएगी। अपने वायदे पर खरा उतरते हुए मुख्यमंत्री ने चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय को सिरसा व फतेहाबाद जिलों के 42 से अधिक कालेजों को जोड़कर न केवल इस क्षेत्र के हजारों विद्यार्थियों को राहत प्रदान की है, बल्कि विश्वविद्यालय के विकास के द्वार भी खोले हैं। श्री मेहता ने कहा कि सिरसा में महिला कालेज की स्थापना के लिए भी चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के समक्ष मिनी बाईपास पर पड़ी साढ़े 18 एकड़ भूमि को शीघ्र ही मंजूरी मिलने जा रही है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के इन निर्णयों से शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश का नाम रोशन होगा साथ ही चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय व सिरसा जिला शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी बनेंगे। इस अवसर पर श्री मेहता ने शिक्षा विभाग में तबादला नीति में महिलाओं को विशेष छुट दिए जाने की भी सराहना की।

9 किलो 800 ग्राम डोडा चूरापोस्त सहित एक व्यक्ति को काबू किया
सिरसा।
थाना शहर सिरसा की बस स्टैंड पुलिस चौकी ने गश्त व चैकिंग के दौरान विश्वकर्मा चौक के निकट से 9 किलो 800 ग्राम डोडा चूरापोस्त सहित एक व्यक्ति को काबू किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान कैलाशचंद पुत्र भगवानाराम निवासी खिरोड जिला झूंझनु राजस्थान के रूप में हुई है। आरोपी के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत थाना शहर सिरसा में अभियोग दर्ज किया गया है। आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश किया जाएगा। जानकारी के अनुसार बस स्टैंड चौकी प्रभारी सहायक उपनिरीक्षक जसबीर ङ्क्षसह अन्य पुलिस कर्मियों के साथ विश्वकर्मा चौक के पास तैनात थे, इसी दौरान बस स्टैंड की ओर से निकल कर एक व्यक्ति आया व पुलिस पार्टी को देखकर खिसकने का प्रयास किया। शक के आधार पर पुलिस ने रोककर उसकी तलाशी ली तो उसके कब्जे से 9 किलो 800 ग्राम चूरापोस्त बरामद किया।
एक अन्य घटना में शहर थाना पुलिस ने संजयखान पुत्र गुलमोहम्मद खान निवासी चतरगढपट्टी सिरसा को 8 बोतल शराब सहित डबवाली रोड क्षेत्र से काबू किया। वहीं सदर सिरसा पुलिस ने सट्टाखाईवाली करने के आरोप में पम्मा पुत्र बंजार सिंह निवासी मल्लेकां को 510 रूपए की सट्टाराशि सहित काबू किया।
थाना शहर सिरसा पुलिस की हुडा पुलिस चौकी ने गश्त व चैकिंग के दौरान एक व्यक्ति को 32 बोर के नाजायज पिस्तौल के साथ काबू किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान सुरेश कुमार पुत्र रमेशचंद निवासी वेदवाला के रूप में हुई है। आरोपी के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत थाना शहर सिरसा में अभियोग दर्ज किया गया है। शहर थाना की हुडा पुलिस चौकी के मुख्य सिपाही कुलदीप सिंह पर आधारित पुलिस टीम ने हुडा के सैक्टर 20 क्षेत्र में गश्त के दौरान एक व्यक्ति ने छिपने का प्रयास किया, जिसे पुलिस ने शक के आधार पर काबू कर उसकी तलाशी ली, तो उसके कब्जे से 32 बोर का एक नजायज पिस्तौल बरामद हुआ। आरोपी को आज न्यायलय में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा।
शहर थाना सिरसा पुलिस ने बीती 25 मई को मुल्तानी कालोनी क्षेत्र में हुई चोरी की घटना के मामले में दूसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान अरूण पुत्र जनकराज निवासी मुल्तानी कालोनी सिरसा के रूप में हुई है। मामले के जांच अधिकारी उपनिरीक्षक कृष्ण कुमार ने जानकारी देते हुए बतलाया कि इस संबंध में सुनीता पत्नी सुरेंद्र निवासी मुल्तानी कालोनी की शिकायत पर चोरी का अभियोग दर्ज किया था। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी दीपक पुत्र लालचंद निवासी पुरानी हाउसिंग बोर्ड कालोनी को पहले की काबू कर लिया था। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी अरूण से पूछताछ की जा रही है।
जिला की रानियां पुलिस ने ट्राला चोरी के मामले में घटनास्थल से 6 वर्ष से फरार चल रहे उदघोषित अपराधी को पंजाब की अमृतसर जेल से प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर ऐलनाबाद अदालत में पेश किया, जहां से उसे एक दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया। आरोपी को आज पुन: ऐलनाबाद अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में सिरसा जेल भेज दिया गया है। रानियां थाना के प्रभारी निरीक्षक हीरा ङ्क्षसह ने जानकारी देते हुए बतलाया कि आरोपी अमरजीत ङ्क्षसह पुत्र हरबंस सिंह निवासी कत्थू नंगल के खिलाफ थाना रानियां में 2005 में ट्राला चोरी का अभियोग दर्ज हुआ था। उन्होंने बताया कि घटना के चार आरोपियों  को गिरफ्तार कर रानियां पुलिस ने चोरीशुदा ट्राला पहले की बरामद कर लिया था, लेकिन आरोपी अमरजीत सिंह फरार चल रहा था। थाना प्रभारी ने बताया कि रानियां पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी अमरजीत ङ्क्षसह अमृतसर की जिला जेल में चोरी के दो मामलों के संबंध में जेल में हैं, उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर रानियां पुलिस ने ऐलनाबाद अदालत से प्रोडेक्शन वारंट जारी करवाकर आरोपी को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ अदालती आदेशों की अवहेलना करने के आरोप में भादंसं की धारा 174ए के तहत भी अभियोग दर्ज किया गया है।
सिरसा। पुलिस अधीक्षक सतेंद्र कुमार गुप्ता ने कहा कि सेवानिवृत हुए पुलिस कर्मियों ने अपना संपूर्ण जीवन पुलिस विभाग व आमजन की सेवा में समर्पित कर दिया है, जिसके लिए वे प्रशंसा के पात्र है। उन्होंने कहा कि वे सेवानिवृत होने वाले पुलिस कर्मियों की उज्जवल भविष्य की कामना करते है। श्री गुप्ता आज पुलिस लाईन में स्थित सामुदायिक केंद्र में सेवानिवृत पुलिस कर्मियों के सम्मान में आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने सेवानिवृत होने वाले 9 पुलिस कर्मियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर श्री गुप्ता ने उपस्थित पुलिस कर्मियों से आह्वान किया कि वे सेवानिवृत होने वाले पुलिस कर्मियों से प्र्रेरणा लें। आज सेवानिवृत होने वाले पुलिस कर्मियों निरीक्षक सतपाल, उपनिरीक्षक जगदीश राय, आसाराम, जगदीशचंद्र, जयसिंह, सहायक उपनिरीक्षक सुबे सिंह, महीपाल, मुख्य सिपाही हरदीप सिंह तथा बहादूर सिंह के नाम शामिल है। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण मेहता, डीएसपी डबवाली बाबूलाल यादव, डीएसपी ऐलनाबाद रविंद्र कुमार, डीएसपी मुख्यालय पूर्णचंद पंवार सहित जिला के अनेक पुलिस अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

230 मरीजों की आंखों की जांच की
ओढ़ां
-गांव राजपुरा में पंचायतघर के निकट ग्राम पंचायत द्वारा आयोजित आंखों के नि:शुल्क शिविर में सिरसा के सूर्या अस्पताल के डॉ. जितेंद्र एवं डॉ. अमरजीत ने अपनी टीम के साथ 230 मरीजों की आंखों की जांच की। जांचे गए 230 मरीजों में से 15 मरीज मोतियाबिंद के पाए गए जिनका आप्रेशन किया जाएगा। कैंप में आए  सभी मरीजों को नि:शुल्क दवाएं भी दी गई। इस अवसर पर डॉ. जितेंद्र ने बताया कि आंखें हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग हैं अत: इनकी देखभाल पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि आंखों की देखभाल हेतु नियमित अंतराल पर आंखों की जांच करवाते रहना चाहिए तथा डॉ. के निर्देशानुसार उपचार करवाते रहना चाहिए। सरपंच सहजिंद्र सिंह ने बताया कि जिन मरीजों के आप्रेशन किए जाने हैं उनके आप्रेशन ग्राम पंचायत की ओर से नि:शुल्क करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत की ओर से स्वास्थ्य की जांच हेतु इस प्रकार के शिविरों का आयोजन आगे भी जारी रहेगा ताकि गांववासी स्वस्थ रहें। इस अवसर पर सुखजिंद्र सिंह, शीशपाल, सुरेंद्र कुमार, अमरजीत, करतार सिंह और जसवंत सिंह सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

Advertisements

>local sirsa news सिरसा समाचार

6 जुलाई

>

जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने व उन्हें साईंस के प्रति प्रेरित करने के लिए सरकार द्वारा  (इनस्पायर) नामक योजना चलाई गई है
सिरसा
, 6 जुलाई।         जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने व उन्हें साईंस के प्रति प्रेरित करने के लिए सरकार द्वारा innvocation Science pursuit for inspired research (इनस्पायर) नामक योजना चलाई गई है।  इस योजना के तहत विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन 20 से 22 जुलाई तक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में किया जाएगा।  इस संबंध में 8 जुलाई को विज्ञान अथवा अन्य सहायक अध्यापकों, प्राध्यापकों की बैठक का आयोजन किया जाएगा जिसमें प्रदर्शनी के आयोजनार्थ एवं मॉडल बनाने हेतु विस्तृत रूप से योजना तैयार की जाएगी।
    यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि उक्त योजना के तहत मॉडल तैयार करने हेतु प्रत्येक बच्चे को 5 हजार रुपए की राशि दी गई है। जिला के सातों खंडों से साईंस मॉडल तैयार करने के लिए कुल 289 छात्रों का चयन किया गया है।  ये छात्र जिले के विभिन्न विद्यालयों से संबंध रखते हैं। आयोजित प्रदर्शनी में वे अपने मॉडल सहित भाग लेंगे। इन बच्चों को मॉडल बनाने एवं परिवहन हेतु पांच हजार रुपए की राशि पहले से ही प्रदान कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार से सिरसा जिला में इस योजना के तहत 14 लाख 45 हजार रुपए की राशि खर्च की जा रही है। यह योजना केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के माध्यम से प्रदेश में पहली बार एस.सी.ई.आर.टी. के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है। उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत बच्चों द्वारा साईंस मॉडल तैयार करने के लिए जल संरक्षण, सौर ऊर्जा, ऊर्जा बचाओ जैसे विषय दिए गए हैं जिन पर छात्र साईंस अध्यापकों के निर्देशन में मॉडल तैयार करेंगे। मॉडल तैयार करवाने के लिए जिला के चुने हुए साईंस अध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिरसा जिला में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 8 जुलाई को आयोजित होगा जिसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में सभी अध्यापक भाग लेंगे और छात्रों को मार्गदर्शन देने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा।
    उन्होंने बताया कि इनस्पायर नामक इस योजना के तहत खंडवार बच्चों की पहचान की गई है। इस योजना के तहत कुल 289 बच्चे भाग लेंगे। बड़ागुढ़ा खंड के 50, डबवाली के 9, नाथूसरी चौपटा के 65, सिरसा खंड के 44, रानियां के 42, ऐलनाबाद खंड से 27 व ओढंा खंड से 52 बच्चों का चुनाव किया गया जिन्हें उपरोक्त राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि साईंस मॉडल प्रतियोगिता के लिए दो श्रेणियां बनाई गई है। छठी से आठवीं तक के बच्चे पहली श्रेणी में रखे गए हैं और दूसरी से आठवीं तक के बच्चों को दूसरी श्रेणी में रखा गया है। पहले दोनों श्रेणियों में अलग-अलग जिला स्तरीय प्रतियोगिता होगी जो 20, 21 और 22 जुलाई को स्थानीय खैरपुर स्कूल में आयोजित की जाएगी। इसके बाद जो छात्र इस प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करेंगे उन्हें राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भेजा जाएगा।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि स्कूली छात्र-छात्राओं को विज्ञान विषय के प्रति प्रेरित करने के उद्देश्य से ही जिला के सभी खंडों के राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूलों में पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत 33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं। अभी तक जिला के तीन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में म्यूजियम से संबंधित उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं।
    उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि प्रत्येक मॉडल स्कूल में लगभग पौने पांच लाख रुपए के साईंस उपकरण स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इनमें सैंकड़ों प्रकार के साईंस उपकरणों शामिल है। इन उपकरणों के माध्यम से मॉडल स्कूलों के छात्रों को साईंस की जानकारी देकर इस विषय की ओर प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन मुख्य उपकरणों में बीफोर एंड आफ्टर डैम, ब्लास्ट फरनेंस बॉडी लैस हैड, डीएनए, विंड मील, मिशन मार्स, आरकेमीडिज स्क्रयू, एसट्रोनोट आदि उपकरण शामिल हैं।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सिरसा में 4 लाख 85 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ऐलनाबाद में 4 लाख 74 हजार, डबवाली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 72 हजारकी राशि से साईंस म्युजियम स्थापित किए गए है। इसके साथ साथ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गुडिय़ाखेड़ा में 4 लाख 77 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालांवाली में 4 लाख 97 हजार, रानियां के कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 90 हजार,  और रोड़ी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 77 हजार रुपए के साईंस उपकरण स्थापित  किए जाने है। 

ग्रुप कैप्टन अनिल सभ्रवाल से वायु यौद्धाओं द्वारा प्रस्तुत एक भव्य परेड समारोह में वायु सेना स्टेशन सिरसा की कमान संभाली
सिरसा
, 6 जुलाई।      एयर कमांडर एसपी सिंह ने गत दिवस ग्रुप कैप्टन अनिल सभ्रवाल से वायु यौद्धाओं द्वारा प्रस्तुत एक भव्य परेड समारोह में वायु सेना स्टेशन सिरसा की कमान संभाली। विंग कमांडर अजय लुदरा द्वारा निर्मित परेड के चार स्कवाड्रनों में दो-दो फ्लाइटें थीं। परेड 2 मिग-21 एयरक्राफ्ट के फ्लाई पास्ट के साथ संपन्न हुआ। इस समारोह में सिविलियन गणमान्य अतिथियों के साथ वायु यौद्धा एवं उनके परिवार के सदस्य भी उपस्थित थे।
    स्टेशन के कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए विदा लेने वाले स्टेशन कमांडर ने वायु यौद्धाओं के स्मार्ट टर्न  आउट तथा उनके द्वारा प्रस्तुत परेड की प्रशंसा की। उन्होंने इस स्टेशन के कर्मचारियों की दक्षता, उनके व्यावसायिक योगदान की सराहना की तथा उन्हें इसी तरह लग्न से काम करते रहने के लिए अनुरोध भी किया।
    नए वायु अफसर कमाडिंग एयर ऑफिसर कोमोडोर एसपी सिंह एक फाइटर पायलट हैं तथा इस स्टेशन की कमान संभालने से पहले वायु सेना के विभिन्न महत्वपूर्ण पदों को सुशोभित कर चुके हैं। इन्हें 3000 घंटे कुशल उड़ान का अनुभव प्राप्त है। बाद में इन्होंने वायु सेना के अधिकारियों एवं सिरसा शहर के गणमान्य अतिथियों से मुलाकात की।

जिला में बाढ़ से संभावित क्षेत्रों व गांवों में बेहतर पशु स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने एवं पशुओं को सुरक्षित रखने हेतु 29 विशेष टीमें गठित की गई
सिरसा
, 6 जुलाई।        सघन पशुधन विकास परियोजना द्वारा जिला में बाढ़ से संभावित क्षेत्रों व गांवों में बेहतर पशु स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने एवं पशुओं को सुरक्षित रखने हेतु 29 विशेष टीमें गठित की गई हैं और फ्लैड कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है जिसके नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नंबर 01666-245007 है।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि गठित टीमों के इंचार्ज संबंधित उपमंडलाधिकारी पशुपालन होंगे। विशेष टीमों के कार्यों की समय-समय पर समीक्षा करने हेतु चैकिंग करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि सिमन बैंक अधिकारी (एसबीआई)बाढ़ नियंत्रण अधिकारी होंगे। सभी टीमों के लिए आवश्यक वैक्सीन व दवाइयोंं से संबंधित पशु चिकित्सक केंद्रीय भंडार राजकीय पशु चिकित्सालय सिरसा से प्राप्त करके वे टीमों को उपलब्ध करवाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी टीम इंचार्ज क्षेत्र में पशु स्वास्थ्य हेतु संक्रमक रोगों, गलघोटू, शीपॉक्स, रानीखेत, ईटीवी आदि के टीके लगाकर वैक्सीनेशन डिवरमिंग आदि करके अपने इलाके के पशु-पक्षियों को इन रोगों से सुरक्षित रखेंगे।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि विभाग द्वारा बाढ़ से संभावित क्षेत्रों में सभी आवश्यक पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ से प्रभावित पशुओं को तुरंत आवश्यक चिकित्सा सुविधा मिलनी चाहिए इस बारे भी कड़े प्रबंध किए गए हैं। इसके अतिरिक्त पशु चिकित्सालय, पशु औषधालय में दवाइयां तथा वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में स्टॉक होने चाहिए इस बारे में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं।
    उन्होंने बताया कि पशुओं को कृमि रोग से सुरक्षित रखने हेतु पशुओं को कृमिनाशक इलाज देना भी जरूरी है। विभाग द्वारा बनाई गई टीमें प्रत्येक गांवों में घूम-घूमकर कृमि रोगों का इलाज करने बारे कार्रवाई आरंभ कर दी। गठित विशेष टीमें दवाइयां पिलाने का कार्य अपने सामने ही करेंगी।
    उपायुक्त ने बताया कि गठित टीमों को कार्य क्षेत्र आवंटित किए गए हैं। बाढ़ संभावित क्षेत्र जैसे बरूवाला, भरोखां, मुसाहिबवाला, पनिहारी, बुर्ज कर्मगढ़, फरवाई कलां व खुर्द, नेजाडेला कलां, झोपड़ा, खैरपुर, बरनाला रोड, वैदवाला, चतरगढ़ पट्टी, हांडीखेड़ा, भावदीन, संगर सरिस्ता, पतली डाबर, मौजूखेड़ा, बग्गूवाली, नरेलखेड़ा, डिंगमोड़, सुचान कोटली, सिकंदरपुर, बाजेकां, फुलकां, मोरीवाला, दड़बी, रसूलपुर थेड़ी, अलीकां, मल्लेवाला, नागोकी, किराड़कोट, बुढ़ाभाणा, ढाबा, बप्पां, झिड़ी, नेजाडेला खुर्द, मत्तड़, लहंगेवाला, रंगा, रोड़ी, सूरतिया, फग्गू, रोहण, देसुखुर्द, भीमा, मलड़ी, थिराज, झोरडऱोही, पंजुआना, ओटू, धनूर, फिरोजाबाद, नानकपुर, चक्कबणी, चकजीवा, अबूतगढ़, चक्कसाहिबा, धोतड़, सुलतानपुरिया, नानुआना, झोरडऩाली, रानियां कस्बा, ढाणी सतनाम सिंह, नगराना, अभोली व साथ लगती ढाणियां, भड़ोलांवाली, रामपुरथेड़ व सभी ढाणियां, अमृतसर कलां, बुड़ीमेड़ी, अमृतसर खुर्द, प्रतापनगर, मिर्जापुर, ठोबरिया, हिम्मतपुरा, नकौड़ा, नगराना, माधोसिंघाना, मंगाला, टीटूखेड़ा, चौबुर्जा, मोडिय़ाखेड़ा, शहीदांवाली, ढाणी काहन सिंह, मल्लेकां, कुत्ताबढ़, मौजदीन, कोटली, केसुपुरा, रत्ताखेड़ा, गिंदड़ावाली, खैरेकां, अहमदपुर, मीरपुर, मीरपुर कॉलोनी, बनसुधार, चामल, खुहवाली ढाणी, सुखचैन ढाणी, केलनियां, ढाणी-400, शमशाबाद पट्टी, पंजुआना, बुर्जभंगू, साहुवाला-प्रथम, भंगू, कर्मगढ़, शेखुपुरियां, फतेहपुरिया, ऐलनाबाद कस्बा, तलवाड़ाखुर्द, धौलपालियां, ढाणी जाटान, नीमला, मिठनपुरा, कर्मशाना, बेरवालाखुर्द, मौजूखेड़ा, किरपाल पट्टी, ममेरां, शेखुखेड़ा, हुमायुखेड़ा, संतनगर, हरिपुरा, जीवननगर, करीवाला, संतोखपुरा, हारनी, धर्मपुरा, मंजिल थेड़, शहीदांवाली थेड़, सिरसा शहर,  खाजाखेड़ा, सलारपुर, बेगू, नटार, रंगड़ी, रामनगरियां, कंगनपुर तथा भम्बूर व श्री गौशाला सिरसा तथा साथ लगती ढाणियां आदि शामिल हैं। इन गांवों में तथा ढाणियों में विभाग के सभी पशु चिकित्सक व वीएलडीए सहित विभाग के कर्मचारी पशुओं को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाएंगे तथा किए गए कार्यों की रिपोर्ट से भी उच्चाधिकारियों को समय-समय पर अवगत करवाते रहेंगे।

फतेहाबाद व सिरसा के महाविद्यालय चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जुड़े : भारद्वाज
सिरसा,
6 जुलाई। हरियाणा सरकार ने सिरसा व फतेहाबाद जिलों के लोगों की चिरलंबित मांग को पूरा करते हुए शैक्षणिक सत्र 2011-12 से इन दोनों जिलों के सरकारी तथा गैर सरकारी महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय, सिरसा से जोड़ दिया है।
        इस आशय की जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति डा. के.सी. भारद्वाज ने पत्रकारों को बताया कि महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय से जोडऩे की बातचीत काफी समय से चल रही थी और इस संबंध में राज्य सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना की प्रति मंगलवार देर सायं विश्वविद्यालय को प्राप्त हुई है। डा. भारद्वाज ने कहा कि इस क्षेत्र के लोगों ने महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय से जोडऩे के लिए जो आग्रह किया था, हरियाणा के मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने उस पर अमल करते हुए सिरसा और फतेहाबाद जिलों के महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जोडऩे का फैसला किया। उन्होंने बताया कि इन महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जोडऩे से जहां एक और कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की प्रशासनिक दक्षता बढ़ेगी, वहीं दूसरी और इस क्षेत्र के विद्यार्थियों को सही समय पर परीक्षा परिणाम मिलेंगे व विद्यार्थियों को शैक्षणिक एवं प्रशासनिक कार्यों के लिए दूर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इन जिलों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से सम्बद्धित करने पर हरियाणा सरकार ने एक बार फिर प्रदेश में शिक्षा के सत्र को मजबूत बनाने के संकल्प को दोहराया है।
        कुलपति ने बताया कि उनका प्रयास रहेगा कि विश्वविद्यालय से जोड़े गए महाविद्यालयों में अधिक से अधिक गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया करवाने के साथ-साथ खेल एवं युवा कल्याण की सुविधाओं को और अधिक मजबूत किया जाए। गौरतलब है कि विश्वविद्यालय के डा. के.सी. भारद्वाज को हाल ही में भारतीय विश्वविद्यालय संघ के गवर्निंग बॉडी के सदस्य के रूप में चुना जाना निश्चित रूप से इन महाविद्यालयों के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय का प्रयास रहेगा कि इन सभी महाविद्यालयों में अनेक रोजगारोन्मुखी व उद्योगों की मांग को पूरा करने वाले पाठ्यक्रम इसी शैक्षणिक सत्र से प्रारंभ किए जाएं। महाविद्यालयों में प्लेसमैंट सैल भी विकसित की जाएगी, ताकि विद्यार्थियों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मुहैया करवाए जा सकें।
        डा. भारद्वाज ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इस बात में कोई दो राय नहीं है कि महाविद्यालयों के जुडऩे से विश्वविद्यालय में कार्यभार बढ़ेगा, लेकिन विश्वविद्यालय परिवार के सभी कर्मचारी बढ़े हुए कार्यभार को सहर्ष करने में सक्षम हैं। डा. भारद्वाज ने कहा कि गैर शिक्षक कर्मियों की भर्ती के लिए हाल ही में विज्ञापन जारी किया जा चुका है और शीघ्र ही विश्वविद्यालय द्वारा गैर शिक्षक कर्मियों की भर्ती कर ली जाएगी।  डा. भारद्वाज ने बताया कि चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय पुरुषों व महिलाओं की अंतर्विश्वविद्यालय कुश्ती प्रतियोगिता व फुटबाल प्रतियोगिता की मेजबानी भी करेगा।

भारत की हिंदू संस्कृति पर विदेशी वर्चस्व कायम हो रहा है। देश के बड़े-बड़े नेता भारतीय संस्कृति को धूमिल करने में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे हैं
सिरसा
, 6 जुलाई। भारत की हिंदू संस्कृति पर विदेशी वर्चस्व कायम हो रहा है। देश के बड़े-बड़े नेता भारतीय संस्कृति को धूमिल करने में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे हैं। इसी के चलते देश में लगातार भारतीय संस्कृति का ह्रास हो रहा है। यह बात बजरंग दल के प्रांतीय संयोजक सुरेश वत्स भारती ने स्थानीय सुभाष चौक में धर्मांतरण और गौहत्या पर प्रतिबंद लगाने और विदेशी ताकतों को बुलंद करने वाले नेताओं का पुतला फूंकने से पूर्व उपस्थित बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि देश में धर्मांतरण और गौहत्याओं जैसे जघन्य अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं और इन्हें सत्ता के गलियारों में बैठे लोग शह देने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी आक्रमणकारी और भ्रष्टाचारी नेताओं के कारण ही आज हिंदुत्व पर गहरा खतरा मंडरा रहा है। सुरेश वत्स भारती ने यूपीए की अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सोनिया गांधी इटली के इशारे पर देश में विदेशी ताकतों को सक्रिय करने में जुटी हैं, ताकि हिंदुओं से उनकी विरासत छीनी जा सके। उन्होंने कहा कि हिंदू संगठन ऐसे विदेशी आक्रमण और भ्रष्टाचारी नेताओं को सर नहीं उठाने देंगे। इसके लिए चाहे उन्हें कोई भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े। श्री भारती ने कहा कि दिग्विजय सिंह जैसे नेता अपनी संकुचित मानसिकता का परिचय दे रहे हैं और इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं, जो सीधे हिंदुओं पर कुठाराघात करती हैं। उन्होंने कहा कि नेताओं को बयानबाजी करने से पूर्व हिंदुओं की भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए। श्री भारती ने गत दिवस एक टी-शर्ट पर अंकित आपत्तिजनक शब्दों के मामले में कहा कि पुलिस की लचर कार्यप्रणाली के चलते अभी तक न तो दोषियों के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई की गई है और न ही टी-शर्ट निर्माता कम्पनी को कानून के घेरे में लिया गया है। उन्होंने कहा कि यदि टी-शर्ट मामले में कम्पनी के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई नहीं की गई तो हिंदू संगठन देश भर में आंदोलन करने को मजबूर होंगे। इस अवसर पर सहजिला संयोजक कपिल जोशी, सह नगर संयोजक ललित सोलंकी व पुनित गोदारा, गौरक्षा प्रमुख ललित छिम्पा, विद्यार्थी प्रमुख भूपेन्द्र कुमार, मिलन केन्द्र प्रमुख मानसिंह, डिंग रोड के खंड संयोजक राजकुमार, विजय सैनी, अनिल बत्तरा व सैकड़ों की संख्या में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विदेशी आक्रमणकारी, भ्रष्टाचारी नेताओं का पुतला फूंका और विदेशी तंत्र के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

पुलिस महानिरीक्षक हिसार मंडल हिसार श्री अनंत कुमार ढुल की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिलाभर के सभी अधिकारियों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया
सिरसा
। पुलिस महानिरीक्षक हिसार मंडल हिसार श्री अनंत कुमार ढुल की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिलाभर के सभी अधिकारियों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया। इस मीटिंग में पुलिस अधीक्षक सिरसा श्री सतेंद्र कुमार गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री प्रवीण मेहता, ऐलनाबाद के डीएसपी श्री रविंद्र कुमार,  डबवाली के डीएसपी श्री बाबू लाल यादव,सिरसा के उपपुलिस अधीक्षक श्री पूर्णचंद पंवार समेत जिला के सभी थाना प्रबंधकों ने भाग लिया।
मीटिंग  में उपस्थित पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए पुलिस महानिरीक्षक श्री ढुल ने कहा कि जिन थाना क्षेत्रों में भूमि विवाद या पुरानी रंजिश को लेकर कोई मामला पुलिस के संज्ञान में है, तो उसे तुरंत निपटाने में अहम भूमिका निभाए ताकि कोई बड़ी घटना या बडा मुद्दा न बन पाए। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि जिलाभर में आपराधिक तत्वों व अनैतिक धंधा करने वालों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में और अधिक तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि बेलजंपरों, पैरोलजंपरों व उदघोषित अपराधियों पर नकेल कसने के लिए सीमावर्ती राज्यों की पुलिस से बेहतर संबंध स्थापित कर उनकी मदद ली जाए। उन्होंने पुलिस को निर्देश दिए कि शिवरात्रि पर्व के दौरान कावडिय़ों के आगमन को लेकर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की जाए। पुलिस महानिदेशक ने जिला पुलिस द्वारा अपराधों की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियानों की समीक्षा की व मुक्तकंठ से सराहना की। श्री ढुल ने बताया कि जिला सिरसा में इस वर्ष अब तक हत्या के कुल 26 अभियोग दर्ज हुए है, जिनमें से जिला पुलिस ने 22 अभियोगों की सुलझाने में सफलता हासिल की है, जबकि शेष मामलों में जांच सकारात्मक दिशा में बढ रही है। उन्होंने बताया कि जिला पुलिस द्वारा इस अवधि के दौरान मादक पदार्थ अधिनियम के तहत 85 अभियोग अंकित करके 48 किलो 775 किलोग्राम अफीम व 450 किलोग्राम चूरापोस्त तथा 440 ग्राम स्मैक बरामद करने में सफलता हासिल की है। शस्त्र अधिनियम के तहत जिला पुलिस ने 33 अभियोग अंकित करके 24 पिस्तौल, 19 कारतूस, 6 चाकू व छुर्रे बरामद किए है। इस वर्ष की अब तक की अवधि के दौरान 5 आपराधिक गैंग पकड़े गए ,जिनमें 21 लोगों को गिरफ्तार कर 12 मामलों की गुत्थी सुलझाकर 10 लाख 18 हजार रूपए की चोरीशुदा संपति भी बरामद की है। 
इससे पूर्व पुलिस महानिरीक्षक श्री अनंत कुमार ढुल ने पुलिस लाईन सिरसा में जाकर मनानीय न्यायलय से फैंसलाशुदा अभियोगों में बरामद किए गए नशीले पदार्थों को गठित किए गए बोर्ड के सदस्यों श्री विवेक शर्मा, पुलिस अधीक्षक फतेहाबाद,श्री सतेंद्र कुमार गुप्ता पुलिस अधीक्षक सिरसा, डयूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार औमप्रकाश बिश्रोई व नगर परिषद सदस्यों की मौजूदगी में सिरसा में 222 अभियोगों में बरामद किए गए 6153 किलो व 370 ग्राम चूरापोस्त व 8 मामलों में बरामद 428 ग्राम 700 मिलीग्राम स्मैक को जलाकर नष्ट किया जबकि 20 मामलों में बरामद 47 किलो 570 ग्राम अफीम को नियमों के अनुसार गाजीपुर उतरप्रदेश की सरकारी प्रयोगशाला में भेजा जाएगा। इस मौके पर पार्षद रमेश मेहता, अंग्रेज बठला, बृजलाल सैनी, राजेंद्र कुमार व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह पेड़ लगाये
सिरसा।
पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह पेड़ लगाये। यह बात आज हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि व राज्य पर्यावरण सलाहकार समिति सदस्य (हरियाणा सरकार) होशियारी लाल शर्मा ने गांव मोरीवाला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चों व ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर उनके साथ मा. राजकुमार वर्मा, हरीश सोनी, पूर्ण चंद गिरधर, तिलक चंदेल, संत लाल गुंबर, यूसुफ खान, प्रवीण मिढा, रवींद्र मलिक भी मौजूद थे। पौधारोपण का कार्यक्रम पूर्व तकनीकी निदेशक गुरमंगत सिंह गाफल द्वारा आयोजित किया गया जिसमें वन विभाग के ब्लाक अधिकारी महावीर सैनी, कांग्रेस जिला सचिव सुखवींद्र सिंह, पूर्व सरपंच दिलबाग सिंह, हैड मास्टर सुरेश चंद, हैड टीचर प्राईमरी बिमला देवी, नरसी राम, हंसराज कंबोज, बलवान सिंह माली, प्रीतपाल कौर, वीना, गुनजीत, सुमन, हुसन, परमजीत, अनीता, संतोष व प्रोमिला सहित स्कूली स्टाफ मौजूद रहा। इस मौके पर श्री शर्मा ने स्कूल के प्रांगण में पौधारोपण करते हुए कहा कि पेड़ हमारे जीवन में अमूल्य हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है। आज भारत सहित अनेेक देश इस समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि प्रत्येक व्यक्ति प्रकृति को बचाये। सर्व शिक्षा अभियान पर बोलते हुए श्री शर्मा ने कहा कि हरियाणा में लागू इस अभियान का फायदा हर बच्चे को मिल रहा है। सरकार द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के साथ-साथ बच्चों के लिए खेलकूद की सुविधा व मीड-डे-मील कार्यक्रम सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा राज्य आने वालों वर्षों के दौरान शिक्षा के मामले में देश के अग्रणी राज्यों में शुमार होगा।

18 नवनिर्मित सी टाईप मकानों का उदघाटन किया
हिसार
  6 जुलाई 2011-    गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार में आज विश्वविद्यालय के कुलपति डा एम एल रंगा ने 18 नवनिर्मित सी टाईप मकानों का उदघाटन किया। यह मकान 190 लाख रूपये की लागत से तैयार किए गए है। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो आरएस जागलान, कार्यकारी अभियन्ता श्री अशोक अहलावत, विभिन्न विभागों के अधिष्ठïाता, विभागाध्यक्ष एवं अधिकारीगण भारी संख्या में उपस्थित थे ।  
        कुलसचिव प्रो आर एस जागलान ने कहा कि प्रति मकान का 900 स्केयर फिट कवर एरिया है।  उन्होने बताया कि प्रत्येक मकान में एक ड्राईंग रूम, लाबी,  रसोईघर, दो-दो बैडरूम व स्नानघर है। नवनिर्मित भवन तीन मंजीला है। प्रो जागलान ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन अपने कर्मचारियों क ी कल्याणकारी योजनाओं पर त्रीव गति से कार्य कर रहा है। उन्होने कहा कि विश्वविद्यालय अपने कर्मचारियों को हर सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कटिबद्घ है।

कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में हरियाणा सहित पूरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उन्नति हुई है
सिरसा
, 6 जुलाई। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि गोबिंद कांडा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में हरियाणा सहित पूरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उन्नति हुई है। श्री कांडा आज एम.डी.एल.आर. कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। गोबिंद कांडा ने कहा कि मुख्यमंत्री चौ. भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के प्रयासों से हरियाणा में अनेक विश्वविद्यालयों की स्थापना की गई है तथा सैकड़ों स्कूलों को अपग्रेड किया गया है। इसी के साथ सिरसा भी एजूकेशन सिटी बन कर उभरा है। सरकार द्वारा सिरसा और फतेहाबाद के महाविद्यालयों के प्रशासनिक कार्यों को चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के सबद्ध करने से सिरसा जिला के छात्रों को विशेष लाभ होगा। यहां के छात्रों को अपने शैक्षणिक कार्य करवाने के लिए 200 किलोमीटर दूर कुरुक्षेत्र नहीं जाना पड़ेगा। इससे उनके समय और धन की बचत होगी तथा इसी के साथ चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय को अधिक बजट  भी उपलब्ध हो सकेगा। श्री कांडा ने कहा कि सिरसा की छात्राओं को शिक्षा आसानी से सुलभ करवाने के लिए अनेक कदम उठाए जा रहे हैं, जिसके अंतर्गत कालुआना ग्राम पंचायत की तर्ज पर अनेक गांवों से छात्राओं को शहर के स्कूल-कॉलेजों में  लाने-ले जाने के लिए बसों का प्रबंध किया जाएगा तथा छात्राओ को कम्प्यूटर शिक्षा दिलाने के विशेष प्रबंध किये जा रहे हैं। इस अवसर पर कृष्ण सैनी, जिला कांग्रेस महासचिव रानी रंधावा, तरसेम गोयल, सूरत सैनी, मक्खन सिंह ख्योंवाली, हरजिन्द्र सिंह बब्बू, रवि गोदारा, चरनजीत कैरांवाली, भूपेश गोयल, बलजीत कौर, रिंकू, पृथ्वी भाटिया, अश्वनी शर्मा सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

अमेरिका स्थित कनेडी स्पेस सैंटर(नासा) का भ्रमण कर लौंटी शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान की आठ छात्राओं ने अपने अनुभव मीडिया कर्मियों से सांझे किए
सिरसा
।  अमेरिका स्थित कनेडी स्पेस सैंटर(नासा) का भ्रमण कर लौंटी शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान की आठ छात्राओं ने अपने अनुभव मीडिया कर्मियों से सांझे किए। 
नासा के 11 दिनों के भ्रमण के बाद वापिस लौंटी शाह सतनाम जी गल्र्ज शिक्षण संस्थान की छात्राओं का स्कूल प्रांगण में स्कूल प्राचार्या शीला इन्सां, स्टाफ सदस्यों व सहपाठियों के द्वारा फूल मालाएं पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। भ्रमण से लौटी छात्राओं निधि इन्सां (बारहवीं मेडिकल), रवनीत इन्सां , अमनप्रीत इन्सां , जश्नदीप इन्सां , गुरप्रीत इन्सां ,(दसवीं), मीशू इन्सां (ग्यारहवीं), राजवीर कौर इन्सां , रणदीप इन्सां (बारहवीं) व उनका नेतृत्व कर रही विद्यालय की लाईब्रेरियन मीना इन्सां ने बताया कि बीती 25 जून से 3 जुलाई तक शैक्षणिक भ्रमण के तहत  उन्होंने अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र नासा का भ्रमण किया तथा अंतरिक्ष यात्रियों के रहन सहन, खान पान व दिनचर्या को नजदीक से देखा व जाना। छात्राओं निधि व अमनप्रीत ने बतलाया कि उनका स्वप्न है कि वे कल्पना चावला की भांति एस्ट्रोनॉट बने तथा देश का नाम रोशन करें। छात्राओं ने बतलाया कि उन्होंने भ्रमण के दौरान यूएनओ आफिस, एंपायर एस्टेट बिल्डिंग, स्टेच्यू आफ लिबर्टी, नासा इत्यादि का भ्रमण किया।
अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के जीवन को करीब से जानकर बहुत रोमांचित दिखलाई दे रही छात्राओं ने बतलाया कि करीब चार मिनट के अनुभव के दौरान उन्होंने शून्य गुरूत्वाकर्षण बल के अनुभव को महसूस किया, इस दौरान उन्होंने पाया कि उनके शरीर का वजन शून्य है। उन्होंने बतलाया कि अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की दिनचर्या पर आधारित थ्री डी मुवी के माध्यम से उन्होंने जाना कि किस प्रकार अंतरिक्ष विज्ञानी अंतरिक्ष में रहते, खाते पीते है। छात्राओं ने बतलाया कि उन्होंने जाना कि किस प्रकार राकेट उडान भरता है व उतरता है। उन्होंनें बतलाया कि अंतरिक्ष में शून्य गुरूत्वार्कषण (जीरो ग्रेविटी) के कारण सभी चीजें तैरती रहती है। अंतरिक्ष विज्ञानियों की दिनचर्या काफी रोमांचक व दिलचस्प होती है। छात्राओं ने बतलाया कि अंतरिक्ष विज्ञानियों की दिनचर्या में सबसे मुश्किल कार्य पानी पीना है, क्योंकि पानी बंूदों के रूप में उडता रहता है।  उन्होंने बतलाया कि इस अवसर पर उन्होंने अंतरिक्ष विज्ञानियों के साथ काफी समय बतलाया तथा विज्ञानी एडवर्ड जिनेट ने उन्हें अहम जानकारियां दी। छात्राओं ने बतलाया कि वे इस अनुभव को अपनी सहपाठी व जूनियर छात्राओं के साथ सांझा करेंगी।
इस अवसर पर स्कूल प्राचार्या शीला इन्सां ने बतलाया कि संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा से शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान खेलों व शिक्षा के क्षेत्र में देशभर में अग्रणी बनता जा रहा है। उन्होंने बतलाया कि संस्थान की छात्राओं को पै्रैकेटिकल रूप से अंतरिक्ष विज्ञान का अनुभव करवाने के लिए संस्थान द्वारा आठ छात्राओं को अमेरिका स्थित नासा संस्थान में भेजा गया था। उन्होंने बतलाया कि इससे पूर्व 2009 में भी संस्थान से छात्राओं का एक दल नासा भ्रमण पर गया था। स्कूल प्राचार्या ने बतलाया कि इस क्षेत्र में एक कदम और बढाते हुए संस्थान द्वारा अक्तूबर माह में एयर विंग ली जा रही है, जिससे विद्यार्थी हवाई यात्रा के अनुभवों से अवगत होंगे।    

>local sirsa news सिरसा समाचार

5 जुलाई

>

33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं
सिरसा
, 5 जुलाई।          जिला में 12वीं तक की कक्षाओं में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं को विज्ञान विषय के प्रति प्रेरित करने के उद्देश्य से जिला के सभी खंडों के राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूलों में पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत 33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं। अभी तक जिला के तीन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में म्यूजियम से संबंधित उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि प्रत्येक मॉडल स्कूल में लगभग पौने पांच लाख रुपए के साईंस उपकरण स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इनमें सैंकड़ों प्रकार के साईंस उपकरणों शामिल है। इन उपकरणों के माध्यम से मॉडल स्कूलों के छात्रों को साईंस की जानकारी देकर इस विषय की ओर प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन मुख्य उपकरणों में बीफोर एंड आफ्टर डैम, ब्लास्ट फरनेंस बॉडी लैस हैड, डीएनए, विंड मील, मिशन मार्स, आरकेमीडिज स्क्रयू, एसट्रोनोट आदि उपकरण शामिल हैं।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सिरसा में 4 लाख 85 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ऐलनाबाद में 4 लाख 74 हजार, डबवाली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 72 हजारकी राशि से साईंस म्युजियम स्थापित किए गए है। इसके साथ साथ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गुडिय़ाखेड़ा में 4 लाख 77 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालांवाली में 4 लाख 97 हजार, रानियां के कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 90 हजार,  और रोड़ी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 77 हजार रुपए के साईंस उपकरण स्थापित  किए जाने है।
    उपायुक्त ने बताया कि जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने तथा आकर्षित करने के लिए  innvocation Science pursuit for inspired research (इनस्पायर) नामक योजना के तहत जिला स्तरीय और बाद में राज्य स्तरीय सार्इंस मॉडल प्रतियोगिता करवाई जाएगी।  इस प्रतियोगिता के लिए मॉडल तैयार करने हेतु प्रत्येक बच्चे को 5 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। जिला के सातों खंडों से साईंस मॉडल तैयार करने के लिए कुल 289 छात्रों का चयन किया गया है। इन छात्रों को पांच-पांच हजार रुपए की राशि दी जाएगी। इस प्रकार से सिरसा जिला में इस योजना के तहत 14 लाख 45 हजार रुपए की राशि खर्च की जाएगी। यह योजना केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के माध्यम से प्रदेश में एस.सी.ई.आर.टी. के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है।
    उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत बच्चों द्वारा साईंस मॉडल तैयार करने के लिए जल संरक्षण, सौर ऊर्जा, ऊर्जा बचाओ जैसे विषय दिए गए हैं जिन पर छात्र साईंस अध्यापकों के निर्देशन में मॉडल तैयार करेंगे। मॉडल तैयार करवाने के लिए जिला के चुने हुए साईंस अध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिरसा जिला में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 8 जुलाई को आयोजित होगा जिसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में सभी अध्यापक भाग लेंगे और छात्रों को मार्गदर्शन देने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा।
    जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती कुमकुम ग्रोवर ने बताया कि इनस्पायर नामक इस योजना के तहत खंडवार बच्चों की पहचान की गई है। इस योजना के तहत कुल 289 बच्चे भाग लेंगे। बड़ागुढ़ा खंड के 50, डबवाली के 9, नाथूसरी चौपटा के 65, सिरसा खंड के 44, रानियां के 42, ऐलनाबाद खंड से 27 व ओढंा खंड से 52 बच्चों का चुनाव किया गया जिन्हें उपरोक्त राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि साईंस मॉडल प्रतियोगिता के लिए दो श्रेणियां बनाई गई है। छठी से आठवीं तक के बच्चे पहली श्रेणी में रखे गए हैं और दूसरी से आठवीं तक के बच्चों को दूसरी श्रेणी में रखा गया है। पहले दोनों श्रेणियों में अलग-अलग जिला स्तरीय प्रतियोगिता होगी जो 20, 21 और 22 जुलाई को स्थानीय खैरपुर स्कूल में आयोजित की जाएगी। इसके बाद जो छात्र इस प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करेंगे उन्हें राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भेजा जाएगा।

राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार 2011 के लिए 6 वर्ष से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों से 18 अगस्त तक आवेदन पत्र आमंत्रित
सिरसा,
5 जुलाई।          भारतीय बाल कल्याण परिषद् द्वारा राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार 2011 के लिए 6 वर्ष से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों से 18 अगस्त तक आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए हैं।
    यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि यह आवेदन पत्र जिला बाल कल्याण अधिकारी कार्यालय में 18 अगस्त तक जमा करवाए जा सकते हैं। यह वीरता पुरस्कार उन बच्चों को दिया जाता है जिन्होंने सामाजिक बुराई व अपराध के विरूद्ध अपनी जान जोखिम में डालकर निस्वार्थ भाव से अदम्य साहस व उल्लेखनीय बौद्धिक कौशल का परिचय दिया है।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि यह पुरस्कार गणतंत्र दिवस पर वर्ष 1957 से प्रति वर्ष साहसी बच्चों का सम्मान व अन्य बच्चों को वीरता के कार्य के प्रति प्रेरित करना है। उन्होंने बताया कि इसके लिए आवेदन पत्र जिला बाल कल्याण अधिकारी से या उपायुक्त कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है उन्होंने बताया कि इसे दोहरी प्रति में भरना होगा। बाल वीरता पुरस्कार-2011 के लिए पहली जुलाई, 2010 से 30 जून, 2011 के मध्य घटना घटित होनी चाहिए, जिसके लिए प्रार्थी आवेदन कर रहा है। इस पुरस्कार के लिए चयन उच्च अधिकार प्राप्त कमेटी द्वारा किया जाएगा।

सांड बेसमेंट में गिरा सुरक्षित बाहर निकाला
सिरसा
,(5 जुलाई 2011):  बरनाला रोड सिरसा पर निर्माणधीन बिल्डिंग में अचानक एक सांड बेसमेंट में गिर गया। इसका पता चला तो श्री मारूति चैरीटेबल ट्रस्ट व नगर पार्षद श्री रमेश मेहता, सर्वधर्म सोसायटी के सहसचिव रणजीत सिंह टक्कर व सुरक्षा ट्रस्ट के प्रधान श्री भंवरलाल स्वामी ने मोहल्ला निवासियों के सहयोग से सांड को सुरक्षित बाहर निकाल कर पुण्य का कार्य किया व लोगों से अपील की कि हम सबको इन बेसहारा जानवरों को किसी सुरक्षित जगह पर चारा डालना चाहिए व बीमार, घायल होने पर इनका इलाज करवाना चाहिए। उपस्थित लोगों ने उपरोक्त व्यक्तियों की इस पुण्य कार्य की मुक्त कंठ से प्रशंसा की।

गांव सुचान में लीगल लिट्रेसी कैंप का आयोजन किया गया
सिरसा
, 5 जुलाई।        भारतीय ग्रामीण महिला समिति तथा परिवार परामर्श केंद्र सिरसा द्वारा संचालित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा गांव सुचान में लीगल लिट्रेसी कैंप का आयोजन किया गया जिसमें अवनीश सिंह कालड़ा एडवोकेट व परामर्शदाता रविंद्र मोंगा ने लोगों को नशे के प्रभाव से दूर रहने, पर्यावरण एवं जल संसाधनों की संभाल करते हुए अपने जीवन को सुखमयी बनाने बारे विस्तार से जानकारी दी।
    उन्होंने कहा कि विधिक सामाजिक एवं धार्मिक उत्तरदायित्वों का निर्वहन करते हुए विधिक सेवा प्राधिकरण एवं परिवार परामर्श केंद्रों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें ताकि उन्हें समय-समय पर बनने वाले कानूनों की जानकारी मिलती रहे। उन्हांने लोगों को विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दी जा रही नि:शुल्क कानूनी सहायता, घरेलू हिंसा अधिनियम 2005, संविधान के तहत प्रदत्त अधिकारों के बारे में भी बताया। इस अवसर पर रविंद्र मोंगा ने लोगों को आपसी लड़ाई-झगड़ों से दूर रहने की सलाह देते हुए पारिवारिक मसलों को पंचायती स्तर पर व लोक अदालत के माध्यम से हल करने पर बल दिया।
    इस मौके पर गांव की सरपंच श्रीमती रामप्यारी ने भी गांव के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने लोगों की महिलाओं व बच्चों को कानूनी जानकारी के बारे में जागरूक किया। उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव नरेश कुमार सिंघल, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं चेयरमैन सुभाष गोयल, जिला सैशन जज सिरसा का आभार  प्रकट करते हुए भविष्य में भी कानूनी सहायता शिविर एवं परामर्श सुविधा सहित हर माह ऐसे शिविर आयोजित करने के लिए प्रार्थना की।    

कांग्रेस के राज में प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया है
सिरसा
, 5 जुलाई। इनेलो के जिला प्रैस प्रवक्ता कृष्ण गुम्बर ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि कांग्रेस के राज में प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया है और प्रशासनिक अधिकारी बेलगाम हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है, लेकिन सरकार को इसकी कोई परवाह नहीं है। महंगाई के चलते गरीब आदमी के लिए दो वक्त की रोटी का जुगाड़  करना मुश्किल हो गया है। गम्बर ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बनकर रह गई है और सभी योजनाएं और नीतियां पूंजीपतियों के हितों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार किसानों का आर्थिक शोषण कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की जमीन को कोडियों के भाव खरीद कर सरकार उन्हें पूंजीपतियों को मोटे दामों में बेचकर बड़ा मुनाफा कमा रही है।
उन्होंने कहा एक तरफ तो प्रदेश के मुख्यमंत्री हरियाणा को देश का नंबर वन राज्य बताते हैं, जबकि प्रदेश के लोगों को मूलभूत सुविधाएं भी यह सरकार नहीं दे रही। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है। आए दिन बलात्कार, लूट, चोरी व हत्या जैसी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। गुम्बर ने कहा कि लोगों का मोह अब कांग्रेस सरकार से भंग हो चुका है। लोग अब समझ चुके हैं उनके हित केवल इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के शासनकाल में ही सुरक्षित रह सकते हैं और लोगों ने अब इनेलो को सत्ता सौंपने का मन बना लिया है। उन्होंने दावा किया कि आने वाला समय इनेलो का है और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ही मुख्यमंत्री होंगे।

हरियाणा प्रदेश में अब तक हुए विकास कार्य एक नींव मात्र है
सिरसा,
5 जुलाई। कांग्रेस जिला प्रधान मलकीत सिंह खोसा ने कहा है कि हरियाणा प्रदेश में अब तक हुए विकास कार्य एक नींव मात्र है और आने वाले समय में विकास का पहिया और भी तेजी से घूमेगा। जिला प्रधान ने कहा कि विपक्षी दलों के नेताओं की बौखलाहट का जवाब और अधिक विकास कार्य करके दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाली राज्य सरकार के अब तक के कार्यकाल के दौरान हुए अभूतपूर्व विकास कार्यों के चलते विपक्षी दल कहीं भी टिक नहीं पा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और जिस तरह से इनेलो और भाजपा को लोगों ने नकारा है, इससे सिद्ध होता है कि लोग विकास और इमानदारी को पंसद करते हैं, इसलिए भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को दोबारा प्रदेश की बागडोर सौंपी है।
खोसा ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार पूरी ईमानदारी व मेहनत के साथ सभी वर्गों के लोगों के कल्याण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सड़कों व पुलों का मजबूत जाल बिछाकर इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया गया है। आने वाले समय में हुड्डा की सरकार बनेगी और विकास कार्य यूं ही चलते रहेंगे।

होनहार युवाओं की राजनीति में भी सख्त जरूरत है
सिरसा
(5 जून)भारत एक युवा देश है। जिस प्रकार प्रत्येक क्षेत्र में युवा कार्य कर रहे हैं उसी तरह होनहार युवाओं की राजनीति में भी सख्त जरूरत है। यह बातें गत दिवस गांव धिंगतानिया में आयोजित एक जनसभा के दौरान युवा कांग्रेस नेता व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि होशियारी लाल शर्मा के पुत्र राजेश शर्मा ने कही। गांव के सरपंच बलबीर द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पहुंचने पर राजेश शर्मा का फूल मालाएं पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया गया। इस मौके पर उनके साथ पंचायत सेल के प्रदेश महासचिव मुकेश शर्मा, जिला युवा कांग्रेस के महासचिव डॉ. आजाद केलनिया, मदन चौबुर्जा, राधे श्याम वर्मा, देवेंद्र कुमार, कन्हैया लाल, वेद सैनी, राकेश प्रधान, कृष्ण कंबोज, राजू सैनी, हेमंत, बजरंग, बंटी सैनी, सोनू, मोहित, विशाल उर्फ मोगली व रिंकु भी मौजूद थे। इस मौके पर ग्रामीणों ने राजेश शर्मा को गांव की विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाया। जिसमें बीपीएल कार्ड बनवाना, बिजली समस्या व पेंशन की समस्या प्रमुख थीं। राजेश शर्मा ने ग्रामीणों की समस्या को गंभीरता से सुनते हुए कहा कि वे अपने स्तर पर गांव की हरेक समस्या को पूरा करवाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गांव में आज बिजली, पानी, सड़क व्यवस्था, शिक्षा, रोजगार सहित सभी सुविधाएं प्रदान करवाई जा रही हैं। उन्होंने लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में कांग्रेस पार्टी से जुडऩे का आह्वान किया। प्रदेश में शहरों व गांवों का एक समान विकास हो रहा है। मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के कुशल नेतृत्व में प्रदेश के गांवों में जितना काम अब तक हुआ है उतना इससे पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि देश में हरियाणा राज्य विकसित राज्यों की श्रेणी में गिना जाता है जिसका श्रेय कांग्रेस शासन को जाता है। इस मौके पर बलराज कुम्हार, विनोद नायक, राम स्वरूप हरिजन, शंकर नायक, कुरड़ा राम नायक, गुलजारी नायक, केसराराम कुम्हार, मास्टर सुरेश, बक्शीराम नायक, मदन हरिजन, देशराज भक्त, विनोद चावरिया, रोहताश नायक सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण जनसमूह मौजूद था।

सामुदायिक रेडियो को शिक्षा और सामाजिक परिवर्तन के कारगर उपकरण के रूप में प्रयोग किया जा सकता है
हिसार
  5 जुलाई, 2011 चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग और रेडियो सिरसा के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा है कि सामुदायिक रेडियो को शिक्षा और सामाजिक परिवर्तन के कारगर उपकरण के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। शिक्षण संस्थाओं और सामाजिक संगठनों को अपने अपने क्षेत्र में स्थानीय समुदाय की सेवा के लिए सामुदायिक रेडियो स्टेशन स्थापित करने के लिए आगे आना चाहिए। वे आज यहां गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के एकेडेमिक स्टाफ कालेज में चल रहे ओरिएंटेशन कार्यक्रम में प्रतिभागी शिक्षकों को संबोधिर कर रहे थे। भारतीय सामुदायिक रेडियो संघ के राष्टï्रीय संयोजक चौहान ने कहा कि भारत सरकार के सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने देश में चार हजार सामुदायिक रेडियो स्टेशन स्थापित करने का लक्ष्य रखा है जबकि फिलहाल देश के केवल 115 ऐसे स्टेशन कार्य कर रहे हैं।
वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि हरियाणा में अब तक केवल पांच सामुदायिक रेडियो स्टेशनों ने कार्य करना प्रारंभ किया है। आधा दर्जन स्टेशनों की स्थापना का काम तेज गति से चल रहा है। उन्होंने कहा कि हाल ही में सूचना प्रसारण मंत्रालय ने नए सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की स्थापना के इच्छुक शिक्षण संस्थानों और गैर सरकारी संगठनों ने आवेदन मांगे हैं। प्रदेश के सक्रिय गैर सरकारी संगठनों और प्रतिष्ठिïत शिक्षण संस्थानों को इस अवसर का लाभ लेते हुए इसके लिए जल्द से जल्द आवेदन करना चाहिए ताकि हरियाणा इस मोर्चे पर देश के अन्य राज्यों से आगे निकल सके। उन्होंने कहा कि सामुदायिक रेडियो के माध्यम से शिक्षण संस्थान ने केवल अपने क्षेत्र में प्रभावी जनजागृति कार्यक्रम चला सकते हैं बल्कि इसके साथ साथ वे अपने विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के लिए भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
चौहान ने कहा कि वर्तमान में जीवन के किसी भी क्षेत्र में कामयाबी के लिए असरदार कम्युनिकेशन स्किल्स की आवश्यकता होती है। रेडियो इस दिशा में अभ्यास व प्रशिक्षण में अद्भुत मदद कर सकता है। भारतीय सामुदायिक रेडियो संघ के राष्टï्रीय संयोजक चौहान ने कहा कि उनका संगठन देशभर के सामुदायिक रेडियो स्टेशनों को एक मंच पर लाकर उनकी समस्याओं के  निपटारे के लिए पुरजोर प्रयास कर रहा है। देशभर के सामुदायिक रेडियो आपस में कार्यक्रमों का लेनदेन करें, इसके लिए भी एक ऑनलाइन प्लेटफार्म तैयार किया जा रहा है।

सर्वधर्म एकता सोसायटी द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन
सिरसा
, 5 जुलाई।         कल 6 जुलाई को प्रात: 9 बजे स्थानीय अशोक प्रोपर्टीज, कुंडू प्रोपर्टीज, शॉपिंग कॉम्पलैक्स न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी बरनाला रोड पर रक्तदान शिविर का आयोजन सर्वधर्म एकता सोसायटी द्वारा किया जा रहा है।
    यह जानकारी देते हुए उक्त सोसायटी के अध्यक्ष अविनाश फुटेला ने बताया कि रक्तदान शिविर का उद्घाटन चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डा. मनोज सिचाव करेंगे जबकि अध्यक्षता प्रो. वीरेंद्र चौहान करेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार विजता शमशेर सिंह संधू, गुरू प्रोपर्टीज के संचालक ओमप्रकाश ठुकराल, क्रेजी फैशन के संचालक पवन जिंदल, प्रोपर्टी डीलर एसोसिएशन के प्रधान गुरभेज ढिल्लो शामिल होंगे।
    उन्होंने बताया कि जिला उपायुक्त, रैडक्रास एवं आईएसबीटीआई के अध्यक्ष डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया के मार्गदर्शन में सर्वधर्म एकता सोसायटी प्रगति की ओर अग्रसर है। उन्होंने बताया कि सोसायटी द्वारा सातवां रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने सभी रक्तदानियों एवं जिलावासियों से अनुरोध है कि इस पवित्र यज्ञ में अपनी आहुति डालकर सहभागी बनें।

मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेशभर में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई है
सिरसा
। मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेशभर में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई है, जिनके परिणाम स्वरूप सरकार की नीतियों से हर वर्ग प्रसन्न व खुशहाल है। मुख्यमंत्री श्री हुड्डा व सिरसा के सांसद डा. अशोक तंवर के नेतृत्व में सिरसा जिला में रिकार्डतोड विकास कार्य हुए है। उक्त उदगार ब्लाक कांग्रेस कमेटी सिरसा शहरी के अध्यक्ष भूपेश मेहता ने आज अपने कार्यालय में विभिन्न वार्डों व ग्रामीण क्षेत्रों से आए लोगों की जनसमस्याएं सुनते हुए व्यक्त किए।
इस अवसर पर उनके साथ औमप्रकाश एंथोनी, यूसुफ खान, ताज मोहम्मद, विनोद भाटिया, विनोद उपाध्याय, रामदास बजाज, प्रेम सैनी, जय सिंह नेजिया, सुमित मेहता, प्रवीण, गौरव, अभिमन्यू मलिक, हंसराज सलारपुर, रमेश गोयल, पवन सिंगला, वेद प्रकाश कंवरपुरा, वेद कुसुंभी सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भूपेश मेहता ने कहा कि प्रदेश में खेलों को बढावा देने के लिए मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा लागू की गई खेल नीति के परिणामस्वरूप युवा खिलाडिय़ों को पुलिस भर्ती में अवसर दिए जाने से सराहनीय परिणाम सामने आएंगे। आज प्रदेश में बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं आमजन को भरपूर रूप से मिल रही है। श्री मेहता ने कहा कि प्रदेशभर में पैंशन भोगियों को हर माह की दस तारीख को पैंशन उपलब्ध करवाने के लिए सरकार पूर्णत गंभीर है तथा शीघ्र ही पैंशन भोगियों को निश्चित समय पर पैंशन मिलनी आरंभ हो जाएगी। इस अवसर पर उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे प्रदेश सरकार की उपलब्धियों व नीतियों को आमजन तक पहुंचाए ताकि अधिक से अधिक लोग लाभांवित हो।

पांच किलो चूरापोस्त सहित दो महिलाओं को काबू किया
सिरसा।
बडागुढ़ा पुलिस ने क्षेत्र के गांव सुखचैन से पांच किलो चूरापोस्त सहित दो महिलाओं को काबू किया है। आरोपी महिलाओं के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज किया गया है। आरोपियों को कल न्यायालय में पेश किया जाएगा। जानकारी मुताबिक बडागुढ़ा थाना के सहायक उपनिरीक्षक भूदेव सिंह पर आधारित एक पुलिस ने टीम ने क्षेत्र के गांव सुखचैन से संदिग्ध परिस्थितियों में घूम रही दो महिलाओं कीतलाशी लेने पर उनके कब्जे से पांच किलो चूरापोस्त बरामद किया। आरोपी महिलाओं की पहचान निहालो देवी पत्नी गोपाल व नानकी पत्नी त्रिलोक निवासी गुरूकरण कॉलोनी सीकरी राजस्थान के रूप में हुई है। आरोपी महिलाओं ने बताया कि वे यह चूरापोस्म मध्य प्रदेश से लेकर आई थी।

अदालत परिसर से चोरी हुए दो मोटरसाइकिलों की गुत्थी को सुलझाया
सिरसा
, 5 जुलाई। जिला की शहर डबवाली पुलिस ने बीती 14 जून व 21 जून को कस्बा डबवाली के अदालत परिसर से चोरी हुए दो मोटरसाइकिलों की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने इस संबंध में दो लोगों को काबू कर उनकी निशानदेही पर मोटरसाइकिल बरामद कर लिए है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान कुलविंद्र सिंह पुत्र बलजिंद्र ङ्क्षसह निवासी जोधपूर रमाणा व भूपेंद्र सिंह पुत्र महेंद्र सिंह निवासी लाल ङ्क्षसह बस्ती बठिंडा पंजाब के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार इस घटना में शहर डबवाली पुलिस ने बीती 1 जुलाई को सर्वप्रथम घटना के एक आरोपी कुलविंद्र सिंह को चोरीशुदा मोटरसाइकिल के साथ बठिंडा चौक से गिरफ्तार किया था, पुलिस ने आरोपी को डबवाली अदालत में पेश कर पूछताछ हेतू पहले दो दिन का तथा उसके बाद एक दिन का रिमांड हासिल किया। रिमांड अवधि में पूछताछ के दौरान उसके दूसरे साथी भूपेंद्र की पहचान हुई तथा घटना का दूसरा मोटरसाइकिल भी बरामद कर लिया गया है। दोनो आरोपियों को आज डबवाली अदालत में पेश किया जाएगा।
सिरसा, 5 जुलाई। जिला की सीआईए सिरसा पुलिस ने बीती 8 अपै्रल को बेगू रोड पर स्थित डेरा सच्चा सौदा के समीप से चोरी हुई बुलेरो गाडी व मोबाईल चोरी की घटना की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने घटना के एक आरोपी को काबू कर उसकी निशानदेही पर मोबाईल भी बरामद कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान परमजीत पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी दिनोद जिला भिवानी के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश किया जाएगा। मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए सीआईए सिरसा के प्रभारी किशोरी लाल ने बताया कि पकड़े गए आरोपी परमजीत से पूछताछ के दौरान इस घटना में शामिल उसके दो अन्य साथियों की पहचान कर ली गई है। उन्होंने बताया कि पहचान किए गए दोनो आरोपी फिलहाल वाहन चोरी के आरोप में भिवानी जेल में बंद है, जिन्हे प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ कर चोरीशुदा बुलेरो गाडी भी बरामद की जाएगी। सीआईए प्रभारी ने बताया कि इस संबंध में पुलिस ने सुखजीत सिंह पुत्र रणजीत ङ्क्षसह निवासी फत्ताखेडा पंजाब की शिकायत पर अभियोग दर्ज किया था व मामले की जांच का जिम्मा सीआईए पुलिस को सौंपा गया था।

दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता सम्पन्न
ओढ़ां
-गांव जलालआना में शाह सतनाम सिंह स्टेडियम में आयोजित दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का मंगलवार को समापन हो गया। समापन समारोह में सिरसा के एसडीएम रोशन लाल ने मुख्यातिथि के रूप में भाग लेकर विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित करते हुए कहा कि खेल को खेल की भावना से खेलें और आपसी प्रेमभाव बनाए रखें। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी का नशों की बजाय खेलों की ओर रूझान सराहनीय है।
    प्रतियोगिता के अंतिम दिन आज कुश्ती में 112 किलोग्राम भार वर्ग में कल्याणनगर के सन्दीप राणा ने रानियां के रामकुमार को हराकर प्रथम स्थान हासिल किया। 57 किलोग्राम भार वर्ग में दारेवाला ब्लाक से गुरमेल सिंह प्रथम व सिरसा के मिथन ने दूसरा स्थान हासिल किया। 76 किलोग्राम भार वर्ग में सिरसा के रूपेश ने प्रथम व रानियां के अशोक ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। बालीबाल का फाइनल मुकाबला सिरसा और रानियां की टीमों के मध्य खेला गया जिसमें रानियां की टीम ने सिरसा की टीम को 3-0 से हराकर फाइनल मैच जीत लिया। महिलाओं की रस्साकशी में सिरसा ने कल्याणनगर को हराया। क्रिकेट के फाइनल में कल्याण नगर और शाह सतनाम पुरा की भिड़ंत हुई जिसमें शाह सतनाम पुरा की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 82 रन बनाए। इसके जवाब में कल्याण नगर की टीम 10 ओवरों में 6 विकेट खोकर 77 रन ही बना सकी। इस प्रकार शाह सतनाम पुरा की टीम ने फाइनल मैच 5 रनों से जीत लिया।
     इस अवसर पर खेल आयोजन समिति के सदस्य सतदेव, औमप्रकाश पटवारी, विजय, बहन लक्ष्मी, बीना और कंचन के अलावा कालांवाली के एसडीओ पवन चावला, मक्खन सिंह, सुखराज, पाली, नक्षत्र सिंह, लीला जैन, कस्तूर इन्सां, सर्वजीत नम्बदरदार, सतपाल नम्बरदार, गुरपाल, राजाराम, पवन इन्सां सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

दहेज के लिए बहू को स्प्रे पिलाकर मारा
ओढ़ां
-गांव नुहियांवाली में एक विवाहिता को ससुरालजनों ने जबरदस्ती स्प्रे पिलाकर मरने के लिए मजबूर कर दिया। थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि ओढ़ां पुलिस ने विवाहिता की मां सुखपाल कौर पत्नी साधूराम निवासी नुहियांवाली की शिकायत पर पति करता राम, सास मूर्ति देवी, ससुर हरवंस लाल, जेठ लालचंद, ननद रेशमा और नामालूम बहनोई के खिलाफ दहेज मांगने और मरने के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। सुखपाल कौर ने अपनी शिकायत में बताया कि करीब डेढ़ वर्ष पूर्व उनकी 20 वर्षीय पुत्री संतोष का उसी गांव के रहने वाले करता राम के साथ शादी हुई थी और शादी के बाद उसकी बेटी की सास, ससुर पति, ननद व सभी घर वाले उसे दहेज के लिए तंग करने लगे और अक्सर उससे मारपीट करने लगे। कुछ माह पूर्व उसकी बेटी ने एक पुत्र को जन्म दिया था लेकिन फिर भी उसके ससुराल वाले खुश नहीं हुए और उनकी दहेज की मांग बरकरार रही तथा 4 जुलाई सोमवार की शाम उन्होंने उसे जबरदस्ती स्प्रे पिला दी और घर से फरार हो गए। सूचना मिलने पर वे अपनी बेटी को ओढ़ां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां से उसे सिरसा रैफर कर दिया गया तथा रात को करीब 10 बजे उनकी बेटी ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव का पोस्ट मार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया।
    बताया जाता है कि
    संतोष व करता राम एक ही गांव के रहने वाले हैं।
    दोनों को आपस में प्यार हो गया था जिसके चलते मार्च 2010 में दोनों की अंतर्राजातीय शादी हुई।         शादी की चर्चा पूरे गांव में रही।
    इस शादी का गांव के कुछ लोगों ने विरोध करते हुए उनकी शादी मंदिर में नहीं होने दी थी।
    लड़की अनुसूचित जाति की थी और लड़का पिछड़े वर्ग से संबंध रखता था।
    करीब 3-4 माह पूर्व लड़की ने अपने माता पिता के घर एक लड़के को जन्म दिया था।
    लड़का व उसके माता पिता हिस्से पर जमीन लेकर काश्त करते हैं।
    मृतका के जेठ लालचंद की अभी तक शादी नहीं हुई है।

>local sirsa news सिरसा समाचार

4 जुलाई

>

सिरसा जिला प्रति हैक्टेयर गेहूं उत्पादकता के मामले में देश में प्रथम स्थान पर रहा
सिरसा,
4 जुलाई।          सिरसा जिला इस बार प्रति हैक्टेयर गेहूं उत्पादकता के मामले में न केवल प्रदेश में बल्कि देश में प्रथम स्थान पर रहा है जिसकी बदौलत पूरे प्रदेश में गेहूं उत्पादकता की दर में रिकॉर्ड इजाफा हुआ है। इसी आधार पर इस बार राष्ट्रीय स्तर पर गेहूं फसल के रिकॉर्ड उत्पादन में राष्ट्रीय कृषि अवार्ड के लिए हरियाणा राज्य को चुना गया है। यह अवार्ड देश के प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह आगामी 16 जुलाई को दिल्ली में वितरित करेंगे। सिरसा जिला में गेहूं का उत्पादन 14 लाख मीट्रिक टन से भी पार कर गया है। कृषि विभाग के अनुसार प्रति हैक्टेयर गेहूं उत्पादकता की दर 50.50 क्विंटल रही है जबकि प्रदेश में गेहूं उत्पादकता प्रति हैक्टेयर की दर 46.24 क्विंटल रही है।
    विभागीय प्रवक्ता के अनुसार जिला में गत रबी की फसल में 2 लाख 90 हजार हैक्टेयर भूमि पर गेहूं फसल की बिजाई गई जिससे 14 लाख से भी अधिक मीट्रिक टन गेहूं का उत्पादन हुआ और 10 लाख 46 हजार 824 मीट्रिक टन गेहूं की आवक सिरसा जिला की विभिन्न मंडियों में हुई जिससे राज्य सरकार को सिरसा जिले से मार्किट फीस के रूप में 23 करोड़ 49 लाख 47 हजार रुपए की आय अर्जित हुई जो एक कीर्तिमान है। गत वर्ष गेहूं फसल की बिक्री से सिरसा जिले में 16 करोड़ 60 लाख रुपए की आय अर्जित की गई थी।
    उन्होंने बताया कि गेहूं आवक के मामले में सिरसा जिले का स्थान पूरे प्रदेश में प्रथम रहा है। विभिन्न सरकारी एजेंसियों द्वारा जिला की मंडियों से 10 लाख 46 हजार 824 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है। उन्होंने बताया कि गत रबी सीजन में हरियाणा में 116.30 लाख मीट्रिक टन गेहूं की आवक हुई जबकि पैदावार इससे कहीं अधिक हुई है। प्रदेश में 25 लाख 12 हजार हैक्टेयर भूमि में गेहूं की फसल की बिजाई की गई। राज्य सरकार की किसान हितैषी नीति के चलते तथा कृषि विभाग के बेहतर कार्यक्रमों के कारण गेहूं उत्पादकता में रिकॉर्ड इजाफा हुआ है जिससे गेहूं उत्पादन में राज्य का नाम प्रथम स्थान पर आया है। इसी के परिणामस्वरूप हरियाणा को गेहूं उत्पादन के मामले में आगामी 16 जुलाई को राष्ट्रीय अवार्ड से नवाजा जाना है।
    प्रवक्ता ने बताया कि गेहूं उत्पादकता में वृद्धि का मुख्य कारण किसानों को उपचारित बीज उपलब्ध करवाना रहा है। विभाग का दावा है कि गत रबी सीजन में गेहूं का शत-प्रतिशत उपचारित बीज किसानों को वितरित किया गया जिस पर विभाग द्वारा 11 करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई। उन्होंने बताया कि उपचारित बीज की बिजाई करने से गेहूं फसल में भूमि जनित और बीज जनित बीमारियों में गुणात्मक कमी आई। इसके साथ-साथ विभाग द्वारा प्रमाणित किस्मों का बीज उपलब्ध करवाया गया और निरंतर विभागीय अधिकारी किसानों के संपर्क में रहे जिससे खरपतवार व अन्य बीमारियों से गेहूं फसल का बचाव हुआ।
    उन्होंने आगे बताया कि गेहूं फसल के दौरान बिजली व सिंचाई की सुविधा भी किसानों को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करवाई गई। इसके साथ-साथ मौसम की अनुकूलता ने भी गेहूं उत्पादन में किसानों का साथ दिया जिससे न केवल सिरसा जिला में बल्कि पूरे प्रदेश में प्रति हैक्टेयर उत्पादकता दर में रिकॉर्ड इजाफा हुआ।

द्विवार्षिक चुनावोको लेकर एक आम सभा हुई
सिरसा
4 जुलाई आज स्थानीय टी० एल० सब युनिट कार्यालय के प्रांगण में एच० एस० ई० बी० वर्कर युनियन के सब युनिट स्तरीय द्विवार्षिक चुनावोको लेकर एक आम सभा हुई जिसकी अध्यक्षता युनिट सचिव देवी लाल बिरडा ने की । जिसमें टी० एल० सब युनिट के द्विवार्षिक चुनाव करवाये गये। सभा में युनिट प्रधान राज मन्दिर शर्मा बतौर चुनाव अधिकारी उपस्थ्ति हुए । सभा में सर्व सम्मति से गुरूमुख सिंह लाईन मैन को प्रधान,पंकज जी० एस० ए० को उप प्रधान, रतन ङ्क्षसह जी० एस० ओ० को सचिव, शशी मोहन जी० एस० ओ० को सह सचिव, राज बहादुर जी० एस० ओ० को कैश्यिर, नीलम मलिक एल० डी० सी० व हरभजन ङ्क्षसह डाईवर को ऑगनाईजर को नियुक्त किया गया है ।  सभी चयनित पदाधिकारियों ने अपने सम्बोधन में कर्मचारियों को युनियन व कर्मचारी हित में काम करने का विश्वास दिलवाया । चुनाव अधिकारी युनिट प्रधान राज मन्दिर शर्मा ने सभी चुने हुए पदाधिकारियों को शपथ दिलवाई । सभा को देवी प्रसाद शर्मा, सुरेन्द्र शर्मा वित सचिव, राजेन्द्र भण्डारी, सुरेश मंगल, व आद्यौगिक क्षेत्र सब युनिट के प्रधान महेश कुमार व सचिव रमेश कुमार ने सम्बोधित किया ।
जारीकर्ता:-  राज मन्दिर शर्मा, युनिट प्रधान     94163-56729

स्कूलों के माध्यम से नॉन फॉरमल एजुकेशन फॉर हैल्थ अवेयरनैस (नेहा) नामक कार्यक्रम शुरू किया जाएगा  
सिरसा
, 4 जुलाई।        जिला में एड्स, एनीमिया, कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा के साथ-साथ अन्य सामाजिक बुराइयों के विरूद्ध व रक्तदान हेतु आमजन को जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्कूलों के माध्यम से नॉन फॉरमल एजुकेशन फॉर हैल्थ अवेयरनैस (नेहा) नामक कार्यक्रम शुरू किया जाएगा।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त श्री युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि इस कार्यक्रम को प्रभावी तरीके से संचालित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों द्वारा स्वास्थ्य जागरूकता व विभिन्न सामाजिक बुराइयों को दूर करने से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण में स्वास्थ्य जागरूकता से संबंधित भाषण एवं स्लोगन लेखन के बारे में तकनीकी रूप से बताया जाएगा। सभी स्कूलों में इस कार्यक्रम के तहत विभाग के डॉक्टरों के सहयोग से साईंस के अध्यापकों द्वारा विभिन्न विषयों पर स्पीच व नारे तैयार करवाए जाएंगे। यह स्पीच व नारे स्कूली बच्चों द्वारा सुबह के समय एसैम्बली में प्रभावी तरीके से बुलवाए जाएंगे।
    उन्होंने बताया कि स्पीच और नारे बुलवाने के लिए सभी स्कूलों के आठवीं और दसवीं के प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान की जाएगी जो हर रोज स्कूल एसैम्बली में विभिन्न विषयों पर नारे व स्पीच बोलेंगे। स्पीच व नारों के लिए अलग-अलग विषय लिया जाएगा। एक विषय पर तैयार की गई विभिन्न स्पीच, भाषण व नारे छात्रों द्वारा लगातार एक सप्ताह तक एसैम्बली में बोले जाएंगे। उन्होंने बताया कि इन नारों और भाषणों में प्रभावी संदेश के अलावा साईंस और मैडिकल से संबंधित टूल्स भी डाले जाएंगे। उसके बाद दूसरे विषय से संबंधित नारे व स्पीच बोले जाएंगे। इस प्रकार का अपनी तरह का यह कार्यक्रम केवल सिरसा जिले में चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में उपरोक्त विषयों के साथ-साथ स्वच्छता और रक्तदान का संदेश भी दिया जाएगा ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग स्वच्छता और रक्तदान के अभियान से भी जुड़े।
    जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने कहा कि 18 वर्ष की आयु तक के बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए इंदिरा बाल स्वास्थ्य योजना शुरू की गई है। इस योजना के चौथे चरण का शुभारंभ कल 5 जुलाई से किया जाएगा जिसके तहत बच्चों के स्वास्थ्य कार्ड बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि गत वर्ष इंदिरा बाल स्वास्थ्य योजना के तहत 54 हजार 43 बच्चों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया जिनमें 8 हजार 132 बच्चों में एनीमिया का परीक्षण किया गया। इन बच्चों में 5 हजार से भी अधिक बच्चे रक्तालपता से ग्रस्त पाए गए। ज्यादातर बच्चों को विभाग द्वारा आयरन व अन्य प्रकार की दवाइयां दी गईं। इसके बावजूद 241 बच्चों को विभिन्न अस्पतालों में इलाज के लिए रैफर किया गया। इसके साथ-साथ बच्चों के 18 वर्ष से कम आयु के  बच्चों की आंखों का परीक्षण किया गया जिनमें 601 बच्चों को आंखों का चश्मा लगाने की सलाह दी गई। इसी प्रकार से आथोपैडिक व विकलांगता से संबंधित बच्चों का भी परीक्षण कर उचित सलाह व चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई गई। इस योजना के चौथे चरण में जिला के सभी स्कूली बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाना है।
    उन्होंने कहा कि बच्चे देश के भावी कर्णधार व राष्ट्र निर्माता है। इसलिए इन को जागरूक करना बहुत जरूरी है। अगर बच्चे व युवा जागरूक होंगे तो समाज व राष्ट्र का नवनिर्माण होगा।  उन्होंने कहा कि भू्रण हत्या सामाजिक बुराइयों को दूर करने में आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर, सामाजिक कार्यकर्ता व अधिकारी जो बेहतरीन कार्य करेंगे उन्हें जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा नि:शुल्क सर्जीकल पैकेज योजना चलाई गई है। इस योजना से जन साधारण को लाभ होगा। बीपीएल परिवारों को नि:शुल्क सर्जरी की सुविधा दी जा रही है। इस बारे में भी आमजन को जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गांवों में महिलाओं को सुरक्षित व बेहतर प्रसव सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रसूति गृह स्थापित किए गए हैं।
      उन्होंने बताया कि जिले में जननी सुरक्षा योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली ग्रामीण महिलाओं को स्वास्थ्य संस्थान में प्रसूति के समय 700 रुपए की नकद सहायता राशि प्रदान करने का प्रावधान है। अनुसूचित जाति की महिलाओं को 1500 रुपए की अतिरिक्त सहायता राशि दी जाती है। वहीं गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली अनुसूचित जाति की महिलाओं को घर में प्रसूति करवाने पर 500 रुपए की नकद सहायता राशि प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं। स्वास्थ्य केंद्रों के माध्यम से रजिस्ट्रेशन प्रारंभ करने के फलस्वरूप जिला में लिंगानुपात में सुधार हुआ है।

पुलिस समाचार
सिरसा 04 जुलाई। जिला की रानियां पुलिस ने गांव में हुई हत्या के मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान लक्ष्मी नारायण, ओमप्रकाश पुत्र हरीचंद व राकेश, प्रवीण कुमार पुत्र ओमप्रकाश निवासी गांव खारियां हुई है। चारों आरोपियों को आज ऐलनाबाद अदालत में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। रिमांड अवधि के दौरान पुलिस हत्या में प्रयुक्त लाठी, डंडे व वारदात में प्रयोग की गई कार बरामदगी के प्रयास करेगी।
    मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए रानियां थाना प्रभारी उपनिरीक्षक जगदीश जोशी ने बताया कि जमीनी विवाद को लेकर गांव खारियां निवासी रामजीलाल तनेजा की उसके भाई व भतीजों ने लाठी व डंडों से चोटों मारकर हत्या कर दी थी। थाना प्रभारी ने बताया कि इस सम्बंध में मृतक रामजीलाल के पुत्र जगदीश की शिकायत पर भादंसं की धारा 302/34 के तहत उपरोक्त लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया था।
सिरसा 04 जुलाई। थाना शहर सिरसा पुलिस ने मुखबिरी मिलने पर क्रिकेट बुकिज चलाते हुए तीन लोगों को मौके से काबू कर लिया। पुलिस ने मौके से 1500 रुपये की नकदी, तीन मोबाइल सैट फोन, दो मोबाइल चार्जर, एक केल्कुलेटर व एक रंगीन टीवी बरामद कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान विकास पुत्र रोशन लाल निवासी सुभाष बस्ती सिरसा, मोहन पुत्र पिरू राम निवासी शाी कालोनी सिरसा व शेखर पुत्र मुल्ख राज निवासी रानियां चुंगी के रूप में हुई है। आरोपियों के विरुद्ध थाना शहर सिरसा में अभियोग दर्ज किया गया है।
    मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए जांच अधिकारी सहायक अधिकारी रघुबीर सिंह ने बताया कि उन्हें गश्त के दोैरान कल शाम सूचना मिली की शहर के रेलवे स्टेशन के पास स्थित एक मकान में श्रीलंका व इंग्लैंड के बीच चल रहे वनडे मैच के दौरान कुछ लोग मोबाइल फोन व टीवी के माध्यम से व्यापक पैमाने पर क्रिकेट सट्टा चला रहे हैं। उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर पुलिस पार्टी के साथ मौके पर दबिश दी गई। मौके से सट्टाबुकिज चला रहे तीनों लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
सिरसा 04 जुलाई। जिला की ओढां पुलिस ने बीती 20 अप्रेल की रात्रि को क्षेत्र के गांव जंडवाला जाटान में हुई चोरी की चार वारदातों में वांछित उद्घोषित अपराधी से रिमांड अवधि के दौरान चोरीशुदा दो चांदी के सिक्के बरामद किए हैं। आरोपी के विरुद्ध 21 अप्रेल 2010 को ओढां थाना में भादंसं की धारा 457, 380 के तहत मामले दर्ज हुए थे। आरोपी घटनास्थल से फरार चल रहा था। अदालत आदेशों की अवहेलना करने के आरोप में आरोपी के विरुद्ध भादंसं की धारा 174ए के तहत भी ओढां थाना में अभियोग दर्ज किया गया है। आरोपी को दो दिन की रिमांड  अवधि समाप्त होने के बाद आज डबवाली अदालत में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत के तहत जिला जेल भेजा गया है।
    जांच अधिकारी सहायक उपनिरीक्षक कश्मीरी लाल ने बताया कि उद्घोषित अपराधी संजय को प्रोडक्शन वारंट पर पंजाब की बरनाला जेल से लाया गया था। डबवाली अदालत में पेश कर पूछताछ हेतु दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था।
सिरसा 04 जुलाई। जिला की ओढां पुलिस ने सेंधमारी की घटना में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी से चोरीशुदा सम्पत्ति भी बरामद कर ली है। पकड़े गए आरोपी की पहचान लक्खा सिंह पुत्र बाबू सिंह निवासी जलालआना के रूप में हुई है। इस सम्बंध में रणजीत सिंह पुत्र करतार सिंह निवासी जलालआना की शिकायत पर भादंसं की धारा 457/380 के तहत अभियोग दर्ज हुआ था। पुलिस को दर्ज करवाई शिकायत में बताया गया था कि आरोपी ने उसके मकान का ताला तोड़कर बीती 2 जुलाई की रात्रि को घरेलू सामान चुरा लिया।

17 रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन आमंत्रित किए
हिसार
  4 जुलाई, 2011-गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के दूरवर्ती शिक्षा विभाग ने 17 रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। विश्वविद्यालय के दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय द्वारा संचालित सभी पाठ्यक्रम दूरवर्ती शिक्षा परिषद् द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। विद्यार्थी अधिक जानकारी के लिए विवरणिका को विश्वविद्यालय की वैबसाईट 222.द्दद्भह्वह्यह्ल.ड्डष्.द्बठ्ठ  से डाऊनलोड कर सकते हैं।
विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ एमएल रंगा ने बताया कि एमबीए, एमसीए (तीन वर्षीय) व एमसीए (पांच वर्षीय इंटीग्रेटिड) के पाठ्यक्रमों में दाखिला लेने के लिए 10 सितम्बर 2011 को 2 बजे से सांय 3:30 बजे तक विश्वविद्यालय के दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय द्वारा सम्बद्घित मान्यता प्राप्त स्टडी सैंटरस पर एक प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाएगा जो कि दूरवर्ती शिक्षा परिषद् के नियमों के पालन के अन्तर्गत अनिवार्य है। उन्होने बताया कि अगर जरूरत पड़ी तो 9 अक्तूबर व 6 नवम्बर को भी एक प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। डॉ रंगा ने बताया कि एमबीए व एमसीए-त्रिवर्षीय और एमसीए-पंचवर्षीय इंटेग्रेटिड कोर्स के लिए अलग-अलग प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।
कुलसचिव प्रो आरएस जागलान ने बताया कि दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय ने एमएससी कम्प्यूटर साईंस, एमसीए, एमसीए (पंाच वर्षीय इंटीग्रेटिड), एमए मास कम्यूनिकेशन, एमए मास कम्यूनिकेशन लेट्रल एंट्री, मास्टर ऑफ इन्श्योरेंस बिजनेस, एमबीए, एमबीए (लेट्रल एंट्री), मास्टर ऑफ कामर्स, एमएससी मैथेमेटिक्स, पीजी डिप्लोमा इन कम्प्यूटर एप्लीकेशन, पीजी डिप्लोमा इन इनवायर्नमैंटल मेनेजमैंट, पीजी डिप्लोमा इन टेक्सेशन, पीजी डिप्लोमा इन एडवर्टाईजिंग एंड पब्लिक रिलेशनस, पीजी डिप्लोमा इन बेकरी साईंस एंड टैक्नोलाजी, पीजी डिप्लोमा इन काऊंसलिंग एंड बिहेवियर मोडिफिकेशन, पीजी डिप्लोमा इन इन्डस्ट्रीयल सेफटी मेनेजमैंट, बीबीए, बीए मास कम्यूनिकेशन के पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं।
दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो एमएस तुरान ने बताया कि विश्वविद्यालय के 176 मान्यता प्राप्त स्टडी सैन्टरस हैं।  उन्होंने आगे बताया कि इच्छुक विद्यार्थी अपना आवेदन पत्र स्टडी सैन्टरस व सीधा विश्वविद्यालय में भी भेज सकते हैं।  आवेदन फार्म सामान्य वर्ग के लिए 400 रूपये व हरियाणा के अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के लिए 100 रूपये में विश्वविद्यालय के दूरवर्ती शिक्षा निदेशालय से प्राप्त किया जा सकता हैं।

डा. अशोक तंवर 8 जुलाई को गांव किरढान में इंदिरा आवास योजना के तहत लाभार्थियों को चैक वितरित करेगे
सिरसा
, 04 जुलाई : सिरसा लोकसभा क्षेत्र के सांसद एवं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव डा. अशोक तंवर 7 जुलाई को भारत लौटेगें और 8 जुलाई को जिला फतेहाबाद के गांव किरढान में इंदिरा आवास योजना के तहत लाभार्थियों को चैक वितरित करेगें। इसी दिन वे गांव किरढान में युवा क्लब द्वारा आयोजित रक्तदान व स्वास्थ्य शिविर का भी शुभारंभ करेगें। यह जानकारी देते हुए सांसद के निजी सचिव परमवीर सिंह ने बताया कि सांसद तंवर पिछले काफी दिनों से सरकारी कार्याे से विदेश यात्रा पर है और वे 7 जुलाई को भारत लौटेगें। उन्होंने बताया कि सांसद तंवर 13 जुलाई को प्रात: 11 बजे लघु सचिवालय स्थित रूम नं. 63 के कांफ्रेंस हॉल में जिला विजीलैंस एवं मोनिटरिगं कमेटी की बैठक लेगें व विभिन्न विभागों से जुड़े अधिकारियों को सम्बोधित करेगें।  उन्होंने बताया कि इसी प्रकार 14 जुलाई को सांसद तंवर फतेहाबाद के लघु सचिवालय में जिला विजीलैंस एवं मोनिटरिगं कमेटी की बैठक लेगें और जिला में किए गए कार्यो की समीक्षा करेगें।

श्री तारा बाबा कुटिया में शिवरात्रि पर्व को श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाया जाएगा
सिरसा
,4 जुलाई: प्रत्येक वर्ष की भांति इस साल भी श्री तारा बाबा कुटिया में शिवरात्रि पर्व को श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाया जाएगा। यह जानकारी  श्री तारा बाबा कुटिया के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा ने कुटिया परिसर में आयोजित तारा बाबा सेवकों की बैठक को संबोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि 28 जुलाई को भजन संध्या आयोजित की जाएगी। जिसमें विश्व प्रसिद्ध कव्वाल हमसर हयात और सुप्रसिद्ध भजन गायक मा.सलीम सहित अनेक भजन गायक भोले शंकर और बाबा तारा का सुंदर शब्दों में गुणगान करेंगे। श्री कांडा ने कहा कि इससे पूर्व 20 जुलाई से 28 जुलाई तक कुटिया परिसर में प्रतिदिन दोपहर 3 से 7 बजे तक माता कण्कैशवरी देवी अपने मुखारविंद से श्री राम कथा का वाचन करेंगी। उन्होंने बताया कि 29 जुलाई को प्रात: हवन यज्ञ और भण्डारे का आयोजन किया जाएगा। श्री कांडा ने श्रद्धालुओं से अनुरोध किया है कि शिवरात्रि पर्व पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में  स्वेच्छा से सेवा करने के लिए अपनी उपस्थिति दर्ज करवाएं व कुटिया में अपना नाम व मोबाइल नम्बर अंकित करवाए । उन्होंने बताया कि इस भव्य धार्मिक कार्यक्रम के दौरान कलकत्ता से आए कलाकार सुंदर व भव्य झांकियां प्रस्तुत करेंगे। श्री कांडा ने बताया कि 20 से 29 जुलाई तक आयोजित होने वाले इस धार्मिक कार्यक्रम में श्रद्धालुओं को शहर के विभिन्न हिस्सों और ग्रामीण क्षेत्रों से लाने व ले जाने के लिए नि:शुल्क वाहनों की व्यवस्था की गई है। श्री कांडा ने इस बैठक में उपस्थित बाबा के सेवकों से सुझाव मांगे और उन्हें 17 जुलाई को सांय सात बजे कुटिया पहुंचकर शिवरात्रि पर्व की तैयारियां हेतु होने वाली बैठक में उपस्थिति दर्ज करवाने का आह्वान किया। इस बैठक में नेमी चंद गुर्जर, सुशील डूंगा-बूंगा, निर्मल कांडा, बंटी बांसल, भूपेश गोयल, कृष्ण मुंजाल, तरसेम गोयल, पण्डित कमल शर्मा, राजू सैनी, अनिल बांगा सहित अनेक भक्तजन मौजूद थे।

खबरदार नहीं कोई भी पहरेदार
चोरी व अपराधिक जैसी वारदात होने का खतरा
बिज्जूवाली,
4 जुलार्ई ( हेमराज बिरट )। क्षेत्र में बढ़ रहे चोरी व अपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए बीते कई माह पूर्व उपायुक्त महोदय के आदेशानुसार चलाए गए विशेष अभियान के तहत पुलिस ने गांवों के सरपंचों को अपने-अपने गांवों में ठीकरी पहरा लगाने के आदेश दिए थेे, ताकि क्षेत्र में होने वाली चोरी सहित अनेक घटनाओं पर शिकंजा कसा जा सके। लेकिन पिछले कुछ दिनों से गांव बिज्जूवाली में ठीकरी पहरा लगना बंद हो चुका है, जिसके कारण गांव मेें कोई अनहोनी घटना होने का खतरा बना हुआ है, अगर गांव कोई ऐसी-वैसी घटना हो गई तो उसका जिम्मेदार कौन होगा ? बिज्जूवाली बस स्टैंड के दुकानदारों का कहना है कि गांव में पहरेदारों द्वारा अपनी ड्यूटी को सही ढंग से न निभाने के चलते गांव में पहरा बंद करवा दिया गया है। जानकारी के अनुसार बिज्जूवाली बस स्टैंड पर स्थित दुकानदारों की तरफ से हर रोज तीन दुकानदारों की पहरे की बारी होती है, लेकिन इनमें से कुछ दुकानदार पहरा लगाने की के लिए आनाकानी करते हैं, जिस कारण जो दुकानदार सही ढंग से अपनी पहरे की ड्यूटी निभाते थे, उन्होंने भी पहरा लगाना बंद कर दिया है। सुत्रों के अनुसार ठीकरी पहरा इसलिए लगवाया जाता है, ताकि कोई भी असामाजिक तत्व के लोग अप्रिय वारदात ना कर सके। अब इस तरह से गांवों में ठीकरी पहरा ना लगने से असामाजिक तत्वों को चोरी व अपराधिक जैसी वारदाताओं को अंजाम देने का मौका मिल जाता है। उसी के मध्यनजर जिला प्रशासन द्वारा गांवों में ठीकरी पहरा लगवाया जाता है। ताकि क्षेत्र में कानून व्यवस्था व शांति बनी रहे और लोगों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। ग्रामिणों ने बताया कि क्षेत्र में आए दिन चोरी जैसी घटनाएं हो रही है, लेकिन पुलिस प्रशासन इन पर कार्यवाही करने की वजाए हाथ पे हाथ धरे बैठा है। बिज्जूवाली के ग्रामिणों पुलिस प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द गांव में पहरा शुरू करवाया जाए ताकि गांव में शांतिप्रिय माहौल बना रहे।
सरपंंच राजाराम बिरट से बात की तो उन्होंने बताया कि किसी कारणबंश गांव में पहरा बंद करवा दिया गया है, लेकिन जल्द ही पहरेदारों से मिल कर पहरा दोबारा शुरू करवाया जाएगा।
क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी:
जब सदर थाना डबवाली के प्रभारी रतन सिंह सेे बात की गई तो उन्होंने कहा कि वे इस बारे में गोरीवाला पुलिस को आदेश देंगे की जल्द ही गांव बिज्जूवाली में रात के पहरे को फिर से शुरू करवाया जाए।
गोरीवााला पुलिस चौकी के प्रभारी से बात की गर्ई तो उन्होंने कहा कि सरपंच को कह कर समस्या का हल करवाया जाएगा।

प्रतियोगिता के पहले दिन शाह सतनाम पुरा व नगर का रहा दबदबा
ओढ़ां
-शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फैयर फोर्स ङ्क्षवग के गर्व दिवस को लेकर सोमवार को शाह सतनाम जी किकेे्रट स्टेडियम जलालआना में दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता शुरू हुई। इस प्रतियोगिता में दारेवाला, चक्कां, ऐलनाबाद, रानियां, लिटिल रोजिज, बटरलायन, शाह सतनाम पूरा, शाह सतनाम जी नगर, चामल, जलालआना और डबवाली ब्लाकों सहित 17 टीमों ने भाग लिया। इस मौके पर मुख्यातिथि के रूप में ओढ़ां थाना प्रभारी निरीक्षक हीरा सिंह व विशिष्ट अतिथि के रूप में श्री जलालआना के पूर्व सरंपच जगराज सिंह उपस्थित हुए।
    प्रतियोगिता का शुभारम्भ मुख्यातिथि ने पहली गेंद खेलकर किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि खेेलों से जहां हमारा मानसिक व शारीरिक विकास होता वहीं खेलों से प्रेम व भाईचारा की भावना उत्पन होती है। उन्होंने शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फैयर फोर्स विंग के जवानों की प्रसशां करते हुए कहा कि देश व प्रदेश में जब भी मानवता की सेवा के लिए जरूरत महसूस हुई है वहां इन्होंने बढ़ चढकर भाग लिया है। वहीं विशिष्ट अतिथि पूर्व सरपंच जगराज सिंह ने भी अपने सम्बोधन में खिलाडिय़ों को सम्बोन्धित करते हुए कहा कि बड़े हर्ष का विषय है कि उनके गांव में खेलों का आयोजन हुआ है।
    प्रतियोगिता के आरम्भ में शाह सतनाम पूरा व दारेवाल ब्लाक के मध्य किके्रट मुकाबला हुआ जिसमें दारेवाला की टीम ने टॉस जीतकर पहले फिल्ंिडग करने का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए शाह सतनाम पूरा की टीम ने निधार्रित 10 ओवरों में कुल 99 रनों का लक्ष्य रखा जिसमें अमित 36 गेंदों में 7 चौकों की मदद से 51 बनाकर नाबाद रहे। जिसके जवाब में दारेवाला की टीम मात्र 53 रन ही जुटा पाई। इस मैच को शाह सतनाम पूरा की टीम ने 47 रनों से जीत लिया। दूसरा मैच शाह सतनाम जी नगर व डबवाली के मध्य हुआ जिसमें शाह सतनाम जी नगर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 88 रन बनाए जिसके मुकाबले में डबवाली ब्लाक की टीम ने लक्ष्य का पीछा करते हुए मैच को अति रोंमाचक बना दिया, परंतु डबवाली टीम को 6 रनों से हार का सामना करना पड़ा। ये मैच शाह सतनाम जी नगर ने 1 विकेट से जीतकर मैच पर अपना कब्जा जमाया। कबड्डी मुकाबले में सिरसा व कल्याण नगर के बीच मैच हुआ जिसमें सिरसा की टीम ने कल्याण नगर को 17 अकों से हराकर प्रथम स्थान हासिल किया। महिलाओं की 100 मीटर दौड़ में चक्कां की सुमन ने 14 सैंकड में लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जबकि सीमा कल्याण नगर ने दूसरा व मन्जू चक्कां ने तीसरा स्थान हासिल किया। लौंग जैम्प में कल्याण नगर की सीमा ने 10 फीट 9 ईंच की लम्बी कूद लगाकर प्रथम स्थान हासिल किया, ऐलनाबाद की लखबिन्द्र ने 10 फीट 8 ईंच, कल्याण नगर की दलजीत इन्सां ने 9 फीट 5 ईंच की छलांग लगाकर कम्रश: प्रथम व द्वितीय स्थान हासिल किया। समाचार लिखे जाने तक महिलाओं में शाटपुट व पुरूषों में वालीवाल में सरसा व कल्याण नगर तथा फुटबाल में कल्याण व डबवाली के बीच मैच जारी था। इस मौके पर पूर्व सरपंच जमनादास, पूर्व सरपंच हरगोबिन्द सिंह, पूर्व सरपंच जसवन्त सिंह, पूर्व सरपंच ईशर सिंह, नम्बरदार राजेन्द्र सिंह, पंच गौरा सिंह, अवतार सिंह, गुरमेल सिंह, जगरूप सिंह, रणजीत सिंह, ब्लाक समिति सदस्य जगसीर सिंह, मोहकम सिंह, कमेटी सदस्य मक्खन सिंह और औमप्रकाश पटवारी सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

सौ सौ गज के प्लाट देने की मांग
ओढ़ां
-खंड कार्यालय ओढ़ां में गांव कालांवाली की विधवा व अनुसूचित जाति की महिलाओं ने सौ सौ गज के प्लाट आवंटित न किए जाने पर रोष व्यक्त करते हुए प्रदर्शन किया और प्लाट देने की मांग की। वार्ड नंबर दो गांव कालांवाली की नसीब कौर, अंग्रेज कौर, अंगूरी देवी, बलबीर कौर, लक्ष्मी देवी, चमेली, बिल्लू सिंह, लाभ सिंह और बंता सिंह आदि ने बताया कि सरपंच ने पक्षपात करते हुए अपने चहेतों को सौ सौ गज के प्लाट दे दिए और उनके नाम रजिस्ट्री भी करवा दी लेकिन उन्हें प्लाट नहीं दिए गए जो इसके असली हकदार हैं। उन्होंने खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ओढ़ां बलराज सिंह को अपने पीले व गुलाबी राशन कार्ड दिखाते हुए मांग की कि उन्हें भी सौ सौ गज के प्लाट दिए जाएं ताकि वे अपने मकान बना सकें।
    खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी बलराज सिंह ने सभी की मांगों को ध्यान से सुनते हुए उन्हें समझाया कि गांव कालांवाली में कुल 155 प्लाटों की रजिस्ट्री करवाई गई है जो कि पूर्व पंचायत के समय दो वर्ष पहले काटे गए थे। उसके बाद किसी भी गांव में प्लाट नहीं दिए गए हैं और भविष्य में सरकार के निर्देशानुसार जब भी प्लाट दिए जाएंगे तब आपको भी प्लाट दे दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आप उपायुक्त महोदय सिरसा से मिलकर अपनी मांग रख सकते हैं और वे जैसा भी आदेश देंगे उसी के अनुसार प्लाट दे दिए जाएंगे।

>local sirsa news सिरसा समाचार

3 जुलाई

>

मदर एण्ड चाइल्ड ट्रेकी नामक सॉफटवेयर तैयार किया गया
सिरसा,
3 जुलाई। प्रदेश में कन्या भ्रुण हत्या पर शत प्रतिशत अंकुश लगाने, माता तथा बच्चे के स्वास्थ्य की जांच के उदे्दश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा मदर एण्ड चाइल्ड ट्रेकी नामक सॉफटवेयर तैयार किया गया है। जिसे सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में बने कम्प्युटर सेंटरों में अपलोड भी कर दिया गया है और प्रदेश के 10 जिलों के बाद अब उपरोक्त साफॅटवेयर के तहत सिरसा जिला में भी कार्य शुरू कर दिया गया है ।
     इस सम्बंध में जिला के उपायुक्त  डा0 युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बातचीत की और  इस सॉफटवेयर के माध्यम से जिला में सभी गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत पंजीकरण करने के निर्देश दिए।
    उन्होंने बताया कि मदर एण्ड चाइल्ड ट्रेकी साफॅटवेयर सेे माताओं , बच्चो तथा गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण करने में आशा वर्कर, ए .एन. एम तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन सभी कर्मचारियों और कार्यकर्ताओं का सम्बंधित क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं की पहचान कर उनका पंजीकरण करने के लिए फार्म भी वितरित कर दिए गए है।  ये कर्मचारी और आंगवाड़ी कार्यकर्ता सम्बधित क्षेत्रों में जाकर गर्भवती महिलाओं की पहचान कर फार्म भरने का कार्य करेगे। जिससे निरंतर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के कम्पयुटरों में फीड कर ऑनलाइन किया जाएगा,  जिसकी नवीनतम जानकारी सिविल सर्जन कार्यालय के साथ साथ पंचकू ला स्थित स्वास्थ्य विभाग के मुख्यालय में भी अपडेट रहेगी। विभागीय अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से जानकारी प्राप्त कर  भ्रुण हत्या जैसे मामलो , गर्भवती महिलाओं , माताओं और बच्चों के स्वास्थ्य से सम्बंधित प्रभावी कदम उठाए जा सकेगे।
       डा0 ख्यालिया ने बताया कि इस समय जिला में गर्भवती महिलाओं की पंजीकरण दर 78 प्रतिशत तक है। इस साफॅटवेयर द्वारा कार्य शुरू करनें के बाद गर्भवती महिलाओं की पंजीकरण दर शत प्रतिशत होगी। उन्होंने बताया कि जिन गर्भवती महिलाओं माताओं व बच्चों का साफॅटवेयर के माध्यम से पंजीकरण होगा उन सब की स्वास्थ्य की जांच सुनिश्चत करने के लिए समय समय पर  विभागीय अधिकारियों द्वारा टीकाकरण आदि के लिए विभागीय टीम को भेजा जाएगा जो सुनिश्चत करेगी की गर्भवती महिला व बच्चों को समय पर टीकाकरण व वैक्सीन आदि की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। इसका ब्यौरा भी साफॅटवेयर के माध्यम से कम्प्युटर में फीड होगा।
    उन्होंने बताया कि गर्भवती महिलाओं को समय पर टीका करण करने के साथ साथ पैदा होने वाले बच्चे की 14 वर्ष की आयु तक स्वास्थ्य की जांच व विभिन्न बीमारियों से बचाव  के लिए किए जाने वाले टीकाकरण आदि का ब्यौरा रखा जाएगा, जिसे विभाग के उच्चाधिकारी  समय समय पर ट्रैक करते रहेगे और आवश्यकता पडऩे पर विशेष क्षेत्रों में विभागीय टीमे भेज कर कार्यवाही भी की जा सकेगी। उन्होंने बताया कि जिला में कन्या भ्रुण हत्या को रोकने के उदेदश्य से  पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत भी कार्यक्रम भी चलाया जाएगा जिसमें 50 लाख रूपए तक की राशि खर्च की जाएगी। पुरे वर्ष भर विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं का सहयोग लेकर  नुक्कड़ नाटको व अन्य सामाजिक कार्यक्रमों के माध्यम से आमजन को कन्या भ्रण हत्या के दुष्परिणामों की जानकारी दी जाएगी।

100- 100 वर्ग गज के सभी प्लाटों की रजिस्ट्री अगामी 10 जुलाई तक करना सुनिश्चित किया
सिरसा
,3 जुलाई। उपायुक्त डा0 युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने  जिला के सभी विकास एवं पंचायत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती योजना के तहत नि:शुल्क वितरित किए गए 100- 100 वर्ग गज के सभी प्लाटों की रजिस्ट्री अगामी 10 जुलाई तक करना सुनिश्चित किया है।ं। डा0 ख्यालिया आज स्थानीय कै म्प कार्यालय में अधिकारियों की बैठक ले रहे थे इस बैठक में विकास व पंचायत विभाग सिंचाई, राजस्व,जनस्वास्थ्य,लोक निर्माण विभाग, नगर परिषद नगर पलिकाओं के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में उपमण्डल अधिकारी नागरिक सिरसा श्री रोशन लाल तथा उपमण्डल अधिकारी नागरिक डबवाली श्री मुनीश नागपाल ने भी शिरकत की।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि जिला में महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती योजना को भी प्रभावी रूप से क्रियान्वित किया जा रहा है। इस योजना के तहत अभी तक जिला के 270 गांवों में 28665 परिवारों को 100-100 गज के प्लाट नि:शुल्क उपलब्ध करवा दिए गए हैं जिनमें से 10393 परिवारों को प्लाटों की गिफ्ट डीड भी करवा दी गई है। उन्होंने विकास एवं पंचायत अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आगामी 10 जुलाई तक सभी प्लाटधारकों को सभी औपचारिकताएं पूरी करके उनकी प्लाट कब्जे व गिफ्ट डीड संबंधित सभी औपचारिकताएं पूरी करें। 
    उन्होंने कहा कि सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी  परिपत्र के अनुपालना में निर्धारित कि गई 15 विभिन्न प्रकार की सेवाऐं या मामलों का निपटारा निश्चित समय अवधि में किया जाना चाहिए। उन्होंनें बताया कि जन साधारण को दी जाने वाली 15 विभिन्न सेवाओं की सूची प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा तैयार की गई है जिनमें प्रत्येक  सेवा के लिए समय सीमा निर्धारित की गई है और  प्रत्येक मामले में अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित करने के साथ साथ शिकायते प्राप्त करने एवं  मॉनीटरिंग के लिए जवाबदेह बनाया गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सम्बंधित कार्यालयों में 15 सेवाओं से सम्बंधित आवेदनों का ब्यौरा कम्पयुटराईज़ रखे ताकि आवेदक को भी अपने कार्य की स्थिति का पता चल सके।
    उन्होंने जिला में बाढ़ बचाव कार्यो की भी समीक्षा की और सिंचाई व अन्य विभाग के अधिकारियों को सम्बंधित क्षेत्रों में बाढ़ बचाव कार्यो प्रबंधो को  पुख्ता करने के निर्देश दिए । उन्होंने अधिकरियों केा सरकारी व पंचायती जमीन से कब्जे हटवानें के लिए भी सख्त लहाजे में निर्देश दिए। उन्होंने जिला में इंदिरा बाल स्वास्थ्य योजना का चौथी चरण को प्रभावी तरीके से शुरू करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को  कहा । इस योजना के तहत चौथे चरण की शुरूआत अगामी 5 जूलाई से शुरू की जा रही है । इस बारे में विभागीया अधिकारियों द्वारा तैयार की गई रूप रेेखा की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होने कहा कि जिला में इंदिरा बाल स्वास्थ्य योजना के सफल क्रियान्वयन  के लिए शिक्षा विभाग द्वारा एवं  सर्वशिक्षा के साथ मिल कर प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा जिसमें स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर शिक्षा विभाग के अध्यापको  को बच्चों में एनीमिया, अपंगता व अन्य रोगो की पहचान से सम्बधित प्रशिक्षण देगे । यह प्रशिक्षण कार्यक्रम खण्ड स्तर पर आयोजित होगा उन्होने  इस बैठक में मुख्यमंत्री द्वारा की गई विकासात्मक योजनाओं पर चल रहे कार्यो की भी समीक्षा की।

सिरसा के नौ खिलाडिय़ों का चयन होने पर सिरसावासियों को बधाई दी
सिरसा,
03 जुलाई।  हरियाणा प्रदेश कांगे्रस कमेटी के प्रतिनिधि गोबिंद कांडा ने बैंगलोर में आयोजित हो रहे हॉकी के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में सिरसा के नौ खिलाडिय़ों का चयन होने पर सिरसावासियों को बधाई दी है। श्री कांडा आज शू -कैंप कार्यालय में जनसमस्याएं सुनने के बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।
    श्री कांडा ने कहा कि इस प्रशिक्षण शिविर में भाग ले  रहे पूरे देश के तीस खिलाडिय़ों में से सिरसा जिला के नौ खिलाडिय़ों का चयनित होना हरियाणा के लिए गौरव की बात है। उन्होंने विश्वास जताया कि जुलाई के अंतिम सप्ताह में घोषित होने वाली हॉकी की राष्ट्रीय टीम में सबसे ज्यादा खिलाड़ी सिरसा जिला के ही होंगे। गोबिंद कांडा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की खेल नीति के फलस्वरुप हरियाणा के खिलाडिय़ों ने राष्ट्र मंडल और एशियाड खेलों में पदकों की झड़ी लगा दी थी। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों की मेहनत और सरकार की नीतियों के कारण आज हरियाणा राज्य का नाम देश और पूरी दुनिया में रोशन हुआ है। श्री कांडा ने कहा कि सिरसा के युवाओं को खेलों की ओर आकर्षित करने के लिए गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा के प्रयासों से दर्जनों गांवों में खेल स्टेडियम और जिम का निर्माण करवाया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि 25 दिसंबर 2010 को खिलाडिय़ों को समर्पित किया गया, शहीद भगत सिंह खेल स्टेडियम में करोड़ों रुपये की लागत से बना हॉकी का एस्ट्रोटर्फ मैदान खिलाडिय़ों की प्रतिभा को निखारने में सहायक सिद्ध होगा। इस अवसर पर कृष्ण सैनी, मक्खन सिंह ख्योवाली, सूरत सैनी, सज्जन कुलडिया, राजेंद्र मकानी, भूपेश गोयल, जिला कांगे्रस महासचिव रानी रंधावा, नवीन मेहरा, मि_ू राम ऐडवोकेट, भालचंद भाटीवाल सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

पुलिस समाचार
सिरसा ।  जिला के सदर थाना के अन्र्तगत आने वाली मल्लेकां पुलिस चौकी ने दहेज  प्रताडऩा के मामले में  जांच करते हुए घटना के एक आरोपी मुख्तयार सिंह पुत्र नारायण दास निवासी नटार को गिरफतार कर लिया हेेेेेैै  पकडे गए आरोपी को आज सिरसा आदालत में डयूटी मजिस्ट्रेट सुधीर परमार के समक्ष पेश किया गया, जहा आरोपी को न्यायिक हिरासत में सिरसा जेल में भेजा गया है।  मामले की जानकारी देते हुए जाँच अधिकारी सहायक उपनिरीक्षक छबील दास ने बताया कि इस संबध में सुनीता रानी पुत्री दर्शन राम निवासी मौजदीन की शिकायत पर पति कुलदीप सिंह, ससुर मुख्तयार सिंह व सास सीता बाई के खिलाफ भादंसं की धारा 323, 498 ए, 406 व 34 के तहत थाना सदर सिरसा में अभियोग दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि इस मामले में पीडि़ता के ससुर मुख्तयार सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पति कुलदीप सिंह और सास सीतो बाई को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
सिरसा। जिला की औढां पुलिस ने चोरी की चार घटनाओं में वांछित एक आरोपी को पंजाब की बरनाला जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी संजय पुत्र पप्पु निवासी कोठा महासिंह जिला बठिंडा पंजाब को डबवाली अदालत में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया है।
    इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए जांच अधिकारी सहायक निरीक्षक कश्मीरी लाल ने बताया कि आरोपी औढां थाना क्षेत्र के गांव जंडवाला जटान में बीती 20 अप्रेल को हुई चोरी की चार वारदातो में ंवांछित था। । उन्होंने बताया कि इस घटना में शामिल 12 आरोपियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चूकी है।
सिरसा। शहर डबवाली पुलिस ने  अदालत के आदेश पर दर्ज दहेज प्रताडऩा के मामले में पीडि़ता की सास अविनाश कुमारी पत्नी हरमेश निवासी सालमसर जिला मोगा को गिरफ्तार कर शामिल तफ्तीश किया गया है। मामले के जांच अधिकारी उपनिरीक्षक कृष्ण कुमार ने बताया कि हरमिंद्र कौर पुत्री अवतार सिंह निवासी वार्ड नंबर तीन डबवाली ने अदालत में इस्तगाशा दायर कर पति सहित छह लोगों पर दहेज प्रताडऩा का आरोप लगाया था। उन्होंने बताया कि बीती 28 मई को भादंसं की धारा 498ए, 406, 504,506 व 323 के तहत आरोपियों के विरुद्ध अभियोग दर्ज किया गया था। जांच अधिकारी ने बताया कि इस मामले में पीडि़ता के पति नरेश कुमार पुत्र हरमेश को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।    

शहरी कांग्रेस कमेटी ने किया शोक व्यक्त
मण्डी डबवाली
3 जुलाई- आज ब्लाक कांग्रेस कमेटी मण्डी डबवाली (शहरी) की एक बैठक अध्यक्ष पवन गर्ग की अध्यक्ष्ता हुई। इस बैठक में हरियाणा के मुख्यमन्त्री चैधरी भुपेन्द्र सिंह हुड्डा के पूर्व विशेष कार्यधिकारी डा.के.वी.सिंह के छोटे भाई ओमवीर सिंह सिहाग की धर्मपत्नि मुन्नी देवी के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया गया तथा उन्हे भावभीनी श्रद्वान्जली अर्पित की गई। बैठक में वक्ताओं ने मुन्नी देवी को एक धार्मिक प्रवृति की महिला बताते हुए कहा कि उन्होने अपने जीवन में अपनी सभी जिम्मेदारीयों का बाखुबी निर्वहन किया। बैठक मे उपस्थित सभी कांग्रेसजनो ने दो मिनट का मौन रखकर दिवगंत आत्मा की शान्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। इस शोक सभा में पूर्व प्रधान रामजीलाल, नवरतन बांसल,कर्मचन्द शर्मा, मदन भाम्बु,बख्तावर मल दर्दी,केशव शर्मा,लेखराज धमीजा,ईश्वरदास गांधी,सुरेन्द्र सिंह ठेकेदार,गिरधारी लाल गुप्ता बीमेवाले,बाबुराम वर्मा,गुरतेज सिंह सोनी,बिशम्बर दयाल मेहता,जयचन्द रहेजा,मास्टर जगदीश शर्मा,रविन्द्र गिगा,सतनाम सिंह नामधारी,बिमला महाशा,सुखमन्द्र सिंह प्रधान,सतपाल सिंह सत्ता,मूलचन्द जोईया,संजय मिढा,जसविन्द्र सिंह राणा,जितेन्द्र सिंह खैरा,गुरबचन सिंह मिस्त्री,रविन्द्र बिन्दू,चंचल कम्बोज,मनफूल डाबड़ा व डा.सिंह के निजी सचिव बजरंग थालोड़ आदि उपस्थित थे।

खड़ी बस से कार टकराई चालक घायल
ओढ़ां
-गत रात्रि नई अनाज मंडी के निकट एक खड़ी बस में कार के टकराने से कार चालक घायल हो गया जिसे सिरसा से गुडग़ांवा रैफर कर दिया गया है। शनिवार की शाम डेरा सच्चा सौदा जा रही एक निजी बस टायर पंक्चर हो जाने के कारण एक साइड में खड़ी थी कि सिरसा से बठिंडा जा रही एक इंडिका कार के चालक को नींद की झपकी आ जाने से कार बस से जा टकराई जिस कारण कार चालक 37-38 वर्षीय विरतपाल सिंह के सिर में चोट आई और पसली टूट गई। घायलावस्था में चालक को बस में सवार डेरा प्रेमियों ने ओढ़ां अस्पताल पहुंचाया जहां डॉ. जसकीरत सिंह ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे सिरसा भेज दिया जहां से गुडग़ांव रैफर कर दिया गया। ओढ़ां पुलिस मौके पर पहुंची, सुभाषचंद्र एएसआई ने बताया कि अभी उनके पास घायल की ओर से कोई रूक्का नहीं आया है।

बदली जा रही हैं तीन दशक पुरानी तारें
ओढ़ां-
गांव बनवाला में नलकूप वाले किसानों साहिब राम नंबरदार, बनवारी लाल, रिसाल जाखड़, हनुमान दास, प्रवीण कुमार, भूप सिंह, आत्माराम, पूर्व सरपंच महावीर सिंह, ललित नंबरदार और सुरेंद्र कुमार आदि ने बताया कि बिजलीघर रिसालियाखेड़ा से नलकूपों के लिए आने वाली लाइन लगभग तीन दशक पूर्व डाली गई थी जो कि अब जर्जर हो चुकी है और उस समय के मुकाबले अब नलकूपों की संख्या भी काफी बढ़ गई है इसलिए उन्हें पूरी बिजली नहीं मिल पाती तथा कई बार लाइन खराब हो जाती है। उन्होंने मांग की कि तारे बदली जाएं। इस विषय में डबवाली के एसडीओ गुलशन वधवा ने बताया कि रिसालियाखेड़ा बिजलीघर से बनवाला तक 11 हजार वोल्ट की 9 किलोमीटर के लगभग लाइन की नई तारें डालने का कार्य जारी है। उन्होंने बताया कि हरियाणा बिजली विभाग के अनुसार इन तारों को बदलना जरूरी था क्योंकि यह 11 हजार वोल्ट की लाइन 1973 और 1987 में लगाई गई थी जो अधिक लोड होने के कारण जर्जर हो चुकी थी। उन्होंने बताया कि इसके अंतर्गत अढ़ाई सौ नलकूप व ढानियां आती हैं और तारें बदलने के बाद किसानों को काफी राहत मिलेगी।

>local sirsa news सिरसा समाचार

2 जुलाई

>

कपास फसल के अधिक उत्पादन व बिक्री से 32 करोड़ 10 लाख 17 हजार 696 रुपए की राशि राजस्व के रूप अर्जित की गई जो एक रिकॉर्ड है
सिरसा
, 2 जुलाई :     सिरसा जिला में गत वर्ष खरीफ फसलों में सबसे अधिक मार्केट फीस व एचआरडीएफ कपास फसल के अधिक उत्पादन व बिक्री से 32 करोड़ 10 लाख 17 हजार 696 रुपए की राशि राजस्व के रूप अर्जित की गई जो एक रिकॉर्ड है।  यह राजस्व अर्जन कपास फसल में हरियाणा में सबसे अधिक है। जिला की विभिन्न मंडियों में 800 करोड़ से भी अधिक की कपास फसल की बिक्री हुई जिससे किसानों के चेहरों पर और रौनक तो आई ही है प्रदेश के राजस्व में बढ़ौतरी होने से राज्य के विकास को भी गति मिली है। कपास फसल के उत्पादन से जहां राज्य के राजस्व में रिकॉर्ड वृद्धि हुई वहीं जिला में विभिन्न क्षेत्रों में व्यापार की संभावनाएं भी बढ़ी है।
    कपास की अच्छी पैदावार व अच्छे मूल्य को देखते हुए इस बार सिरसा जिला में दो लाख 10 हजार हैक्टेयर भूमि पर कपास फसल की बिजाई की गई है। विभाग द्वारा रखे गए लक्ष्य से भी अधिक भूमि पर कपास फसल की बिजाई की गई। गत वर्ष जहां 1 लाख 89 हजार हैक्टेयर भूमि पर कपास फसल की बिजाई की गई थी इस बार कपास के क्षेत्र में इस बार 21 हजार हैक्टेयर भूमि पर अधिक कपास की बिजाई की गई है। पूरे राज्य में पांच लाख 98 हजार हैक्टेयर भूमि पर कपास फसल की बिजाई की गई जबकि अकेले सिरसा जिला में  35 प्रतिशत से अधिक  कपास बिजाई का क्षेत्र कवर किया गया है। कपास के बिजाई क्षेत्र को देखते हुए फसल का उत्पादन बढ़ाने के लिए विभाग द्वारा लक्ष्य निर्धारित किया गया है विभाग द्वारा इस बार 24 क्विंटल प्रति हैक्टेयर उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है जबकि गत वर्ष 19.5 क्विंटल  प्रति हैक्टेयर का उत्पादन हुआ था।
    उपायुक्त श्री युद्धवीर सिंह ख्यालिया के अनुसार इस बार जहां कपास के क्षेत्र में बढ़ौतरी हुई है वहीं ग्वार व अन्य फसलों का बिजाई क्षेत्र कम हुआ है। उन्होंने बताया कि जिला में इस बार 50 लाख 40 हजार क्विंटल कपास उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। गत वर्ष कपास का जिला में रिकॉर्ड उत्पादन हुआ। हालांकि किसानों ने अपना कपास उत्पादन सिरसा जिला के अलावा फतेहाबाद की मंडियों में बेचा है। यदि किसान अपनी फसल सिरसा जिले की मंडियों में बेचते तो जिला से और अधिक राजस्व की प्राप्ति होती।
    उन्होंने बताया कि इस बार भी कपास फसल के अनुकूल मौसम चल रहा है और विभाग द्वारा अच्छे उत्पादन के लिए सभी प्रकार के प्रबंध किए गए हैं। विभाग द्वारा आईसीडीपी व अन्य विभागीय योजनाओं के तहत फार्मर्स फील्ड स्कूलों का आयोजन किया जा रहा है। जिला में अब तक 400 फार्मर फील्ड स्कूल आयोजित किए गए हैं जिनमें 30-30 किसानों को विभागीय योजनाओं के तहत इन्पुट्स व कृषि उपकरण दिए जा रहे हैं।
    उप-कृषि निदेशक श्री जगदीप बराड़ ने किसानों को सलाह दी है कि बीटी कॉटन की अच्छी पैदावार लेने के लिए कृषि वैज्ञानिकों व कृषि विभाग के अधिकारियो की सलाह से फसल प्रबन्धन पर कार्य करें। उन्होंने कहा कि किसानों को कपास की एक एकड़ फसल में एक थैला डीएपी, 40 किलोग्राम पोटाश, 10 किलोग्राम जिंक सल्फेट डालना चाहिए। जिनकी फसल एक से डेढ माह की हो गई है वे अपनी फसल में बारिश के साथ-साथ पहले सिंचाई के समय की बची हुई डीएपी की मात्रा को खाद बिजाई मशीन द्वारा  खुड्डों को ड्रिल करें।

धान उत्पादकों को पर्याप्त मात्रा में सिंचाई जल उपलब्ध करवाने के लिए धान की फसल के लिए अस्थाई मोगा नीति स्वीकृत की
सिरसा,
2 जुलाई।     हरियाणा सरकार ने चालू खरीफ मौसम के दौरान प्रदेश के धान उत्पादकों को पर्याप्त मात्रा में सिंचाई जल उपलब्ध करवाने के लिए धान की फसल के लिए अस्थाई मोगा नीति स्वीकृत की है जिसके तहत सिरसा जिला में अभी तक 350 से भी अधिक किसानों को धान फसल की सिंचाई के लिए अस्थाई मोगों की स्वीकृति के लिए आवेदन किया है। घग्घर नदी में पानी की उपलब्धतता के आधार पर किसानों को मोगों की स्वीकृति प्रदान कर दी जाएगी। उन आवेदकों को अस्थाई मोगे स्वीकृत किए जाने पर अधिमान दिया जाएगा जिनके पास मोगों के चाक क्षेत्र में नलकूप नहीं हैं।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि राज्य सरकार की नीति के अनुसार जिला में उत्तर घग्घर कनाल और दक्षिण घग्घर कनाल, ऐलनाबाद डिस्ट्रीब्यूटरी, किशनपुरा डिस्ट्रीब्यूटरी, सुरेरां डिस्ट्रीब्यूटरी, शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी, हिसार घग्घर डे्रन तथा कसाबा माइनर आदि माइनरों के माध्यम से धान उत्पादक किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि घग्घर नदी में ओटू वीयर तक इस समय 4 हजार क्यूसिक पानी बह रहा है जिसमें से 1500 क्यूसिक तक पानी विभिन्न डिस्ट्रीब्यूटरों के माध्यम से सिंचाई के लिए किसानों को दिया जा रहा है।
    उन्होंने बताया कि सिरसा जिला में नॉर्थ घग्घर कनाल और साउथ घग्घर कनाल के अलावा विभिन्न डिस्ट्रीब्यूटरियों के क्षेत्र में हजारों एकड़ धान की फसल में सिंचाई की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है जिससे कई क्षेत्रों में तो किसानों को धान की फसल पकाने के लिए ट्यूबवैल तक चलाने की जरूरत नहीं पड़ती जिससे किसानों को आर्थिक फायदा होने के साथ-साथ नहरी पानी मिलता है जिससे जमीन की उर्वरकता तो बढ़ती ही है साथ ही फसल उत्पादन में भी बढ़ौतरी होती है।
    सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री एसएस हुड्डा ने बताया कि घग्घर में सामान्य पानी बहने से किसानों को इन अस्थाई मोगों के माध्यम से 2.40 क्यूसिक प्रति हजार एकड़ पानी उपलब्ध करवाया जाता है। यदि घग्घर में सामान्य से अधिक पानी बहता है तो किसानों को 7.50 क्यूसिक प्रति हजार एकड़ पानी उपलब्ध करवाया जाता है जिससे किसानों को अतिरिक्त पानी की आवश्यकता नहीं पड़ती और किसानों की धान की फसल लगभग मुफ्त में पक जाती है।
    उन्होंने स्पष्ट किया कि अस्थाई मोगे तभी स्वीकृत किए जाते हैं जब नहरों के अंतिम छोर तक पानी की आपूर्ति सुनिश्चित हो। इस मानदण्ड को कड़ाई से लागू किया जाएगा और इसमें कोई छूट नहीं दी जाएगी। उन चैनलों पर मोगे नहीं दिए जाएंगे जिनके अंतिम छोर पर दो वर्षों के दौरान उचित एवं प्राधिकृत सिंचाई जल उपलब्ध नहीं था। अन्य किसानों को नियमित मोगों से प्राधिकृत पूर्ण आपूर्ति  सुनिश्चित होने पर ही अस्थाई मोगों में आपूर्ति की जाएगी। यदि किसानों द्वारा अस्थाई मोगों की स्वीकृति के लिए निर्धारित क्षेत्र के 50 प्रतिशत से कम क्षेत्र पर धान की बुआई करने पर उन्हें अगले वर्ष अस्थाई मोगों की अनुमति नहीं दी जाएगी।  इसके अतिरिक्त, 10 क्यूसिक तक की क्षमता वाले चैनलों पर मोगे नहीं दिए जाएंगे, बशर्ते खरीफ मौसम के दौरान चैनल की क्षमता में अतिरिक्त निकासी का प्रावधान किया गया हो। डिस्ट्रीब्यूटरी चैनल पर बनाए गए मोगों से जल की निकासी हैड के डिस्चार्ज से 10 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए। जहां तक संभव हो अस्थाई मोगों के तहत आने वाला क्षेत्र हैड से लेकर अंतिम छोर तक फैला होना चाहिए ।
    श्री हुड्डा ने बताया कि अस्थाई मोगों के तहत निर्धारित ब्लाक में चावल के अलावा अन्य फसलों की बुआई किये जाने के मामले में ऐसी फसलों पर चावल की खेती के लिए आबियाने की निर्धारित दरों के अतिरिक्त दरें लगाई जाएंगी। एक से अधिक आवेदकों द्वारा संयुक्त आवेदन दिए जाने के मामले में सभी आवेदकों के नाम पर मोगे स्वीकृत किए जाएंगे।  निर्धारित संख्या से अधिक मोगों के लिए आवेदन प्राप्त होने पर उस द्वारा नियुक्त किए जाने वाले कम से कम तीन राजपत्रित अधिकारियों की अनुपस्थिति में ड्रा निकाल कर निर्णय लिया जाएगा।
    उन्होंने कहा कि मोगों को न्यायोचित रुप से चलाया जाएगा ताकि उनके संचालन से क्षेत्र में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न न हो। उन चैनलज़ पर मोगों की अनुमति नहीं दी जाएगी जिनमें पानी की कुल उपलब्धता प्रणाली की सामान्य आवश्यकता से कम है। इसके अतिरिक्त उन माईनरज़ एवं कैनालज़ पर भी मोगों की अनुमति नहीं होगी जहां अंतिम छोर तक पानी न पहुंचने की समस्या है। इसके अतिरिक्त उनके द्वारा उस नहरी सिंचाई क्षेत्र में पारम्परिक, अस्थाई या नए मोगों की अनुमति या सिफारिश नहीं की जाएगी, जहां किसानों द्वारा साठी धान की बुआई की गई है। ऐसे सभी मोगों को रद्द कर दिया जाएगा क्योंकि राज्य सरकार द्वारा साठी धान की बुआई पर पहले ही पाबंदी लगाई जा चुकी है।

जिला में एनीमिया, एड्स, लिंगानुपात में सुधार व रक्तदान के प्रति जनजागरण अभियान चलाया जाएगा
सिरसा,
2 जुलाई।         जिला में एनीमिया, एड्स, लिंगानुपात में सुधार व रक्तदान के प्रति जनजागरण अभियान चलाया जाएगा जो विभागीय कर्मचारी आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर व अन्य कर्मचारी इस अभियान में श्रेष्ठ कार्य करेंगे उन्हें जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा।
    यह बात जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने गत सायं अपने आवास पर आयोजित जिला स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सोसायटी की एक बैठक को सम्बोधित करते हुए कही।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में ही नहीं बल्कि देश में सिरसा को आदर्श जिले के रूप में हर क्षेत्र विकसित करना है। इस कार्य के लिए सभी का सहयोग बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जनता को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए विभिन्न योजनाएं लागू की गई हंै जिन पर करोड़ों रुपए की धन राशि  खर्च की जा रही है।
    डा. ख्यालिया ने कहा कि इन योजनाओं की जानकारी आम जनता तक पहुंचाएं ताकि वे लोग इन योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सके। उन्होंने कहा कि गांव में आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर, सामाजिक संस्थाओं को विभाग समय-समय पर प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करके जागरूक करें ताकि वे ग्रामीणों को लागू की गई योजनाओं के बारे विस्तार से जानकारी दे सकें।  उन्होंने कहा कि जिलावासियों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अपडेट रहें।
    जिला उपायुक्त ने कहा कि एनीमिया, एड्स, लिंगानुपात में सुधार करने व रक्तदान करने के बारे में स्वास्थ्य विभाग शिक्षा विभाग के साथ तालमेल करके स्कूलों में भी बच्चों को इस बारे में जागरूक करें क्योंकि बच्चे देश के भावी कर्णधार व राष्ट्र निर्माता है। इन को जागरूक करना बहुत जरूरी है। अगर बच्चे व युवा जागरूक होंगे तो समाज व राष्ट्र का नवनिर्माण होगा।  उन्होंने कहा कि आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर, सामाजिक कार्यकर्ता व अधिकारी जो बेहतरीन कार्य करेंगे उन्हें सम्मानित किया जाएगा।
    उन्होंने कहा कि मातृ मृत्युदर को कम करने हेतु गर्भवती महिलाओं परिवहन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यह सेवा गर्भवती महिलाओं तथा बीपीएल कार्ड धारकों को नि:शुल्क प्रदान की जाती है। इस बारे में भी विभाग के अधिकारी आमजन को जागरूक करें।
    उन्होंने कहा कि नि:शुल्क सर्जीकल पैकेज योजना चलाई गई है। इस योजना से जन साधारण को लाभ होगा। बीपीएल परिवारों को नि:शुल्क सर्जरी की सुविधा दी जा रही है। इस बारे में भी आमजन को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि गांवों में महिलाओं को सुरक्षित व बेहतर प्रसव सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रसूति गृह स्थापित किए गए हैं।
    जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने कहा कि 18 वर्ष की आयु तक के बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए इंदिरा बाल स्वास्थ्य योजना शुरू की गई है जिसके तहत बच्चों के स्वास्थ्य कार्ड बनाए जाएं तथा सरकारी अस्पतालों में जांच व इलाज नि:शुल्क किया जाए।
    उन्होंने कहा कि जिले में जननी सुरक्षा योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली ग्रामीण महिलाओं को स्वास्थ्य संस्थान में प्रसूति के समय 700 रुपए की नकद सहायता राशि प्रदान करने का प्रावधान है। अनुसूचित जाति की महिलाओं को 1500 रुपए की अतिरिक्त सहायता राशि दी जाती है। वहीं गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाली अनुसूचित जाति की महिलाओं को घर में प्रसूति करवाने पर 500 रुपए की नकद सहायता राशि प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं। स्वास्थ्य केंद्रों के माध्यम से रजिस्ट्रेशन प्रारंभ करने के फलस्वरूप जिला में लिंगानुपात में सुधार हुआ है। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत गांवों में 1000 की आबादी पर एक महिला सामाजिक कार्यकर्ता चुनी गई है, जिसे एकरिडेटिड सोशल हैल्थ एक्टिविस्ट (आशा)  कहा जाता है।
    उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सामान्य अस्पतालों को स्वस्थ व साफ-सुथरा रखें। भवनों के रखरखाव व मरम्मत का कार्य भी समय-समय पर करवाते रहे। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के लिए व जिला को अग्रणी बनाने के लिए धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बेहतर चिकित्सा स्वस्थ समाज का निर्माण है। इसलिए सभी डॉक्टर अपने कर्तव्यों का पालन ईमानदारी व निष्ठा से करें और जनता को चिकित्सा सुविधा देने में कोई कोताही न बरतें।
    इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक व धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

मधुमेह और हृदयरोग सरीखी बीमारियों का सीधा संबंध जीवनशैली व खान-पान के साथ है
सिरसा
। जाने माने चिकित्सक डा. वीपी गोयल का कहना है कि आज भारत के समक्ष मुंह बाए खड़ी मधुमेह और हृदयरोग सरीखी बीमारियों का सीधा संबंध जीवनशैली व खान-पान के साथ है। यूरोप व अन्य विकसित देशों को अपने आगोश में लेने के बाद अब यह व्याधियां भारत सरीखे अग्रणी विकासशील देशों में अपने पांव पसार
रही हैं और यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा कि बहुत जल्द ये महामारी का रूप ले सकती हैं। इन रोगों से बचना है या फिर इनका कारगर उपचार करना है जो जीवनशैली में सकारात्मक बदलाव लाना परमवावश्यक है। डा. गोयल चिकित्सक दिवस पर रेडियो सिरसा से केंद्र निदेशक वीरेंद्र सिंह चौहान के साथ श्रोताओं से रूबरू हुए। करीब साढ़े तीन दशक से चिकित्सा के पेशे से जुड़े डा.गोयल ने कहा कि खानपान में सुधार व संतुलन, नियमित सैर या व्यायाम और फिर सकारात्मक चिंतन स्वस्थ जीवन के मूलमंत्र हैं। इस अवसर पर जहां उन्होंने आमजन से अपनी सेहत के प्रति और अधिक सचेत व संजीदा होने का आवाहन किया वहीं नई पीढ़ी के चिकित्सकों को भी सलाह दी कि वे काम के दबाव और व्यस्तताओं के बावजूद स्वयं अपने स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखें। डा. गोयल ने बताया कि भारत में डाक्टर्स डे  स्वाधीनता सेनानी व प्रतिष्ठित चिकित्सक डा. बीसी राय की स्म़ृति में मनाया जाता है। करीब पंद्रह साल तक पश्चिम बंगाल के मु यमंत्री रहे डा.राय अपने आप में एक आदर्श चिकित्सक थे। उन्होंने चिकित्सकों का आवाहन किया कि वे चिकित्सक दिवस पर अपने जीवन में डा. राय के दिखाए रास्ते पर चलने का संकल्प लें। उन्होंने स्वीकार किया कि उपभोक्ता संरक्षण कानून के दायरे में चिकित्सकों को लाए जान के बाद निस्संदेह चिकित्सकों को उपचार की प्रक्रिया में फूंक फूं क कर कदम रखने पडते हैं। मगर सिद्धांतरूप में यह स्वागतयोग्य कदम है। उन्होंने कहा कि अधिकांश चिकित्सकों ने इसका स्वागत किया है। एक प्रश्र ने जवाब में डा. वीपी गोयल ने कहा कि अंग्रेज भारत को जिस हालत में छोडकर गए थे, स्वास्थ्य के मामले में वह बहुत दयनीय थी। पूरे देश में उस समय कुल पचास हजार प्रशिक्षित और अप्रशिक्षित चिकित्सक थे। हैजे और प्लेग जैसी बीमारियां महामारी के रूप में आती थी और गांव के गांव इनके कारण खाली हो जाया कते थे।
मलेरिया, खसरा और पोलियो के अलावा काली खांसी सरीखी बीमारियों की मार से आमजन त्रस्त था। पंचवर्षीय योजनाओं में एक के बाद एक इन बीमारियों को निशाना करके सरकार के अभियान चलाए। सरकारी अभियानों की कामयाबी का प्रमाण यह है कि इनमें से कई बीमारियां लुप्त हो चुकी हैं और अन्यों पर कमोबेश नियंत्रण पा लिया गया है। मगर आज की चुनौतियां सन सैंतालिस या साठ के दशक की चुनौतियों से कहीं भिन्न हैं। निस्संदेह सरकार की योजनाएं प्रभावी हैं मगर उनको लागू करने की प्रक्रिया में होने वाली ढि़लाई चिंताजनक है। बहुत बार आमजन भी सक्रियता व जि मेदारी की भावना से इन योजनाओं व कार्यक्रमों का लाभ लेने के लिए आगे नहीं आते। पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान यह बात खासतौर पर देखने को मिली। एक प्रश्र के उत्तर में डा. गोयल ने कहा कि मोटापा अपने आप में कई दूसरी बीमारियों की जननी है। मोटापे से बचने के लिए जीवनशैली में बदलाव से कारगर कोई उपाय नहीं है। डा. गोयल ने दावा किया चिकित्सकों व मरीजों के मध्य संबंध साल दर साल सुधर रहें चूंकि आम नागरिक का स्वास्थ्य के प्रति रवैया और जागरूकता का स्तर काफी बढ़ चुका है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा के पेशे में मरीजों के साथ ठगी करने के चंद लोग तीस साल पहले थे और आज भी हैं मगर अधिकांश चिकित्सक मानवीय व नैतिक मूल्यों के दायरे में रहते हुए कार्य करते हैं।

नेत्र जांच व ऑप्रेशन शिविर का आयोजन अस्पताल परिसर में किया गया
सिरसा,
2 जुलाई ।  समाज सेवा को समर्पित श्री बाबा तारा चेरिटेबल अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर के तत्वावधान में प्रत्येक शनिवार को लगाए जाने वाले नेत्र जांच व ऑप्रेशन शिविर का आयोजन अस्पताल परिसर में किया गया। इस शिविर में अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. महिप बांसल व उनकी सहयोगी टीम ने नेत्र रोगियों  की जांच की। यह जानकारी देते हुए अस्पताल के प्रवक्ता गुरराज करन सिंह ने बताया कि इस शिविर में 240 नेत्र रोगियों की जांच की गई, जिनमें से 45 रोगी मोतियाबिंद रोग से पीडि़त पाए गए। उन्होंने बताया कि मोतियाबिंद रोग से पीडि़त सभी मरीजों का ऑप्रेशन अस्पताल में नि:शुल्क किया जाएगा व दवाईयां, चश्मे व ठहरने की व्यवस्था भी श्री तारा बाबा चेरिटेबल अस्पताल द्वारा की गई है।

प्राचीन शनिदेव मंदिर में बैठक का आयोजन किया गया
सिरसा
। नौहरिया बाजार स्थित प्राचीन शनिदेव मंदिर में आज एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें 30 जुलाई शनैश्चरी अमावस्या के अवसर पर मंदिर प्रांगण में भव्य कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारियों बारे विचार विमर्श किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि सावन मास की शनैश्चरी अमावस्या के अवसर पर भगवान श्री शनिदेव जी का जन्मोत्सव समारोह धूमधाम व श्रद्धापूर्वक मनाया जाएगा। मंदिर के पुजारी महेश कुमार ने बताया कि शनैश्चरी अमावस्या भगवान श्री शनिदेव जी की कृपा प्राप्त करने के लिए सर्वोत्तम अवसर है। इस बार शनैश्चरी अमावस्या सावन मास में होने के कारण इसका प्रभाव और अधिक हो गया है। उन्होंनें बताया कि 30 जुलाई को मंदिर प्रांगण में भगवान शनिदेव जी का अखंड तेल स्नान, भंडारा व रात्रि जागरण का आयोजन किया जाएगा, इसके साथ ही शनिदेव जी की पूजा अर्चना, हवण यज्ञ का आयोजन किया जाएगा।

मुकाबले के लिए तैयार हो गया शाह सतनाम जी खेल स्टेडियम
सभी तैयारियां मुकमल, कल होगी जोर आजमाईश, संगत में भारी उत्साह
ओढां
। शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फैयर फोर्स  विंग के गर्व दिवस को लेकर श्री जलाल आणा साहिब में 4 जूलाई को आयोजित होने वाली दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता को लेकर सभी तैयारियां मुकमल हो चुकी है।खेलों को लेकर जहां जिला की साध-संगत में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है, वहीं खेलों में भाग लेने वाले शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फैयर फोर्स विंग के सेवादार भाई-बहन एक-दूसरे से खेल मुकाबला करने के लिए पूरी तरह से तैयार नजर आ रहे है। शाह सतनाम जी किके्रट स्टेडियम(शाह सतनाम जी ऐजूकेशनल सोसायटी द्वारा संचालित) श्री जलालआणा साहिब में खेलों की तैयारियों को लेकर ब्लाक दारेवाला, चक्कां, डबवाली, श्री जलालआणा साहिब, चामल, आदि ब्लाकों के सैंकड़ों की सख्यां में सेवादार स्टेडियम में सेवा कार्य में जूटे हुए है। जिला खेल समिति के सदस्य सतदेव इन्सां व विजय इन्सां ने सयुक्त रूप से बताया कि स्टेडियम में सभी तैयारियां मुकमल हो चुकी है। सेवादारों में खेल प्रबन्धों को लेकर अलग-अलग ड्यूटियां लगाई गई है। उन्होंने बताया कि इस दो दिवसीय खेल प्रतियोगिता में जिलाभर से सैंकड़ों की तादाद में खिलाड़ी भाग लेकर अपने जौहर दिखाऐगें। उन्होंने बताया कि इन खेलों में सिर्फ शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फैयर फोर्स के महिला व पुरूष सेवादार ही भाग ले सकते है। समिति के सदस्य औमप्रकाश पटवारी ने बताया कि शाह सतनाम जी किके्रट स्टेडियम खेल मुकाबलों को लेकर पूरी तरह से तैयार है और सभी प्रबन्ध व तैयारियां बेहतर ढंग से मुकमल की जा चुकी है, ताकि किसी भी तरह की खिलाडिय़ों व दर्शकों को असुविधा का सामना न करना पड़े। उन्होंने बताया कि इन दो दिवसीय खेलों में रस्साकस्सी, लम्बी दौड़, शाटपुट, कबड्डी, उच्ची कूद, किके्रट, गोला फैंक, लम्बी कूद आदि अनेक रोंमाचक मुकाबले होगें। इन खेलों का उद्घाटन डीएसपी पूर्ण चन्द पंवार करेगें जबकि समापन अवसर पर एसडीएम रोशनलाल विजेता खिलाडिय़ों को समानित करेगें। वहीं आज खेल समिति के सदस्यों ने स्टेडियम की तैयारियों का जायजा लिया और उन्होंने बेहतर ढंग से की गई तैयारियों की प्रसंशा की। खेल आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया कि कल तीन जूलाई को 12 बजें तक सभी खिलाड़ी अपने-अपने फार्म जिम्मेवारों को साथ लेकर शाह सतनाम जी स्टेडियम श्री जलालआणा साहिब में खेल आयोजकों के पास जमा करवाए। उन्होंने बताया कि रविवार को 12 बजे के बाद कोई भी फार्म जमा नहीं होगा। उन्होंने यह भी बताया कि रविवार को 12 बजे तक फार्म आने वाले खिलाडिय़ों को ही इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने दिया जाएगा। उन्होंने सभी खिलाडिय़ों से आह्वान किया कि वे 4 जूलाई को सुबह 6 बजे तक स्टेडियम में पहुंचे। यहां यह उल्लेखनीय है कि शाह सतनाम जी किके्रट स्टेडियम( श्री जलालआणा साहिब) मात्र 22 दिनों की अल्प समय में तैयार होकर हर किसी के लिए आश्चर्य जनक है। इस स्टेडियम में करीब 60 हजार दर्शक बैठकर मैच का आनन्द ले सकते है।

पूर्व मुख्यमंत्री चौ. ओम प्रकाश चौटाला 5 अप्रैल को जिला पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ की बैठक को संबोधित करेंगे
सिरसा,
2 जुलाई। इनेलो सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री चौ. ओम प्रकाश चौटाला आगामी 5 अप्रैल को इनेलो कार्यालय चौधरी देवीलाल सदन में प्रात: 11 बजे जिला पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ की बैठक को संबोधित करेंगे। यह जानकारी देते हुए पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रधान प्रदेश महासचिव अशोक वर्मा व जिला प्रधान साहब राम चकजालू ने बताया कि बैठक में श्री चौटाला पार्टी की रणनीति एवं कार्यक्रमों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देंगे। इस बैठक में पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को मजबूत करने के उपाय बताए जाएंगे और कार्यकर्ताओं के विचार सुनेंगे। उन्होंने जिलाभर के पिछड़ा वर्ग के कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे इस बैठक में अधिक से अधिक संख्या में शिरकत करके अपने जनप्रिय नेता के विचारों को सुने और पार्टी को मजबूत करें।

जिला पुलिस द्वारा पीआरओ नियुक्त करने के लिए 3 जुलाई तक आवेदन मांगे गए
सिरसा
। जिला पुलिस द्वारा पीआरओ नियुक्त करने के लिए 3 जुलाई तक आवेदन मांगे गए है। जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक सतेंद्र गुप्ता ने बताया कि मीडिया के माध्यम से पुलिस की उपलब्धियों को आमजन तक पहुंचाने के लिए तथा पुलिस व आमजन के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने के लिए पुलिस महानिदेशक के आदेशानुसार जनसंपर्क अधिकारी की नियुक्ति की जानी है। इसके लिए निर्धारित योग्यता व शर्तें पूरी करने वाले उम्मीदवार कल 3 जुलाई तक अपने आवेदन पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भेज सकते है। निर्धारित तिथि के पश्चात मिलने वाले आवेदन स्वीकार नही किए जाएंगे।

आरोपी को चोरीशुदा मोटरसाइकिल सहित काबू कर लिया
सिरसा
। शहर डबवाली पुलिस ने मोटरसाइकिल चोरी की गुत्थी को सुलझाते हुए आरोपी को चोरीशुदा मोटरसाइकिल सहित काबू कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान कुलविंद्र पुत्र बलजिंद्र निवासी जोधपुर रमाणा जिला बठिंडा पंजाब के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार मनोज पुत्र नेतराम निवासी वार्ड 6 मंडी डबवाली किसी कार्य के लिए डबवाली अदालत परिसर में गया था, कुछ समय बाद जब वह वापिस लौटा तो उसका मोटरसाइकिल नदारद था। इस संबंध में थाना शहर डबवाली पुलिस ने बीती 21 जून को मामला दर्ज कर जांच शुरू की। कल सायं शहर डबवाली की पुलिस टीम बठिंडा चौक पर नाकेबंदी कर आने जाने वाले वाहनों की चैकिंग कर रही थी। इसी दौरान मोटरसाइकिल सवार एक युवक आया, उक्त युवक से जब मोटरसाइकिल के संबंध में कागजात मांगे तो वह मलकीयती पेश नही कर सका। पुलिस ने जब उससे गहनता से पूछताछ की तो उसने स्वीकार किया कि वो मोटरसाइकिल उसने डबवाली अदालत परिसर से चुराया था। आरोपी को आज डबवाली अदालत में पेश कर रिमांड हासिल किया जाएगा, ताकि उससे पूछताछ की जा सके।
सिरसा। जिला की सीआईए सिरसा पुलिस ने विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत दर्ज पांच मामलों में वांछित एक उदघोषित अपराधी को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान प्रगट सिंह पुत्र जसपाल सिंह निवासी अमृतसरकलां जिला सिरसा के रूप में हुई है।  आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश करके रिमांड मांगा जाएगा। आरोपी के विरूद्ध 24 अगस्त 2010 को थाना ऐलनाबाद में भादंसं की धारा 302 व 34 के तहत अभियोग दर्ज हुआ था तथा आरोपी मौके से ही फरार चल रहा था। इस मामले में ऐलनाबाद अदालत द्वारा 17 जनवरी 2011 को उदघोषित अपराधी करार दिया था। पुलिस ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए आरोपी को मुसाहिबवाला क्षेत्र से काबू किया है। मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए सीआईए प्रभारी निरीक्षक किशोरी लाल ने बताया कि आरोपी प्रगट सिंह को महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए स्टाफ के उपनिरीक्षक अमरनाथ ने काबू किया है। उन्होंने बताया कि आरोपी के विरूद्ध भादंसं की धारा 174 ए के तहत भी अभियोग दर्ज किया जाएगा। सीआईए प्रभारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ इससे पहले भी ऐलनाबाद थाना में विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत सन 2003 , 2008 व 2009 में मामले दर्ज हुए थे तथा उनमें आरोपी जमानत मिलने के बाद फरार चल रहा था। इसके अलावा 2008 में आरोपी के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत पंजाब के फाजिल्का थाना में भी मामला दर्ज है।
सिरसा। एक रोडवेज इंस्पैक्टर के साथ बस चैकिंग के दौरान सरकारी कार्य में बाधा डालने, हाथापाई करने तथा जान से मारने की धमकी देने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान नानक पुत्र बलवीर निवासी सुकेराखेडा, पूर्ण चंद पुत्र हनुमान व बलराम पुत्र सतनाम निवासी अबूबशहर सिरसा के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार उपरोक्त आरोपियों ने गांव अबूबशहर में रोडवेज इंस्पैक्टर की चैकिंग के दौरान उससे हाथापाई की। इस संबंध में बीती 14 मई को आरोपियों के खिलाफ भादंसं की धारा 332, 353, 186, 506 व 34 के तहत थाना सदर डबवाली में अभियोग दर्ज हुआ था।
सिरसा :पुलिस अधीक्षक सतेन्द्र कुमार गुप्ता ने कहा कि पुलिस आमजन के साथ मैत्रीपूर्ण व्यवहार करे तथा थानों में आई शिकायतों का शीघ्र निपटान करे। वे आज अपने कार्यालय में जिला के विभिन्न थानों के प्रभारियों , सैल प्रभारियों की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण मेहता, उपपुलिस अधीक्षक ऐलनाबाद रविन्द्र कुमार, उपपुलिस अधीक्षक डबवाली बाबू लाल सहित अन्य विभागीय कर्मचारी उपस्थित थे। बैठक को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि थाना प्रभारी सम्पत्ति विरुद्ध अपराधों के खिलाफ जोरदार अभियान चलाएं। इसके साथ ही लोगों को आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचाने वाली फर्जी कम्पनियों पर पैनी   निगाह रखें। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिला पुलिस द्वारा 1 जुलाई से 31 जुलाई तक उद्घोषित अपराधियों, बेलजम्परों व पैरोल जम्परों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जाएगा तथा उन्हें काबू कर संबंधित अदालतों को सौंपा जाएगा। उन्होंने थाना प्रभारियों से आह्वान किया कि वे अपने क्षेत्रों में आपराधिक व अनैतिक तत्वों के खिलाफ अभियान में तेजी लाएं।  इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि थाना प्रभारी अपने इलाकों में जमीनी विवाद व पुरानी रंजिश के मामलों पर पैनी निगाह रखें, ताकि कोई अप्रिय घटना होने से पहले ही उससे निपटा जा सके। इस अवसर पर उन्होंने थाना प्रभारियों से यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के निर्देश दिये।
सिरसा:ऑनर किलिंग की घटनाओं को रोकने व प्रेमी जोड़ों को सुरक्षा प्रदान करने के पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के निर्देश पर जिला पुलिस द्वारा स्थापित किये गये प्रोटेक्शन हाउस में अब तक 24 प्रेमी जोड़े शरण ले चुके हैं। पुराने तहसील कार्यालय रोड पर स्थित कामकाजी महिला आवास कार्यालय के ग्राउंड फ्लोर पर स्थापित प्रोटक्शन हाउस सितम्बर 2010 में स्थापित किया गया था। यहां शरण लेने वाले प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा के लिए हर समय पुलिस गार्द तैनात रहती है। 2 नंवबर 2010 को पहली बार प्रेमी जोड़े ने प्रोटक्शन हाउस में शरण ली थी। वर्तमान समय में प्रोटक्शन हाउस में पांच प्रेमी जोड़े रह रहे हैं।

पशु चिकित्सा कैंप में की गई खानापूर्ति
ओढ़ां
– गांव बनवाला के पशुधन केंद्र में पशुओं के लिए चैकअप कैंप का आयोजन किया गया जिसमें वेटनरी सर्जनों के न पहुंचने के कारण मात्र कागजी खानापूर्ति ही की गई और इसमें 60 पशुओं का चैकअप दिखाया गया। कैप में चिकित्सकों के न आने के कारण पशुपालक अपने पशुओं को शिविर में नहीं लाए और कैंप में उपस्थित वीएलडीए आदित्य कुमार और भाल सिंह ने पशुपालकों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर दवाई दी। पशुपालकों भूप सिंह, जगदीश, सुरजीत सिंह, पिरथी राम आदि ने बताया कि शिविर में पशु चिकित्सकों के न पहुंचने से उन्हें भारी परेशानी हुई और वे अपने पशुओं का चैकअप नहीं करवा सके। मौके पर मौजूद वीएलडीए भाल सिंह व आदित्य कुमार ने रजिस्टरों में खाना पूर्ति करते हुए बताया कि शिविर में 60 पशुओं का चैकअप किया गया जिसमें 25 बांझपन, 6 रीपीटर और 29 अन्य पशुओं का चैकअप शामिल है जबकि वास्तव में कुछ पशुपालकों के अलावा वहां कोई पशु नहीं था। सरपंच भरत सिंह डुडी ने बताया कि उन्हें भी इस शिविर के बारे में कोई सूचना नहीं दी गई और पशुपालकों को जो परेशानी हुई उसके लिए अधिकारी जिम्मेदार हैं। इस विषय में गोरीवाला के राजकीय पशु चिकित्सालय में बात किए जाने पर चिकित्सक ज्ञान प्रकाश कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके।

सार्वजनिक स्थानों पर नशा करने वालों की खैर नहीं
ओढ़ां
-गांव बनवाला में ग्राम पंचायत की मीटिंग के दौरान पंचायत के समक्ष एक शिकायत रखी गई। शिकायतकर्ता एएनएम विनय कुमारी ने बताया कि शरारती तत्व जन स्वास्थ्य केंद्र व अन्य सरकारी भवनों में नशीली गोलियों के पते और शराब की बोतलें डाल देते हैं तथा देर रात तक वहां बैठे रहते हैं जिसके कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्राम पंचायत ने मौके पर निर्णय लिया कि सरकारी स्कूल, पटवारघर, जन स्वास्थ्य केंद्र, पशुधन केंद्र, बस स्टेंड और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर रात नौ बजे के बाद यदि कोई भी बैठा पाया गया तो उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई की जाएगी और इसके जिम्मेदार इन स्थानों पर पाए जाने वाले लोग स्वयं होंगे। इस अवसर पर साहिब राम नंबरदार, जीताराम, नानकराम जाखड़, बनवारी लाल, श्रवण गोदारा, गिरधारी लाल पूर्व सरपंच, लूनाराम जाखड़, प्रभुराम, पंच राम सिंह, ख्याली राम व विनोद कुमार सहित अनेक गांववासी उपस्थित थे। इस विषय में गांव के सरपंच भरत सिंह डुडी ने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर पाए जाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

नहर पर नलकूप लगाकर शामलात भूमि को सिंचित किया जाएगा
ओढ़ां
-बीआरजीएफ के अंतर्गत करवाए कार्यों का लेखा जोखा लेने और आगामी बजट बारे विचार विमर्श करने के उद्देश्य से गांव चकेरियां में शनिवार को ग्राम सभा की बैठक का आयोजन सरपंच कुलविंद्र कौर की अध्यक्षता में किया गया। इस बैठक में जलघर में वाटर टैंक का निर्माण करने, प्राइमरी स्कूल के भवन को गांव में बनाने और उसे अपग्रेड करने, स्टेडियम, आंगनबाड़ी केंद्र और सामान्य चौपाल की चारदीवारी बनाने, नहर पर नलकूप लगाकर शामलात भूमि को सिंचित करने, गांव में पशुधन केंद्र व उपस्वास्थ्य केंद्र का भवन बनाने और कर्मचारियों की नियुक्ति करने आदि कार्यों से संबंधित प्रस्ताव डाले गए। इस बैठक में ग्राम सचिव प्रेम कंबोज, एबीपीओ सुनील कुमार, जगदीप सिंह और नछतर सिंह सहित अनेक गांववासी उपस्थित थे।

जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन 4 व 5 जुलाई को
ओढ़ां-
आगामी 4 व 5 जुलाई को शाह सतनाम स्टेडियम जलालआना में जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा जिसका उद्घाटन सिरसा के डीएसपी पूर्णचंद पंवार करेंगे और समापन समारोह में मुख्यातिथि के रूप में सिरसा के एसडीएम रोशन लाल उपस्थित होंगे। यह जानकारी देते हुए जिला खेलकूद टीम के प्रधान सतदेव चक्कां ने बताया कि इस प्रतियोगिता में 100 व 200 मीटर दौड़, ऊंची कूद, गोला फैंक, ओपन कबड्डी, कोस्को क्रिकेट, रस्साकशी के अलावा अनेक रोमांचक खेलों का आयोजन करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता में शाह सतनाम ग्रीन एस वैल्फेयर संस्था के सदस्य ही भाग ले सकेंगे।

>local sirsa news सिरसा समाचार

1 जुलाई

>

कांग्रेस पार्टी ही देश का भला कर सकती है क्योंकि कांग्रेस के पास ही नेता, नियत व नीति है
सिरसा
(1 जुलाई ) कांग्रेस पार्टी ही देश का भला कर सकती है क्योंकि कांग्रेस के पास ही नेता, नियत व नीति है। यह बात आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि होशियारी लाल शर्मा ने श्मशाबाद पट्टी में आयोजित एक जनसभा में कही। श्मशाबाद पट्टी के सरपंच रामानंद द्वारा आयोजित कार्यक्रम में मौजूद सैकड़ों लोगों ने श्री शर्मा का फूल मालाएं पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया। श्री शर्मा के साथ मा. राजकुमार वर्मा, हरीश सोनी, पूर्ण गिरधर, संजय शर्मा, प्रवीण मिढ़ा, भोला जैन, संत लाल गुंबर, बृजदान चारन, डा. आजाद केलनिया, मंगत सिंह, सुरजाराम, मंगत राम निराणिया, बलराम निराणियां, युधिष्ठर निराणियां, मदल लाल पूर्व सरपंच रामनगरिया, राय साहब, बलदेव सिंह, शंकर लाल, राम प्रताप, राधेश्याम, आत्माराम, रमेश, जगत राम, मन्नू निराणियां व इकबाल सिंह सहित सैकड़ों लोग भी मौजूद थे। इस मौके पर श्री शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंंद्र सिंह हुड्डा की नेक नियती व चहुंओर हो रहे विकास कार्यों के कारण प्रदेश की जनता खुशहाल है। कांगे्रस सरकार ग्रामीण स्तर पर अच्छा कार्य कर रही है। चाहे वह बिजली की समस्या हो या खेतीबाड़ी के लिए पानी की। सरकार किसानों को गर्मी में दोनों मुख्य जरूरतों को पूरा करवाने के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि आज शिक्षा के मामले में भी कोई गांव पिछड़ा नहीं है। बेरोजगारी की समस्या पर बोलते हुए श्री शर्मा ने कहा कि महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना का लाभ आज हर गांव में मिल रहा है। गरीब तबके के लोगों को बीपीएल कार्ड के जरिये जरूरी वस्तुएं सस्ते दामों पर मुहैया करवाई जा रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र व कांग्रेस शासित प्रदेशों में सरकार अच्छा कार्य कर रही है। बढ़ती मंहगाई में भी कांग्रेस शासित राज्योंं में मूलभूत वस्तुओं पर सब्सिडी प्रदान करके जनता को राहत पहुंचाई जा रही है।

इंदिरा गांधी प्रियदर्शनी विवाह शगून योजना के तहत 840 लाभपात्रों को 1 करोड़ 92 लाख 15 हजार 100 रुपए की राशि देकर लाभांवित किया
सिरसा
, 1 जुलाई।     जिला कल्याण विभाग द्वारा वर्ष 2010-11 में इंदिरा गांधी प्रियदर्शनी विवाह शगून योजना के तहत 840 लाभपात्रों को 1 करोड़ 92 लाख 15 हजार 100 रुपए की राशि देकर लाभांवित किया है और मकान अनुदान योजना के तहत 386 लाभपात्रों को 1 करोड़ 93 लाख रुपए की राशि वितरित करके लाभांवित किया गया है।
    यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ने बताया कि अनुसूचित जाति के व्यक्तियों को उनकी लड़की की शादी हेतु 31000 रुपए, अन्य जातियों की लड़की की शादी के लिए 11000 रुपए एवं विधवा औरत की लड़की की शादी के लिए 31000 रुपए की राशि देने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि इसके लिए प्रार्थी का नाम बीपीएल सूची में दर्ज होना चाहिए तथा लड़की की आयु 18 वर्ष तथा लड़के की आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि इसी तरह से मकान अनुदान योजना का लाभ वहीं व्यक्ति उठा सकता है जो अनूसूचित जाति का प्रमाण पत्र हो तथा मकान कच्चा होना चाहिए और लाभार्थी का नाम बीपीएल सूची में भी शामिल होना चाहिए। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 50 हजार रुपए की राशि दी जाती है।
    उपायुक्त ने बताया कि प्रदेश सरकार ने अपनी नीतियों एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में मानवीय मूल्यों को  तर्जी देते हुए विकास कार्य किए है। प्रत्येक क्षेत्र के विकास के साथ-साथ सरकार ने सामाजिक दायित्व भी बेखूबी निभाते हुए अनुसूचित जातियां एवं पिछड़े वर्गों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरु की है।
    उपायुक्त ने बताया कि गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले समाज के अन्य लोगों के जीवनस्तर में सुधार लाने के उद्देश्य से अनेक आर्थिक व सामाजिक गतिविधियों को गति प्रदान की गई है। अनुसूचित जाति की विधवाएं, निराश्रित महिलाएं, लड़कियां व मेधावी छात्र-छात्राओं के कल्याण पर विशेष ध्यान दिया गया है। इसी का परिणाम है कि आज इन वर्गों में सामाजिक एवं आर्थिक संपन्नता आई है और विकास की मुख्य कड़ी का हिस्सा बन गए है।
    श्री ख्यालिया ने बताया कि सरकार ने इंदिरा गांधी प्रियदर्शनी विवाह शगुन योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले अनुसूचित जाति के परिवारों व सभी वर्गों की विधवाओं को उनकी लड़की की शादी के समय दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को 15000 रुपए से बढ़ाकर 31 हजार रुपए व 5100 रुपए से बढ़ाकर 11000 रुपए किया है।   उन्होंने बताया कि जनता के उत्थान के लिए सरकार ने विभिन्न योजनाओं को लागू किया गया है। जानकारी के अभाव में लोग कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं उठा सकते इसलिए योजनाओं की सही जानकारी प्राप्त कर लाभ उठाना चाहिए। 

सिरसा की टीम ने भिवानी को 25 रनों से हरा दिया
सिरसा
। भिवानी में आयोजित हरियाणा स्टेट क्रिकेट अंडर-19 प्रतियोगिता में एक रोचक मुकाबले में सिरसा की टीम ने भिवानी को 25 रनों से हरा दिया। हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन के तत्वावधान में आयोजित इस मुकाबले में सिरसा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट के नुकसान पर 178 रन बनाए, जिसमें बल्लेबाज हरदीप और रमनदीप का महत्वपूर्ण योगदान रहा। हरदीप ने 66 गेंदों पर 69 रन बनाए। जबकि रमनदीप ने 25 गेंदों पर नाबाद 33 रन बनाए। भिवानी के गेंदबाज रोशन ने 8 ओवर में 29 रन देकर तीन विकेट लिये। वहीं लक्ष्य का पीछा करते हुए भिवानी की पूरी टीम 38 ओवर में 153 रन पर ऑल आऊट हो गई। भिवानी की तरफ से विशाल ने 42 गेंदों पर 46 रन अर्जित किये। सिरसा के गेंदबाज रमन ने 7 ओवर में 25 रन देकर चार विकेट हासिल किये। वहीं सुनील कंडोला ने 8 ओवर में 26 रन देकर दो विकेट हासिल किये। उल्लेखनीय है कि सिरसा की टीम में 9 खिलाड़ी शाह सतनाम जी क्रिकेट अकादमी के हैं, जिन्होंने अपने खेल का शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम को विजय दिलाई। टीम की जीत पर हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन के उपाध्यक्ष डॉ. वैद बैनीवाल ने बधाई दी। वहीं टीम के खिलाडिय़ों ने अपनी जीत का श्रेय पूजनीय हजूर पिता संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के पावन मार्गदर्शन को दिया। क्वार्टर फाईनल मैच रोहतक की टीम के साथ होगा।
आर.के. सिरोही 97299-97718

होशियारी लाल शर्मा के निजी कार्यालय पर एक शोक सभा आयोजित
सिरसा
(1 जुलाई ) मुख्यमंत्री के पूर्व ओएसडी डॉ. केवी ङ्क्षसह की भाभी मुन्नी देवी के गत दिवस हुए देहांत पर आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि होशियारी लाल शर्मा के निजी कार्यालय पर एक शोक सभा आयोजित हुई। इस दौरान दिवंगत आत्मा की शांति के प्रार्थना के लिए दो मिनट का मौन रखा गया। इस मौके पर मा. राजकुमार वर्मा, हरीश सोनी, पूर्ण गिरधर, संजय शर्मा, भोला जैन, पूर्ण चंद गिरधर, संत लाल गुंबर, बृजदान चारन, कृष्ण सिंगला, तिलक चंदेल, संगीत कुमार, प्रवीण मिढा, रवींद्र मलिक, अनिल बांगा, युसूफ खान, जाफर शरीफ , सुखेदव बाजीगर, प्रेम चंद कंबोज, डा. आजाद केलनिया, स. हरदर्शन सिंह, नायब सिंह थिराज, स. रिढपाल सोढ़ी, मोहन लाल पटवारी, संजू बाला एडवोकेट, भालचंद भाटीवाल एडवोकेट, राजरानी जिंदल, वेद सैनी, राजू सेनी सहित अन्य कांग्रेस नेताओंं व कार्यकर्ताओं ने श्रद्धाजंलि अर्पित की।

बाढ़ से निपटने के लिए सभी आवश्यक पुख्ता प्रबंध पहले से ही कर लें
सिरसा,
1 जुलाई।      मानसून के आगमन को ध्यान में रखते हुए बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं से इंकार नहीं किया जा सकता। इसलिए सभी अधिकारी व कर्मचारी अलर्ट रहे और बाढ़ से निपटने के लिए सभी आवश्यक पुख्ता प्रबंध पहले से ही कर लें।
    यह निर्देश जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने आज अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए दिए। उन्होंने कहा कि जनहित सर्वाेपरि है। इसलिए प्राकृतिक आपदाओं व बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए अभी से कमर कस लें। किसी भी गांव में जान-माल का नुकसान न होने पाए और किसी भी गांव में आबादी क्षेत्र में बाढ़ का पानी नहीं आने दिए जाए।
    बैठक के उपरांत उपायुक्त डा. ख्यालिया ने आज स्वयं जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। घग्गर नदी पर बने पुलों व तटबंधों का निरीक्षण किया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बाढ़ प्रभावित गांव मुसाहिबवाला, फरवाईकलां, ढाणी, नेजाडेला कलां, पनिहारी, बुर्जकर्मगढ़  आदि का दौरा कर मौजूदा हालात व परिस्थितियों का जायजा लिया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों के खेतों में भी पानी न घुसने पाए इसके लिए भी आवश्यक प्रबंध करें। सभी तटबंधों व पुलों को भी अभी से मजबूत कर दें। उन्होंने कहा कि कोई भी बांध टूटने न पाए और पानी की लीकेज भी न होने पाए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति के लिए प्रबंध समय रहते करें।
    डा. ख्यालिया ने पशुपालन विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि वे बरसात और बाढ़ के मौसम मेें पशुओं में होने वाली संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिए दवाइयों का भंडारण पर्याप्त मात्रा में रखे। इसके साथ-साथ पूरे जिला में विभिन्न बीमारियों के बचाव के लिए पशुओं का टीकाकरण करवाया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों से कहा कि जहां भी स्थाई व अस्थाई पंप हाउस स्थापित किए गए हैं उनमें बिजली कनैक्शन आदि का समुचित प्रबंध करें और यह भी कहा कि बिजली विभाग के अधिकारी जरूरत पडऩे पर एसडीओ टैक्नीकल को अस्थाई कनैक्शन भी तुरंत जारी करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे अपने विभागों से संबंधित किए गए प्रबंधों के बारे में उन्हें अवगत करवाए।
    उपायुक्त ने कहा कि बाढ़ बचाओ कार्यों के लिए जिला प्रशासन के पास पर्याप्त मात्रा में चप्पू व मोटर बोट जैसे उपकरण बेहतरीन हालत में उपलब्ध होने चाहिए। इसी प्रकार से लाइफ जैकेट भी मौजूद होने चाहिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ संभावित क्षेत्रों को सैक्टरों में बांटा गया है जिनमें संबंधित तहसीलदारों और सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंताओं को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट और सुपरवाइजरी अधिकारियों की तैनाती के लिए ड्यूटी लगाने के भी आदेश दिए। इसके साथ-साथ जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि बाढ़ जैसी स्थिति आने पर प्रभावित लोगों के लिए खाने-पीने की चीजें पर्याप्त मात्रा में रखे। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी आदेश दिए है कि वे दवाइयों का भी पर्याप्त भंडारण रखे, ताकि जरूरत पडऩे पर बिना किसी देरी के लोगों की मदद की जा सके। उन्होंने आमजन से भी अपील की है कि जहां कहीं भी उन्हें घग्घर तटबंधों के दोनों ओर तटबंध कटे हुए मिले या बाढ़ जैसी स्थिति बनती हृुई नजर आए तो इसे तुरंत प्रशासनिक अधिकारियों के संज्ञान में लाएं।
    इस अवसर पर उपमंडलाधीश रोशन लाल, भाखड़ा वाटर सर्विस सिरसा के एसई श्री एसएस हुडा, घग्घर वार्टर सर्विस के एसके जैन, तहसीलदार राजेंद्र सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

तीन सप्ताहिक सूचना प्रोद्योगिकी विषय पर रिफ्रेशर कोर्स शुरू हुआ
हिसार
01 जुलाई 2011       एकेडमिक स्टाफ कॉलेज, गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार में आज तीन सप्ताहिक सूचना प्रोद्योगिकी विषय पर रिफ्रेशर कोर्स शुरू हुआ।  इस रिफ्रेशर कोर्स का उद्घाटन गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के कुलपति डा एम एल रंगा ने किया जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलसचिव प्रो आर एस जागलान ने की। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के  एकेडमिक स्टॉफ कॉलेज के निदेशक प्रो बीके पूनिया, श्री आंनद कौशिक व डा उमेश आर्य भी उपस्थित थे। इस अवसर पर कुलपति डा एम एल रंगा ने आल इंडिया टिचर एजूकेटरस एसोसिशन के रिसर्च जरनल इंटरनैशनल जरनल आफ एजूकेशन एवं हयूमैनिटी का भी विमोचन किया। इस कार्यक्रम में 26 अध्यापक भाग ले रहे है।
     कुलपति डा एम एल रंगा ने कहा कि सूचना प्रोद्योगिकी जीवन का हिस्सा बन गया है और हर क्षेत्र में आई टी का इस्तेमाल किया जा रहा है। सूचना प्रोद्योगिकी ने सभी कार्याे को सरल किया है और सूचना प्रोद्योगिकी के कारण विश्व में हर व्यक्ति एक दूसरे से जुड़ गया है।
    कुलसचिव प्रो आर एस जागलान ने कहा कि शोध में सूचना प्रोद्योगिकी की वजय से एक गुणात्मक परिवर्तन देखा जा सकता है। उन्होने बताया कि सूचना प्रोद्योगिकी ने अपनी छाप हर श्रेत्र में सकारात्मक तरीके से छोड़ी है।
विश्वविद्यालय के  एकेडमिक स्टॉफ  कॉलेज के निदेशक प्रो  बीके पूनिया ने कहा कि 21वी शताब्दी आई टी व ज्ञान की शताब्दी है। उन्होने बताया कि आई टी का रिफ्रेशर कोर्स सभी विषयों में समान रूप से मान्य है। प्रो पूनिया ने बताया कि इस रिफ्रेशर कोर्स में जालंधर, बारमा आसाम, सोनीपत, हिसार, मुरथल, नई दिल्ली, बिलासपुर, भिवानी, रोहतक के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से शिक्षक भाग ले रहे है। यह कार्यक्रम 21 जुलाई 2011 तक आयोजित किया जाएगा। प्रोग्राम के समन्वयक डा उमेश आर्य है।

राशन वितरण कार्यक्रम का आयोजन कर 33 परिवारों को राशन बांटा गया
सिरसा
। डेरा सच्चा सौदा की सिरसा ब्लाक की साधसंगत के द्वारा आज शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के फूड बैंक पर राशन वितरण कार्यक्रम का आयोजन कर 33 परिवारों को राशन बांटा गया। इससे पूर्व फूड बैंक के समीप नामचर्चा का आयोजन किया गया, जिसमें सैंकड़ों लोगों राम नाम की महिमा का गुणगान किया।
शुक्रवार प्रात: पुराने सिविल अस्पताल रोड पर स्थित एलआईसी भवन के निकट स्थित शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंग के फूड व राशन बैंक पर नामचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें कविराज भाइयों ने मधुरवाणी में सतगुरू व रामनाम शब्द की महिमा का गुणगान किया। कविराज भाइयों ने ‘सतगुरू प्यारे जी दिलों के सहारे जीÓ, ‘प्यारे सतगुरू तेरे दीदार की कशिश सानू हरदम रहेंदी हैÓ, ‘नाम लेने में बड़ी है बहारÓ, ‘नाम से होगा उद्धार नाम ध्याले भाईÓ इत्यादि शब्द सुनाए। नामचर्चा के समापन के पश्चात 33 जरूरतमंद परिवारों को एक माह का राशन बांटा गया। इस अवसर पर पंद्रह मैंबर मनोहर इन्सां ने बताया कि पूज्य संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के वचनों पर अमल करते हुए साध संगत द्वारा सप्ताह में एक बार उपवास रखकर राशन बचाती है तथा उसे फूड बैंक में जमा करवाती है, जहां से जरूरतमंद परिवारों को राशन बांटा जाता है। इस मौके पर ब्लाक भंगीदास कस्तूर इन्सां, 15 मैंबर सुरेंद्र इन्सां, सात मैंबर जीत इन्सां, सतीश इन्सां, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेलफेयर फोर्स विंगं के सदस्य सुरेश मोंगा, निशांत इन्सां, औमप्रकाश, सुरेंद्र इन्सां, प्रेम इन्सां, जितेंद्र, सोनू, दर्शन, कृष्ण सेठी, ज्ञानचंद, कृपा सिंह, 25 मैंबर मीनू इन्सां, आशा इन्सां, सुजान बहन वीणा हंस, सुदेश, प्रवीण, सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

जिला कांग्रेस की मासिक बैठक आज कांग्रेस भवन में आयोजित की गइ
सिरसा
-जिला कांग्रेस की मासिक बैठक आज कांग्रेस भवन में आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता जिला कांग्रेस प्रधान मलकीयत ङ्क्षसह खोसा ने की। इस बैठक में ब्लाक प्रधान दरबारा ङ्क्षसह डबवाली, लादूराम पूनियां, पार्षद रमेश मेहता, हनुमान दास पटीर, गिरधारीलाल कसवां, महिला कांग्रेस की पूर्व प्रधान कैलाश रानी, मुन्नी शेखावत, उॢमल भारद्वाज, जरनैल ङ्क्षसह बराड़, रुप राम, सोहनपाल पोहड़का, निर्मल गनेरीवाला, डा. सोहन ङ्क्षसह थिराज, आत्म प्रकाश तलवाड़ा, हरबंस ङ्क्षसह सिद्धू, लक्ष्मण ढिल्लो रुपावास, सरदूल ङ्क्षसह, ओमप्रकाश एंथोनी, नायब ङ्क्षसह थिराज, पूर्व सरपंच रोहताश कसवां व संगीत कुमार सहित बड़ी संख्या में कार्यकत्र्ता शामिल हुए। कार्यकत्र्ताओं से संगठन संबंधी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। सरकार की उपलब्धियों बारे बताते हुए जिला कांग्रेस प्रधान मलकीयत ङ्क्षसह खोसा ने कहा कि हरियाणा सरकार ने प्रदेश के संपूर्ण विकास की प्रक्रिया को गति प्रदान की हुई है और सारे हरियाणा में बिना किसी दल गत भेदभाव के विकास के काम चल रहे हैं। खोसा ने कहा कि आम आदमी को सरकार ने अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई है। जिसके कारण प्रदेश में खुशहाली का वातावरण हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र ङ्क्षसह हुड्डा ने किसानों के हित में जो-जो कदम उठाए हैं उनका सकारात्मक प्रभाव पूरे प्रदेश में दिखाई दे रहा है।  खोसा ने कहा कि किसानों को उनकी फसलों के वाजिव मूल्य देकर सरकार ने उन्हें आॢथक मजबूती प्रदान की है। वहीं खेतीहर मजदूरों के लिए भी रोजगार के पुख्ता प्रबंध किए हैं। अब गांव में मजदूरों को मनरेगा योजना के तहत रोजगार उपलब्ध हो रहा है। जिससे मजदूर खुशहाल हुए हैं। खोसा ने कार्यकत्र्ताओं से आह्वान किया कि वे सरकार की उपलब्धियों का व्यापक प्रचार करें और लोगों को कांग्रेस के साथ जोड़ें। बैठक दौरान हरियाणा के पूर्व मंत्री जगदीश नेहरा के भतीजे छोटूराम नेहरा व पूर्व ओ.एस.डी. डा. केवी ङ्क्षसह की भाभी मुन्नी देवी सिहाग के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए दो मिनट का मौन रखकर उनकी आत्मिक शांति के लिए प्रार्थना की गई।

कालाबाजारी के लिए ले जाए जा रहे दस गैंस सिलेंडरों को एक पिकअप गाडी सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया
सिरसा
। थाना शहर सिरसा पुलिस ने कालाबाजारी के लिए ले जाए जा रहे दस गैंस सिलेंडरों को एक पिकअप गाडी सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया।  पकड़े गए आरोपियोंं की पहचान खान मोहम्मद पुत्र मुंशीखान व शौकीन खां पुत्र शमशुदीन निवासियान जमाल जिला सिरसा के रूप में हुई है।
    इस संबंध में जानकारी देते हुए खैरपुर चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक दलबीर सिंह ने बताया कि गश्त के दौरान मुखबरी मिली थी कि कुछ लोग एक पिकअप गाडी न. आरजे 31 जीए 1595 में एचपी कंपनी के दस सिलेंडर भरकर उन्हें उंचें दामों पर बेचने के लिए सिरसा से चौपटा क्षेत्र में ले जा रहे है। उन्होंने बताया कि इस सूचना को पाकर गाडी सहित दो आरोपियों को टाउन पार्क क्षेत्र से काबू कर लिया। दोनो आरोपियों को आज अदालत में पेश किया जाएगा। आरोपियों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज किया गया है।
शहर सिरसा पुलिस ने राधेश्याम पुत्र लूनाराम निवासी थेहड मोहल्ला सिरसा को 8 बोतल देसी शराब के साथ काबू किया जबकि डिंग पुलिस ने केवल राम निवासी कोटली को 7 बोतल शराब के साथ उसके गांव से काबू किया है।

उम्मीदवारों का साक्षात्कार कार्यालय पुलिस अधीक्षक कमांडों हरियाणा नेवल करनाल में 5 जुलाई से
सिरसा।
चेयरमैन चयन बोर्ड यमुनानगर एवं पुलिस अधीक्षक कमांडो हरियाणा नेवल करनाल की तरफ से बतलाया गया है कि हरियाणा पुलिस में पुलिस सिपाही पदों की भर्ती के लिए जिन उम्मीदवारों ने वर्ष 2008 में पुलिस अधीक्षक यमुनानगर के कार्यालय में आवेदन किया था, उनमें से अनुसूचित जाति वर्ग के पंजीकरण संख्या 2 से 3109 तक के उम्मीदवारों का साक्षात्कार कार्यालय पुलिस अधीक्षक कमांडों हरियाणा नेवल करनाल में दिनांक 5 जुलाई प्रात: 8बजे से आरंभ होना है। पंजीकरण संख्या 2 से 275 तक के उम्मीदवारों का 5 जुलाई, 279 से 535 तक का 6 जुलाई, 536 से 920 तक का 7 जुलाई, 922 से 1277 तक का 8 जुलाई को, 1278 से 1595 तक का 11 जुलाई को, 1593 से 1996 तक 12 जुलाई,1998 से 1331 तक का 13 जुलाई को, 2314 से 2696 तक का 14 जुलाई को तथा 2704 से 3109 तक का 15 जुलाई 2011 को साक्षात्कार होगा।

ओढां में आईटीआई कालेज की स्थापना के लिए 1 करोड़ 90 लाख रूपए की राशि जारी
सिरसा
। ओढां में आईटीआई कालेज की स्थापना के लिए 1 करोड़ 90 लाख रूपए की राशि जारी हो चुकी है। करीब 3 करोड़  80 लाख रूपए की लागत से बनने वाला यह संस्थान इस क्षेत्र के युवाओं की प्रतिभा को और अधिक निखारेगा तथा उनके लिए रोजगार उपलब्ध करवाने में सहायक सिद्ध होगा। उपरोक्त शब्द गृहराज्यमंत्री गोपाल कांडा के अनुज एवं हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि गोबिंद कांडा ने शू कैंप कार्यालय में जनसमस्याएं सुनने के पश्चात उपस्थितजनों से कहे। श्री कांडा ने कहा कि यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा की नीति शिक्षा ज्योत जन जन तक पहुंचाने की है। कांग्रेस पार्टी हमेशा ही सभी वर्गों और क्षेत्रों  के समान विकास को वचनबद्ध है।
गोबिंद कांडा ने कहा कि गृहराज्यमंत्री गोपाल कांडा सिरसा को एजूकेशन सिटी में तबदील करने को प्रयासरत है। ओढां में बनने वाला आईटीआई कालेज सिरसा के छात्रों के लिए वरदान साबित होगा। श्री कांडा ने बताया कि शीघ्र ही 1 करोड़ 18 लाख रूपए की लागत से आईटीआई कालेज की बिल्डिंग बननी आरंभ हो जाएगी और जारी की गई 72 लाख की राशि से इक्यूपैंट खरीदे जाएंगे। इस अवसर पर गोबिंद कांडा के साथ सूरत सैनी, मदन जांगडा, भूपेश गोयल, महेंद्र सेठी, गोबिंद गोयल, बलजीत कौर पार्षद, सुनील कैरांवाली, तरसेम गोयल, नवीन मेहरा, सुशीला सिसोदिया सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

बिज्जूवाली में स्मार्ट कार्ड आज बनेंगे
बिज्जूवाली,
1 जुलाई (हेमराज बिरट)। गांव बिज्जूवाली में आज 2 जुलाई शनिवार को 10 बजे बेकवर्ड चौपाल में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार व कर्मचारी राज्य बीमा स्वास्थ्य संरक्षण हरियाणा सरकार द्वारा चलाई गई राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवारों को स्मार्ट कार्ड बनाकर दिए जाएंगे। जानकारी देते हुए सरपंच राजाराम बिरट ने बताया कि स्मार्र्ट कार्ड से नेटवर्र्क अस्पताल में मरीज के ऑप्रेशन के लिए भर्ती होने पर प्रत्येक कार्डधारक परिवार को प्रति वर्ष तीस हजार रूपए तक की बीमारी का ईलाज नि:शुल्क किया जाएगा। सरपंच ने बताया कि प्रत्येक बी.पी.एल. परिवार को एक स्मार्ट कार्ड दिया जायेगा जिसमें परिवार के पांच सदस्यों के अंगूठे के निशान व फोटो अंकित होंगे।

स्कूलों में चहल-पहल शुरू
बिज्जूवाली
, 1 जुलाई ( हेमराज बिरट )। पिछले एक माह से स्कूलों की छुट्टियों समाप्त हो गई। स्कूलों में पिछले एक माह से सन्नाटा छाया हुआ था, लेकिन अब स्कूल के शुरू हो जाने से स्कूलों मेंंं चहल-पहल शुरू हो गई। बिज्जूवाली स्कूल में पढऩे वाले विद्यार्थियों ने बताया कि उन्होंने छुट्टियों के दौरान खुब लत्फ उठाया।

वृद्धावस्था पैंशन के नाम पर बुजुर्गों का अपमान नहीं होने दिया जाएगा-अभय सिंह चौटाला
ओढ़ां
-वृद्धावस्था पैंशन के नाम पर बुजुर्गों का अपमान नहीं होने दिया जाएगा, यदि बुजुर्गों को 10 जुलाई तक पैंशन न दी गई तो 11 जुलाई को चक्का जाम किया जाएगा। यह बात अभय सिंह चौटाला ने जनजागरण अभियान के तहत आज गांव पन्नीवाला मोटा में लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि लगातार बढ़ती महंगाई के कारण आज आम आदमी का जीना मुहाल हो गया है और प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। दिन दहाड़े हत्या, डकैती व लूट आदि की वारदातें हो रही हैं लेकिन प्रशासन व पुलिस मूक दर्शन बने हुए हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे हिसार लोकसभा उपचुनाव के लिए तैयार रहें। इस अवसर पर उनके साथ पूर्व मंत्री भागीराम, विधायक डॉ. सीताराम, कृष्ण कंबोज, महावीर बागड़ी, बलविंद्र सरां, मंदर सिंह, श्रवण डुडी, हंसराज सिहाग, जसबीर जस्सा, पदम जैन सहित अनेक नेता उपस्थित थे।

सरकारी भवनों में शौचालय बनावाए जाएंगे
ओढ़ां
-बीआरजीएफ के अंतर्गत करवाए कार्यों का लेखा जोखा लेने और आगामी बजट बारे विचार विमर्श करने के उद्देश्य से गांव बनवाला के प्राइमरी स्कूल में शुक्रवार को ग्राम सभा की बैठक का आयोजन पंचायत अधिकारी रामप्रकाश की अध्यक्षता में किया गया। इस बैठक में स्कूल में अधूरे पड़े कमरे को पूरा करने और 4 नए कमरे बनाने, जलघर में नया वाटर टैंक बनाने और 6 हजार फुट 6 इंची पाइप मंगवाने, अधूरे पड़े कम्यूनिटी हाल को पूरा करवाने, डिलीवरी हट बनवाने, गलियां पक्की करने, सरकारी भवनों में शौचालय बनाने, गलियों में स्ट्रीट लाइट लगाने, खेल स्टेडियम बनाने, बस स्टेंड से शराब का ठेका हटाने और शैड बनाने आदि कार्यों से संबंधित प्रस्ताव डाले गए। इस बैठक में सरपंच भरत सिंह डुडी, ग्राम सचिव जगदीश कुमार, कनिष्ठ अभियंता राधेश्याम, मुख्याध्यापिका मनजीत कौर, डीआरडीएफ की सदस्य रेणु बाला, कृषि विकास अधिकारी सुरजीत सिंह, एएनएम विनय कुमारी, उपदेश कुमारी, रतना देवी, पटवारी रामकुमार, साहिब राम नंबरदार, चुनीराम, श्योकरण, जीता राम, बनवारी लाल, सुरजीत राम और विनोद कुमार सहित अनेक गांववासी उपस्थित थे।
    इसी प्रकार गांव रिसालियाखेड़ा में सरपंच सुशीला देवी की अध्यक्षता में ग्राम सभा की बैठक का आयोजन किया गया जिसमें स्कूल की चारदीवारी बनाने, लड़कियों के स्कूल को अपग्रेड करने, जलघर में वाटर टैंक का निर्माण करने, खालों की सफाई करने आदि कार्यों से संबंधित प्रस्ताव डाले गए। इस बैठक में ग्राम सचिव जगदीश कुमार, एएनएम विनय कुमारी, उपदेश कुमारी, रतना देवी, पूर्व सरपंच साहिब राम व आसाराम, आइदान, लेखराम, मनोज कुमार, ओमप्रकाश, रामप्रताप, बृजलाल, हीरा लाल सहित अनेक गांववासी उपस्थित थे।

बीए तृतीय वर्ष का परीक्षा परिणाम 99.9 प्रतिशत रहा
ओढ़ां
-माता हरकी देवी महिला महाविद्यालय ओढ़ां का बीए तृतीय वर्ष का परीक्षा परिणाम 99.9 प्रतिशत रहा। प्राचार्या अनीता छाबड़ा ने बताया कि कुल 243 छात्राओं ने परीक्षा दी जिसमें मनप्रीत कौर सुपुत्री नछतर सिंह निवासी चोरमार 76.50 प्रतिशत अंकों के साथ प्रथम, कोमलप्रीत कौर सुपुत्री चरणजीत सिंह निवासी ओढ़ां 74.50 प्रतिशत अंकों के साथ द्वितीय और रमनदीप कौर सुपुत्री जगराज सिंह निवासी मलिकपुरा ने 73.50 प्रतिशत अंकों के साथ तृतीय स्थान प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया जारी है और 15 जुलाई तक बिना लेट फीस के प्रवेश लिए जाएंगे। संस्था के कोषाध्यक्ष मंदर सिंह ने अपनी माता की याद में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को क्रमश: 2100 रुपए व 1100 रुपए प्रतिवर्ष देने की प्रतिज्ञा की। छात्राओं ने सफलता का श्रेय अपने माता पिता व स्टाफ को दिया तथा संस्था के प्रधान हरदयाल सिंह गदराना ने छात्राओं को बधाई दी।

खंड संसाधन समन्वयकों का पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न
ओढ़ां
-राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ओढ़ां में जारी खंड संसाधन समन्वयकों के पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन के अवसर पर एमएस वर्ड, एक्सेल, इंटरनेट से इमेल द्वारा सूचनाएं व आंकड़े तैयार करने और उन्हें भेजने का व्यवहारिक कार्य करवाया गया जिसमें सभी अध्यापकों ने गहरी रूचि दिखाई। कंप्यूटर प्रशिक्षक नीरज मक्कड़ व अंकुर शर्मा ने मिलकर ट्रेनर का कार्य किया।
    जिला सर्वशिक्षा अभ्यिान में कार्यरत सहायक जिला समन्वयक नरेंद्र सिंह ने संसाधन अध्यापकों के लिए कंप्यूटर की उपयोगिता, आवश्यकता व अनिवार्यता के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि सूचनाओं के आदान प्रदान में तीव्रता लाने के लिए हंतु संसाधन अध्यापकों के लिए कंप्यूटर का प्रयोग करना जरूरी कर दिया गया है। विद्यालय प्रबंधन प्रशासन, संचालन व नियंत्रण संबंधी गतिविधियों पर बोलते हुए वरिष्ठ प्रवक्ता हरमेल सिंह ने बताया कि इन क्षेत्रों में नवाचार के लिए कंप्यूटर का प्रयोग आवश्यक है। उन्होंने बताया कि सूचना व प्रौद्योगिकी के युग में नई पीढ़ी के बच्चों को शिक्षण के लिए अध्यापकों को कंप्यूटर द्वारा सूचना प्रदान करने, कंप्यूटर से शैक्षणिक गतिविधियों को संचालित करने से अध्यापन कार्य में नवाचार, रोचकता व तीव्रता आती है। अंत में उन्होंने इस प्रशिक्षण से अध्यापकों को होने वाले लाभों पर प्रकाश डाला। कंप्यूटर पर दिए गए प्रशिक्षण बारे सभी अध्यापकों से फीडबैक भी लिया गया जिसे सभी अध्यापकों ने सफलतापूर्वक पूरा किया।