>local sirsa news सिरसा समाचार

6 जुलाई

>

जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने व उन्हें साईंस के प्रति प्रेरित करने के लिए सरकार द्वारा  (इनस्पायर) नामक योजना चलाई गई है
सिरसा
, 6 जुलाई।         जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने व उन्हें साईंस के प्रति प्रेरित करने के लिए सरकार द्वारा innvocation Science pursuit for inspired research (इनस्पायर) नामक योजना चलाई गई है।  इस योजना के तहत विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन 20 से 22 जुलाई तक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में किया जाएगा।  इस संबंध में 8 जुलाई को विज्ञान अथवा अन्य सहायक अध्यापकों, प्राध्यापकों की बैठक का आयोजन किया जाएगा जिसमें प्रदर्शनी के आयोजनार्थ एवं मॉडल बनाने हेतु विस्तृत रूप से योजना तैयार की जाएगी।
    यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि उक्त योजना के तहत मॉडल तैयार करने हेतु प्रत्येक बच्चे को 5 हजार रुपए की राशि दी गई है। जिला के सातों खंडों से साईंस मॉडल तैयार करने के लिए कुल 289 छात्रों का चयन किया गया है।  ये छात्र जिले के विभिन्न विद्यालयों से संबंध रखते हैं। आयोजित प्रदर्शनी में वे अपने मॉडल सहित भाग लेंगे। इन बच्चों को मॉडल बनाने एवं परिवहन हेतु पांच हजार रुपए की राशि पहले से ही प्रदान कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इस प्रकार से सिरसा जिला में इस योजना के तहत 14 लाख 45 हजार रुपए की राशि खर्च की जा रही है। यह योजना केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के माध्यम से प्रदेश में पहली बार एस.सी.ई.आर.टी. के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है। उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत बच्चों द्वारा साईंस मॉडल तैयार करने के लिए जल संरक्षण, सौर ऊर्जा, ऊर्जा बचाओ जैसे विषय दिए गए हैं जिन पर छात्र साईंस अध्यापकों के निर्देशन में मॉडल तैयार करेंगे। मॉडल तैयार करवाने के लिए जिला के चुने हुए साईंस अध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिरसा जिला में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 8 जुलाई को आयोजित होगा जिसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में सभी अध्यापक भाग लेंगे और छात्रों को मार्गदर्शन देने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा।
    उन्होंने बताया कि इनस्पायर नामक इस योजना के तहत खंडवार बच्चों की पहचान की गई है। इस योजना के तहत कुल 289 बच्चे भाग लेंगे। बड़ागुढ़ा खंड के 50, डबवाली के 9, नाथूसरी चौपटा के 65, सिरसा खंड के 44, रानियां के 42, ऐलनाबाद खंड से 27 व ओढंा खंड से 52 बच्चों का चुनाव किया गया जिन्हें उपरोक्त राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि साईंस मॉडल प्रतियोगिता के लिए दो श्रेणियां बनाई गई है। छठी से आठवीं तक के बच्चे पहली श्रेणी में रखे गए हैं और दूसरी से आठवीं तक के बच्चों को दूसरी श्रेणी में रखा गया है। पहले दोनों श्रेणियों में अलग-अलग जिला स्तरीय प्रतियोगिता होगी जो 20, 21 और 22 जुलाई को स्थानीय खैरपुर स्कूल में आयोजित की जाएगी। इसके बाद जो छात्र इस प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करेंगे उन्हें राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भेजा जाएगा।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि स्कूली छात्र-छात्राओं को विज्ञान विषय के प्रति प्रेरित करने के उद्देश्य से ही जिला के सभी खंडों के राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूलों में पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत 33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं। अभी तक जिला के तीन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में म्यूजियम से संबंधित उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं।
    उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि प्रत्येक मॉडल स्कूल में लगभग पौने पांच लाख रुपए के साईंस उपकरण स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इनमें सैंकड़ों प्रकार के साईंस उपकरणों शामिल है। इन उपकरणों के माध्यम से मॉडल स्कूलों के छात्रों को साईंस की जानकारी देकर इस विषय की ओर प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन मुख्य उपकरणों में बीफोर एंड आफ्टर डैम, ब्लास्ट फरनेंस बॉडी लैस हैड, डीएनए, विंड मील, मिशन मार्स, आरकेमीडिज स्क्रयू, एसट्रोनोट आदि उपकरण शामिल हैं।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सिरसा में 4 लाख 85 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ऐलनाबाद में 4 लाख 74 हजार, डबवाली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 72 हजारकी राशि से साईंस म्युजियम स्थापित किए गए है। इसके साथ साथ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गुडिय़ाखेड़ा में 4 लाख 77 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालांवाली में 4 लाख 97 हजार, रानियां के कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 90 हजार,  और रोड़ी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 77 हजार रुपए के साईंस उपकरण स्थापित  किए जाने है। 

ग्रुप कैप्टन अनिल सभ्रवाल से वायु यौद्धाओं द्वारा प्रस्तुत एक भव्य परेड समारोह में वायु सेना स्टेशन सिरसा की कमान संभाली
सिरसा
, 6 जुलाई।      एयर कमांडर एसपी सिंह ने गत दिवस ग्रुप कैप्टन अनिल सभ्रवाल से वायु यौद्धाओं द्वारा प्रस्तुत एक भव्य परेड समारोह में वायु सेना स्टेशन सिरसा की कमान संभाली। विंग कमांडर अजय लुदरा द्वारा निर्मित परेड के चार स्कवाड्रनों में दो-दो फ्लाइटें थीं। परेड 2 मिग-21 एयरक्राफ्ट के फ्लाई पास्ट के साथ संपन्न हुआ। इस समारोह में सिविलियन गणमान्य अतिथियों के साथ वायु यौद्धा एवं उनके परिवार के सदस्य भी उपस्थित थे।
    स्टेशन के कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए विदा लेने वाले स्टेशन कमांडर ने वायु यौद्धाओं के स्मार्ट टर्न  आउट तथा उनके द्वारा प्रस्तुत परेड की प्रशंसा की। उन्होंने इस स्टेशन के कर्मचारियों की दक्षता, उनके व्यावसायिक योगदान की सराहना की तथा उन्हें इसी तरह लग्न से काम करते रहने के लिए अनुरोध भी किया।
    नए वायु अफसर कमाडिंग एयर ऑफिसर कोमोडोर एसपी सिंह एक फाइटर पायलट हैं तथा इस स्टेशन की कमान संभालने से पहले वायु सेना के विभिन्न महत्वपूर्ण पदों को सुशोभित कर चुके हैं। इन्हें 3000 घंटे कुशल उड़ान का अनुभव प्राप्त है। बाद में इन्होंने वायु सेना के अधिकारियों एवं सिरसा शहर के गणमान्य अतिथियों से मुलाकात की।

जिला में बाढ़ से संभावित क्षेत्रों व गांवों में बेहतर पशु स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने एवं पशुओं को सुरक्षित रखने हेतु 29 विशेष टीमें गठित की गई
सिरसा
, 6 जुलाई।        सघन पशुधन विकास परियोजना द्वारा जिला में बाढ़ से संभावित क्षेत्रों व गांवों में बेहतर पशु स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने एवं पशुओं को सुरक्षित रखने हेतु 29 विशेष टीमें गठित की गई हैं और फ्लैड कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है जिसके नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नंबर 01666-245007 है।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि गठित टीमों के इंचार्ज संबंधित उपमंडलाधिकारी पशुपालन होंगे। विशेष टीमों के कार्यों की समय-समय पर समीक्षा करने हेतु चैकिंग करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि सिमन बैंक अधिकारी (एसबीआई)बाढ़ नियंत्रण अधिकारी होंगे। सभी टीमों के लिए आवश्यक वैक्सीन व दवाइयोंं से संबंधित पशु चिकित्सक केंद्रीय भंडार राजकीय पशु चिकित्सालय सिरसा से प्राप्त करके वे टीमों को उपलब्ध करवाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी टीम इंचार्ज क्षेत्र में पशु स्वास्थ्य हेतु संक्रमक रोगों, गलघोटू, शीपॉक्स, रानीखेत, ईटीवी आदि के टीके लगाकर वैक्सीनेशन डिवरमिंग आदि करके अपने इलाके के पशु-पक्षियों को इन रोगों से सुरक्षित रखेंगे।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि विभाग द्वारा बाढ़ से संभावित क्षेत्रों में सभी आवश्यक पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ से प्रभावित पशुओं को तुरंत आवश्यक चिकित्सा सुविधा मिलनी चाहिए इस बारे भी कड़े प्रबंध किए गए हैं। इसके अतिरिक्त पशु चिकित्सालय, पशु औषधालय में दवाइयां तथा वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में स्टॉक होने चाहिए इस बारे में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं।
    उन्होंने बताया कि पशुओं को कृमि रोग से सुरक्षित रखने हेतु पशुओं को कृमिनाशक इलाज देना भी जरूरी है। विभाग द्वारा बनाई गई टीमें प्रत्येक गांवों में घूम-घूमकर कृमि रोगों का इलाज करने बारे कार्रवाई आरंभ कर दी। गठित विशेष टीमें दवाइयां पिलाने का कार्य अपने सामने ही करेंगी।
    उपायुक्त ने बताया कि गठित टीमों को कार्य क्षेत्र आवंटित किए गए हैं। बाढ़ संभावित क्षेत्र जैसे बरूवाला, भरोखां, मुसाहिबवाला, पनिहारी, बुर्ज कर्मगढ़, फरवाई कलां व खुर्द, नेजाडेला कलां, झोपड़ा, खैरपुर, बरनाला रोड, वैदवाला, चतरगढ़ पट्टी, हांडीखेड़ा, भावदीन, संगर सरिस्ता, पतली डाबर, मौजूखेड़ा, बग्गूवाली, नरेलखेड़ा, डिंगमोड़, सुचान कोटली, सिकंदरपुर, बाजेकां, फुलकां, मोरीवाला, दड़बी, रसूलपुर थेड़ी, अलीकां, मल्लेवाला, नागोकी, किराड़कोट, बुढ़ाभाणा, ढाबा, बप्पां, झिड़ी, नेजाडेला खुर्द, मत्तड़, लहंगेवाला, रंगा, रोड़ी, सूरतिया, फग्गू, रोहण, देसुखुर्द, भीमा, मलड़ी, थिराज, झोरडऱोही, पंजुआना, ओटू, धनूर, फिरोजाबाद, नानकपुर, चक्कबणी, चकजीवा, अबूतगढ़, चक्कसाहिबा, धोतड़, सुलतानपुरिया, नानुआना, झोरडऩाली, रानियां कस्बा, ढाणी सतनाम सिंह, नगराना, अभोली व साथ लगती ढाणियां, भड़ोलांवाली, रामपुरथेड़ व सभी ढाणियां, अमृतसर कलां, बुड़ीमेड़ी, अमृतसर खुर्द, प्रतापनगर, मिर्जापुर, ठोबरिया, हिम्मतपुरा, नकौड़ा, नगराना, माधोसिंघाना, मंगाला, टीटूखेड़ा, चौबुर्जा, मोडिय़ाखेड़ा, शहीदांवाली, ढाणी काहन सिंह, मल्लेकां, कुत्ताबढ़, मौजदीन, कोटली, केसुपुरा, रत्ताखेड़ा, गिंदड़ावाली, खैरेकां, अहमदपुर, मीरपुर, मीरपुर कॉलोनी, बनसुधार, चामल, खुहवाली ढाणी, सुखचैन ढाणी, केलनियां, ढाणी-400, शमशाबाद पट्टी, पंजुआना, बुर्जभंगू, साहुवाला-प्रथम, भंगू, कर्मगढ़, शेखुपुरियां, फतेहपुरिया, ऐलनाबाद कस्बा, तलवाड़ाखुर्द, धौलपालियां, ढाणी जाटान, नीमला, मिठनपुरा, कर्मशाना, बेरवालाखुर्द, मौजूखेड़ा, किरपाल पट्टी, ममेरां, शेखुखेड़ा, हुमायुखेड़ा, संतनगर, हरिपुरा, जीवननगर, करीवाला, संतोखपुरा, हारनी, धर्मपुरा, मंजिल थेड़, शहीदांवाली थेड़, सिरसा शहर,  खाजाखेड़ा, सलारपुर, बेगू, नटार, रंगड़ी, रामनगरियां, कंगनपुर तथा भम्बूर व श्री गौशाला सिरसा तथा साथ लगती ढाणियां आदि शामिल हैं। इन गांवों में तथा ढाणियों में विभाग के सभी पशु चिकित्सक व वीएलडीए सहित विभाग के कर्मचारी पशुओं को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाएंगे तथा किए गए कार्यों की रिपोर्ट से भी उच्चाधिकारियों को समय-समय पर अवगत करवाते रहेंगे।

फतेहाबाद व सिरसा के महाविद्यालय चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जुड़े : भारद्वाज
सिरसा,
6 जुलाई। हरियाणा सरकार ने सिरसा व फतेहाबाद जिलों के लोगों की चिरलंबित मांग को पूरा करते हुए शैक्षणिक सत्र 2011-12 से इन दोनों जिलों के सरकारी तथा गैर सरकारी महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय, सिरसा से जोड़ दिया है।
        इस आशय की जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति डा. के.सी. भारद्वाज ने पत्रकारों को बताया कि महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय से जोडऩे की बातचीत काफी समय से चल रही थी और इस संबंध में राज्य सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना की प्रति मंगलवार देर सायं विश्वविद्यालय को प्राप्त हुई है। डा. भारद्वाज ने कहा कि इस क्षेत्र के लोगों ने महाविद्यालयों को विश्वविद्यालय से जोडऩे के लिए जो आग्रह किया था, हरियाणा के मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने उस पर अमल करते हुए सिरसा और फतेहाबाद जिलों के महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जोडऩे का फैसला किया। उन्होंने बताया कि इन महाविद्यालयों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से जोडऩे से जहां एक और कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की प्रशासनिक दक्षता बढ़ेगी, वहीं दूसरी और इस क्षेत्र के विद्यार्थियों को सही समय पर परीक्षा परिणाम मिलेंगे व विद्यार्थियों को शैक्षणिक एवं प्रशासनिक कार्यों के लिए दूर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इन जिलों को चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय से सम्बद्धित करने पर हरियाणा सरकार ने एक बार फिर प्रदेश में शिक्षा के सत्र को मजबूत बनाने के संकल्प को दोहराया है।
        कुलपति ने बताया कि उनका प्रयास रहेगा कि विश्वविद्यालय से जोड़े गए महाविद्यालयों में अधिक से अधिक गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया करवाने के साथ-साथ खेल एवं युवा कल्याण की सुविधाओं को और अधिक मजबूत किया जाए। गौरतलब है कि विश्वविद्यालय के डा. के.सी. भारद्वाज को हाल ही में भारतीय विश्वविद्यालय संघ के गवर्निंग बॉडी के सदस्य के रूप में चुना जाना निश्चित रूप से इन महाविद्यालयों के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय का प्रयास रहेगा कि इन सभी महाविद्यालयों में अनेक रोजगारोन्मुखी व उद्योगों की मांग को पूरा करने वाले पाठ्यक्रम इसी शैक्षणिक सत्र से प्रारंभ किए जाएं। महाविद्यालयों में प्लेसमैंट सैल भी विकसित की जाएगी, ताकि विद्यार्थियों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मुहैया करवाए जा सकें।
        डा. भारद्वाज ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि इस बात में कोई दो राय नहीं है कि महाविद्यालयों के जुडऩे से विश्वविद्यालय में कार्यभार बढ़ेगा, लेकिन विश्वविद्यालय परिवार के सभी कर्मचारी बढ़े हुए कार्यभार को सहर्ष करने में सक्षम हैं। डा. भारद्वाज ने कहा कि गैर शिक्षक कर्मियों की भर्ती के लिए हाल ही में विज्ञापन जारी किया जा चुका है और शीघ्र ही विश्वविद्यालय द्वारा गैर शिक्षक कर्मियों की भर्ती कर ली जाएगी।  डा. भारद्वाज ने बताया कि चौ. देवी लाल विश्वविद्यालय पुरुषों व महिलाओं की अंतर्विश्वविद्यालय कुश्ती प्रतियोगिता व फुटबाल प्रतियोगिता की मेजबानी भी करेगा।

भारत की हिंदू संस्कृति पर विदेशी वर्चस्व कायम हो रहा है। देश के बड़े-बड़े नेता भारतीय संस्कृति को धूमिल करने में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे हैं
सिरसा
, 6 जुलाई। भारत की हिंदू संस्कृति पर विदेशी वर्चस्व कायम हो रहा है। देश के बड़े-बड़े नेता भारतीय संस्कृति को धूमिल करने में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहे हैं। इसी के चलते देश में लगातार भारतीय संस्कृति का ह्रास हो रहा है। यह बात बजरंग दल के प्रांतीय संयोजक सुरेश वत्स भारती ने स्थानीय सुभाष चौक में धर्मांतरण और गौहत्या पर प्रतिबंद लगाने और विदेशी ताकतों को बुलंद करने वाले नेताओं का पुतला फूंकने से पूर्व उपस्थित बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि देश में धर्मांतरण और गौहत्याओं जैसे जघन्य अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं और इन्हें सत्ता के गलियारों में बैठे लोग शह देने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि विदेशी आक्रमणकारी और भ्रष्टाचारी नेताओं के कारण ही आज हिंदुत्व पर गहरा खतरा मंडरा रहा है। सुरेश वत्स भारती ने यूपीए की अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सोनिया गांधी इटली के इशारे पर देश में विदेशी ताकतों को सक्रिय करने में जुटी हैं, ताकि हिंदुओं से उनकी विरासत छीनी जा सके। उन्होंने कहा कि हिंदू संगठन ऐसे विदेशी आक्रमण और भ्रष्टाचारी नेताओं को सर नहीं उठाने देंगे। इसके लिए चाहे उन्हें कोई भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े। श्री भारती ने कहा कि दिग्विजय सिंह जैसे नेता अपनी संकुचित मानसिकता का परिचय दे रहे हैं और इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं, जो सीधे हिंदुओं पर कुठाराघात करती हैं। उन्होंने कहा कि नेताओं को बयानबाजी करने से पूर्व हिंदुओं की भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए। श्री भारती ने गत दिवस एक टी-शर्ट पर अंकित आपत्तिजनक शब्दों के मामले में कहा कि पुलिस की लचर कार्यप्रणाली के चलते अभी तक न तो दोषियों के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई की गई है और न ही टी-शर्ट निर्माता कम्पनी को कानून के घेरे में लिया गया है। उन्होंने कहा कि यदि टी-शर्ट मामले में कम्पनी के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई नहीं की गई तो हिंदू संगठन देश भर में आंदोलन करने को मजबूर होंगे। इस अवसर पर सहजिला संयोजक कपिल जोशी, सह नगर संयोजक ललित सोलंकी व पुनित गोदारा, गौरक्षा प्रमुख ललित छिम्पा, विद्यार्थी प्रमुख भूपेन्द्र कुमार, मिलन केन्द्र प्रमुख मानसिंह, डिंग रोड के खंड संयोजक राजकुमार, विजय सैनी, अनिल बत्तरा व सैकड़ों की संख्या में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विदेशी आक्रमणकारी, भ्रष्टाचारी नेताओं का पुतला फूंका और विदेशी तंत्र के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

पुलिस महानिरीक्षक हिसार मंडल हिसार श्री अनंत कुमार ढुल की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिलाभर के सभी अधिकारियों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया
सिरसा
। पुलिस महानिरीक्षक हिसार मंडल हिसार श्री अनंत कुमार ढुल की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जिलाभर के सभी अधिकारियों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया। इस मीटिंग में पुलिस अधीक्षक सिरसा श्री सतेंद्र कुमार गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री प्रवीण मेहता, ऐलनाबाद के डीएसपी श्री रविंद्र कुमार,  डबवाली के डीएसपी श्री बाबू लाल यादव,सिरसा के उपपुलिस अधीक्षक श्री पूर्णचंद पंवार समेत जिला के सभी थाना प्रबंधकों ने भाग लिया।
मीटिंग  में उपस्थित पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए पुलिस महानिरीक्षक श्री ढुल ने कहा कि जिन थाना क्षेत्रों में भूमि विवाद या पुरानी रंजिश को लेकर कोई मामला पुलिस के संज्ञान में है, तो उसे तुरंत निपटाने में अहम भूमिका निभाए ताकि कोई बड़ी घटना या बडा मुद्दा न बन पाए। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि जिलाभर में आपराधिक तत्वों व अनैतिक धंधा करने वालों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में और अधिक तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि बेलजंपरों, पैरोलजंपरों व उदघोषित अपराधियों पर नकेल कसने के लिए सीमावर्ती राज्यों की पुलिस से बेहतर संबंध स्थापित कर उनकी मदद ली जाए। उन्होंने पुलिस को निर्देश दिए कि शिवरात्रि पर्व के दौरान कावडिय़ों के आगमन को लेकर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की जाए। पुलिस महानिदेशक ने जिला पुलिस द्वारा अपराधों की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियानों की समीक्षा की व मुक्तकंठ से सराहना की। श्री ढुल ने बताया कि जिला सिरसा में इस वर्ष अब तक हत्या के कुल 26 अभियोग दर्ज हुए है, जिनमें से जिला पुलिस ने 22 अभियोगों की सुलझाने में सफलता हासिल की है, जबकि शेष मामलों में जांच सकारात्मक दिशा में बढ रही है। उन्होंने बताया कि जिला पुलिस द्वारा इस अवधि के दौरान मादक पदार्थ अधिनियम के तहत 85 अभियोग अंकित करके 48 किलो 775 किलोग्राम अफीम व 450 किलोग्राम चूरापोस्त तथा 440 ग्राम स्मैक बरामद करने में सफलता हासिल की है। शस्त्र अधिनियम के तहत जिला पुलिस ने 33 अभियोग अंकित करके 24 पिस्तौल, 19 कारतूस, 6 चाकू व छुर्रे बरामद किए है। इस वर्ष की अब तक की अवधि के दौरान 5 आपराधिक गैंग पकड़े गए ,जिनमें 21 लोगों को गिरफ्तार कर 12 मामलों की गुत्थी सुलझाकर 10 लाख 18 हजार रूपए की चोरीशुदा संपति भी बरामद की है। 
इससे पूर्व पुलिस महानिरीक्षक श्री अनंत कुमार ढुल ने पुलिस लाईन सिरसा में जाकर मनानीय न्यायलय से फैंसलाशुदा अभियोगों में बरामद किए गए नशीले पदार्थों को गठित किए गए बोर्ड के सदस्यों श्री विवेक शर्मा, पुलिस अधीक्षक फतेहाबाद,श्री सतेंद्र कुमार गुप्ता पुलिस अधीक्षक सिरसा, डयूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार औमप्रकाश बिश्रोई व नगर परिषद सदस्यों की मौजूदगी में सिरसा में 222 अभियोगों में बरामद किए गए 6153 किलो व 370 ग्राम चूरापोस्त व 8 मामलों में बरामद 428 ग्राम 700 मिलीग्राम स्मैक को जलाकर नष्ट किया जबकि 20 मामलों में बरामद 47 किलो 570 ग्राम अफीम को नियमों के अनुसार गाजीपुर उतरप्रदेश की सरकारी प्रयोगशाला में भेजा जाएगा। इस मौके पर पार्षद रमेश मेहता, अंग्रेज बठला, बृजलाल सैनी, राजेंद्र कुमार व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह पेड़ लगाये
सिरसा।
पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है कि वह पेड़ लगाये। यह बात आज हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि व राज्य पर्यावरण सलाहकार समिति सदस्य (हरियाणा सरकार) होशियारी लाल शर्मा ने गांव मोरीवाला के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चों व ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर उनके साथ मा. राजकुमार वर्मा, हरीश सोनी, पूर्ण चंद गिरधर, तिलक चंदेल, संत लाल गुंबर, यूसुफ खान, प्रवीण मिढा, रवींद्र मलिक भी मौजूद थे। पौधारोपण का कार्यक्रम पूर्व तकनीकी निदेशक गुरमंगत सिंह गाफल द्वारा आयोजित किया गया जिसमें वन विभाग के ब्लाक अधिकारी महावीर सैनी, कांग्रेस जिला सचिव सुखवींद्र सिंह, पूर्व सरपंच दिलबाग सिंह, हैड मास्टर सुरेश चंद, हैड टीचर प्राईमरी बिमला देवी, नरसी राम, हंसराज कंबोज, बलवान सिंह माली, प्रीतपाल कौर, वीना, गुनजीत, सुमन, हुसन, परमजीत, अनीता, संतोष व प्रोमिला सहित स्कूली स्टाफ मौजूद रहा। इस मौके पर श्री शर्मा ने स्कूल के प्रांगण में पौधारोपण करते हुए कहा कि पेड़ हमारे जीवन में अमूल्य हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है। आज भारत सहित अनेेक देश इस समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे में यह जरूरी हो जाता है कि प्रत्येक व्यक्ति प्रकृति को बचाये। सर्व शिक्षा अभियान पर बोलते हुए श्री शर्मा ने कहा कि हरियाणा में लागू इस अभियान का फायदा हर बच्चे को मिल रहा है। सरकार द्वारा शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के साथ-साथ बच्चों के लिए खेलकूद की सुविधा व मीड-डे-मील कार्यक्रम सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा राज्य आने वालों वर्षों के दौरान शिक्षा के मामले में देश के अग्रणी राज्यों में शुमार होगा।

18 नवनिर्मित सी टाईप मकानों का उदघाटन किया
हिसार
  6 जुलाई 2011-    गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार में आज विश्वविद्यालय के कुलपति डा एम एल रंगा ने 18 नवनिर्मित सी टाईप मकानों का उदघाटन किया। यह मकान 190 लाख रूपये की लागत से तैयार किए गए है। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो आरएस जागलान, कार्यकारी अभियन्ता श्री अशोक अहलावत, विभिन्न विभागों के अधिष्ठïाता, विभागाध्यक्ष एवं अधिकारीगण भारी संख्या में उपस्थित थे ।  
        कुलसचिव प्रो आर एस जागलान ने कहा कि प्रति मकान का 900 स्केयर फिट कवर एरिया है।  उन्होने बताया कि प्रत्येक मकान में एक ड्राईंग रूम, लाबी,  रसोईघर, दो-दो बैडरूम व स्नानघर है। नवनिर्मित भवन तीन मंजीला है। प्रो जागलान ने बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन अपने कर्मचारियों क ी कल्याणकारी योजनाओं पर त्रीव गति से कार्य कर रहा है। उन्होने कहा कि विश्वविद्यालय अपने कर्मचारियों को हर सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कटिबद्घ है।

कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में हरियाणा सहित पूरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उन्नति हुई है
सिरसा
, 6 जुलाई। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि गोबिंद कांडा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में हरियाणा सहित पूरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व उन्नति हुई है। श्री कांडा आज एम.डी.एल.आर. कार्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। गोबिंद कांडा ने कहा कि मुख्यमंत्री चौ. भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के प्रयासों से हरियाणा में अनेक विश्वविद्यालयों की स्थापना की गई है तथा सैकड़ों स्कूलों को अपग्रेड किया गया है। इसी के साथ सिरसा भी एजूकेशन सिटी बन कर उभरा है। सरकार द्वारा सिरसा और फतेहाबाद के महाविद्यालयों के प्रशासनिक कार्यों को चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय के सबद्ध करने से सिरसा जिला के छात्रों को विशेष लाभ होगा। यहां के छात्रों को अपने शैक्षणिक कार्य करवाने के लिए 200 किलोमीटर दूर कुरुक्षेत्र नहीं जाना पड़ेगा। इससे उनके समय और धन की बचत होगी तथा इसी के साथ चौ. देवीलाल विश्वविद्यालय को अधिक बजट  भी उपलब्ध हो सकेगा। श्री कांडा ने कहा कि सिरसा की छात्राओं को शिक्षा आसानी से सुलभ करवाने के लिए अनेक कदम उठाए जा रहे हैं, जिसके अंतर्गत कालुआना ग्राम पंचायत की तर्ज पर अनेक गांवों से छात्राओं को शहर के स्कूल-कॉलेजों में  लाने-ले जाने के लिए बसों का प्रबंध किया जाएगा तथा छात्राओ को कम्प्यूटर शिक्षा दिलाने के विशेष प्रबंध किये जा रहे हैं। इस अवसर पर कृष्ण सैनी, जिला कांग्रेस महासचिव रानी रंधावा, तरसेम गोयल, सूरत सैनी, मक्खन सिंह ख्योंवाली, हरजिन्द्र सिंह बब्बू, रवि गोदारा, चरनजीत कैरांवाली, भूपेश गोयल, बलजीत कौर, रिंकू, पृथ्वी भाटिया, अश्वनी शर्मा सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

अमेरिका स्थित कनेडी स्पेस सैंटर(नासा) का भ्रमण कर लौंटी शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान की आठ छात्राओं ने अपने अनुभव मीडिया कर्मियों से सांझे किए
सिरसा
।  अमेरिका स्थित कनेडी स्पेस सैंटर(नासा) का भ्रमण कर लौंटी शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान की आठ छात्राओं ने अपने अनुभव मीडिया कर्मियों से सांझे किए। 
नासा के 11 दिनों के भ्रमण के बाद वापिस लौंटी शाह सतनाम जी गल्र्ज शिक्षण संस्थान की छात्राओं का स्कूल प्रांगण में स्कूल प्राचार्या शीला इन्सां, स्टाफ सदस्यों व सहपाठियों के द्वारा फूल मालाएं पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। भ्रमण से लौटी छात्राओं निधि इन्सां (बारहवीं मेडिकल), रवनीत इन्सां , अमनप्रीत इन्सां , जश्नदीप इन्सां , गुरप्रीत इन्सां ,(दसवीं), मीशू इन्सां (ग्यारहवीं), राजवीर कौर इन्सां , रणदीप इन्सां (बारहवीं) व उनका नेतृत्व कर रही विद्यालय की लाईब्रेरियन मीना इन्सां ने बताया कि बीती 25 जून से 3 जुलाई तक शैक्षणिक भ्रमण के तहत  उन्होंने अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र नासा का भ्रमण किया तथा अंतरिक्ष यात्रियों के रहन सहन, खान पान व दिनचर्या को नजदीक से देखा व जाना। छात्राओं निधि व अमनप्रीत ने बतलाया कि उनका स्वप्न है कि वे कल्पना चावला की भांति एस्ट्रोनॉट बने तथा देश का नाम रोशन करें। छात्राओं ने बतलाया कि उन्होंने भ्रमण के दौरान यूएनओ आफिस, एंपायर एस्टेट बिल्डिंग, स्टेच्यू आफ लिबर्टी, नासा इत्यादि का भ्रमण किया।
अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के जीवन को करीब से जानकर बहुत रोमांचित दिखलाई दे रही छात्राओं ने बतलाया कि करीब चार मिनट के अनुभव के दौरान उन्होंने शून्य गुरूत्वाकर्षण बल के अनुभव को महसूस किया, इस दौरान उन्होंने पाया कि उनके शरीर का वजन शून्य है। उन्होंने बतलाया कि अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की दिनचर्या पर आधारित थ्री डी मुवी के माध्यम से उन्होंने जाना कि किस प्रकार अंतरिक्ष विज्ञानी अंतरिक्ष में रहते, खाते पीते है। छात्राओं ने बतलाया कि उन्होंने जाना कि किस प्रकार राकेट उडान भरता है व उतरता है। उन्होंनें बतलाया कि अंतरिक्ष में शून्य गुरूत्वार्कषण (जीरो ग्रेविटी) के कारण सभी चीजें तैरती रहती है। अंतरिक्ष विज्ञानियों की दिनचर्या काफी रोमांचक व दिलचस्प होती है। छात्राओं ने बतलाया कि अंतरिक्ष विज्ञानियों की दिनचर्या में सबसे मुश्किल कार्य पानी पीना है, क्योंकि पानी बंूदों के रूप में उडता रहता है।  उन्होंने बतलाया कि इस अवसर पर उन्होंने अंतरिक्ष विज्ञानियों के साथ काफी समय बतलाया तथा विज्ञानी एडवर्ड जिनेट ने उन्हें अहम जानकारियां दी। छात्राओं ने बतलाया कि वे इस अनुभव को अपनी सहपाठी व जूनियर छात्राओं के साथ सांझा करेंगी।
इस अवसर पर स्कूल प्राचार्या शीला इन्सां ने बतलाया कि संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा से शाह सतनाम जी शिक्षण संस्थान खेलों व शिक्षा के क्षेत्र में देशभर में अग्रणी बनता जा रहा है। उन्होंने बतलाया कि संस्थान की छात्राओं को पै्रैकेटिकल रूप से अंतरिक्ष विज्ञान का अनुभव करवाने के लिए संस्थान द्वारा आठ छात्राओं को अमेरिका स्थित नासा संस्थान में भेजा गया था। उन्होंने बतलाया कि इससे पूर्व 2009 में भी संस्थान से छात्राओं का एक दल नासा भ्रमण पर गया था। स्कूल प्राचार्या ने बतलाया कि इस क्षेत्र में एक कदम और बढाते हुए संस्थान द्वारा अक्तूबर माह में एयर विंग ली जा रही है, जिससे विद्यार्थी हवाई यात्रा के अनुभवों से अवगत होंगे।    

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: