>local sirsa news सिरसा समाचार

5 जुलाई

>

33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं
सिरसा
, 5 जुलाई।          जिला में 12वीं तक की कक्षाओं में पढऩे वाले छात्र-छात्राओं को विज्ञान विषय के प्रति प्रेरित करने के उद्देश्य से जिला के सभी खंडों के राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूलों में पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत 33 लाख 72 हजार रुपए की राशि खर्च करके साईंस म्यूजियम स्थापित किए जा रहे हैं। अभी तक जिला के तीन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में म्यूजियम से संबंधित उपकरण स्थापित किए जा चुके हैं।
    यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि प्रत्येक मॉडल स्कूल में लगभग पौने पांच लाख रुपए के साईंस उपकरण स्थापित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इनमें सैंकड़ों प्रकार के साईंस उपकरणों शामिल है। इन उपकरणों के माध्यम से मॉडल स्कूलों के छात्रों को साईंस की जानकारी देकर इस विषय की ओर प्रेरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन मुख्य उपकरणों में बीफोर एंड आफ्टर डैम, ब्लास्ट फरनेंस बॉडी लैस हैड, डीएनए, विंड मील, मिशन मार्स, आरकेमीडिज स्क्रयू, एसट्रोनोट आदि उपकरण शामिल हैं।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना के तहत राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सिरसा में 4 लाख 85 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ऐलनाबाद में 4 लाख 74 हजार, डबवाली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 72 हजारकी राशि से साईंस म्युजियम स्थापित किए गए है। इसके साथ साथ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गुडिय़ाखेड़ा में 4 लाख 77 हजार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कालांवाली में 4 लाख 97 हजार, रानियां के कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 90 हजार,  और रोड़ी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 4 लाख 77 हजार रुपए के साईंस उपकरण स्थापित  किए जाने है।
    उपायुक्त ने बताया कि जिला में छात्रों को साईंस विषय में दक्ष करने तथा आकर्षित करने के लिए  innvocation Science pursuit for inspired research (इनस्पायर) नामक योजना के तहत जिला स्तरीय और बाद में राज्य स्तरीय सार्इंस मॉडल प्रतियोगिता करवाई जाएगी।  इस प्रतियोगिता के लिए मॉडल तैयार करने हेतु प्रत्येक बच्चे को 5 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। जिला के सातों खंडों से साईंस मॉडल तैयार करने के लिए कुल 289 छात्रों का चयन किया गया है। इन छात्रों को पांच-पांच हजार रुपए की राशि दी जाएगी। इस प्रकार से सिरसा जिला में इस योजना के तहत 14 लाख 45 हजार रुपए की राशि खर्च की जाएगी। यह योजना केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के माध्यम से प्रदेश में एस.सी.ई.आर.टी. के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है।
    उन्होंने बताया कि उक्त योजना के तहत बच्चों द्वारा साईंस मॉडल तैयार करने के लिए जल संरक्षण, सौर ऊर्जा, ऊर्जा बचाओ जैसे विषय दिए गए हैं जिन पर छात्र साईंस अध्यापकों के निर्देशन में मॉडल तैयार करेंगे। मॉडल तैयार करवाने के लिए जिला के चुने हुए साईंस अध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिरसा जिला में यह प्रशिक्षण कार्यक्रम 8 जुलाई को आयोजित होगा जिसमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खैरपुर में सभी अध्यापक भाग लेंगे और छात्रों को मार्गदर्शन देने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा।
    जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती कुमकुम ग्रोवर ने बताया कि इनस्पायर नामक इस योजना के तहत खंडवार बच्चों की पहचान की गई है। इस योजना के तहत कुल 289 बच्चे भाग लेंगे। बड़ागुढ़ा खंड के 50, डबवाली के 9, नाथूसरी चौपटा के 65, सिरसा खंड के 44, रानियां के 42, ऐलनाबाद खंड से 27 व ओढंा खंड से 52 बच्चों का चुनाव किया गया जिन्हें उपरोक्त राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि साईंस मॉडल प्रतियोगिता के लिए दो श्रेणियां बनाई गई है। छठी से आठवीं तक के बच्चे पहली श्रेणी में रखे गए हैं और दूसरी से आठवीं तक के बच्चों को दूसरी श्रेणी में रखा गया है। पहले दोनों श्रेणियों में अलग-अलग जिला स्तरीय प्रतियोगिता होगी जो 20, 21 और 22 जुलाई को स्थानीय खैरपुर स्कूल में आयोजित की जाएगी। इसके बाद जो छात्र इस प्रतियोगिता में अव्वल स्थान प्राप्त करेंगे उन्हें राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भेजा जाएगा।

राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार 2011 के लिए 6 वर्ष से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों से 18 अगस्त तक आवेदन पत्र आमंत्रित
सिरसा,
5 जुलाई।          भारतीय बाल कल्याण परिषद् द्वारा राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार 2011 के लिए 6 वर्ष से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों से 18 अगस्त तक आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए हैं।
    यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि यह आवेदन पत्र जिला बाल कल्याण अधिकारी कार्यालय में 18 अगस्त तक जमा करवाए जा सकते हैं। यह वीरता पुरस्कार उन बच्चों को दिया जाता है जिन्होंने सामाजिक बुराई व अपराध के विरूद्ध अपनी जान जोखिम में डालकर निस्वार्थ भाव से अदम्य साहस व उल्लेखनीय बौद्धिक कौशल का परिचय दिया है।
    डा. ख्यालिया ने बताया कि यह पुरस्कार गणतंत्र दिवस पर वर्ष 1957 से प्रति वर्ष साहसी बच्चों का सम्मान व अन्य बच्चों को वीरता के कार्य के प्रति प्रेरित करना है। उन्होंने बताया कि इसके लिए आवेदन पत्र जिला बाल कल्याण अधिकारी से या उपायुक्त कार्यालय से प्राप्त किया जा सकता है उन्होंने बताया कि इसे दोहरी प्रति में भरना होगा। बाल वीरता पुरस्कार-2011 के लिए पहली जुलाई, 2010 से 30 जून, 2011 के मध्य घटना घटित होनी चाहिए, जिसके लिए प्रार्थी आवेदन कर रहा है। इस पुरस्कार के लिए चयन उच्च अधिकार प्राप्त कमेटी द्वारा किया जाएगा।

सांड बेसमेंट में गिरा सुरक्षित बाहर निकाला
सिरसा
,(5 जुलाई 2011):  बरनाला रोड सिरसा पर निर्माणधीन बिल्डिंग में अचानक एक सांड बेसमेंट में गिर गया। इसका पता चला तो श्री मारूति चैरीटेबल ट्रस्ट व नगर पार्षद श्री रमेश मेहता, सर्वधर्म सोसायटी के सहसचिव रणजीत सिंह टक्कर व सुरक्षा ट्रस्ट के प्रधान श्री भंवरलाल स्वामी ने मोहल्ला निवासियों के सहयोग से सांड को सुरक्षित बाहर निकाल कर पुण्य का कार्य किया व लोगों से अपील की कि हम सबको इन बेसहारा जानवरों को किसी सुरक्षित जगह पर चारा डालना चाहिए व बीमार, घायल होने पर इनका इलाज करवाना चाहिए। उपस्थित लोगों ने उपरोक्त व्यक्तियों की इस पुण्य कार्य की मुक्त कंठ से प्रशंसा की।

गांव सुचान में लीगल लिट्रेसी कैंप का आयोजन किया गया
सिरसा
, 5 जुलाई।        भारतीय ग्रामीण महिला समिति तथा परिवार परामर्श केंद्र सिरसा द्वारा संचालित जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा गांव सुचान में लीगल लिट्रेसी कैंप का आयोजन किया गया जिसमें अवनीश सिंह कालड़ा एडवोकेट व परामर्शदाता रविंद्र मोंगा ने लोगों को नशे के प्रभाव से दूर रहने, पर्यावरण एवं जल संसाधनों की संभाल करते हुए अपने जीवन को सुखमयी बनाने बारे विस्तार से जानकारी दी।
    उन्होंने कहा कि विधिक सामाजिक एवं धार्मिक उत्तरदायित्वों का निर्वहन करते हुए विधिक सेवा प्राधिकरण एवं परिवार परामर्श केंद्रों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें ताकि उन्हें समय-समय पर बनने वाले कानूनों की जानकारी मिलती रहे। उन्हांने लोगों को विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दी जा रही नि:शुल्क कानूनी सहायता, घरेलू हिंसा अधिनियम 2005, संविधान के तहत प्रदत्त अधिकारों के बारे में भी बताया। इस अवसर पर रविंद्र मोंगा ने लोगों को आपसी लड़ाई-झगड़ों से दूर रहने की सलाह देते हुए पारिवारिक मसलों को पंचायती स्तर पर व लोक अदालत के माध्यम से हल करने पर बल दिया।
    इस मौके पर गांव की सरपंच श्रीमती रामप्यारी ने भी गांव के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने लोगों की महिलाओं व बच्चों को कानूनी जानकारी के बारे में जागरूक किया। उन्होंने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव नरेश कुमार सिंघल, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं चेयरमैन सुभाष गोयल, जिला सैशन जज सिरसा का आभार  प्रकट करते हुए भविष्य में भी कानूनी सहायता शिविर एवं परामर्श सुविधा सहित हर माह ऐसे शिविर आयोजित करने के लिए प्रार्थना की।    

कांग्रेस के राज में प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया है
सिरसा
, 5 जुलाई। इनेलो के जिला प्रैस प्रवक्ता कृष्ण गुम्बर ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि कांग्रेस के राज में प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच गया है और प्रशासनिक अधिकारी बेलगाम हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है, लेकिन सरकार को इसकी कोई परवाह नहीं है। महंगाई के चलते गरीब आदमी के लिए दो वक्त की रोटी का जुगाड़  करना मुश्किल हो गया है। गम्बर ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बनकर रह गई है और सभी योजनाएं और नीतियां पूंजीपतियों के हितों को ध्यान में रखकर बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार किसानों का आर्थिक शोषण कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की जमीन को कोडियों के भाव खरीद कर सरकार उन्हें पूंजीपतियों को मोटे दामों में बेचकर बड़ा मुनाफा कमा रही है।
उन्होंने कहा एक तरफ तो प्रदेश के मुख्यमंत्री हरियाणा को देश का नंबर वन राज्य बताते हैं, जबकि प्रदेश के लोगों को मूलभूत सुविधाएं भी यह सरकार नहीं दे रही। प्रदेश में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है। आए दिन बलात्कार, लूट, चोरी व हत्या जैसी घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। गुम्बर ने कहा कि लोगों का मोह अब कांग्रेस सरकार से भंग हो चुका है। लोग अब समझ चुके हैं उनके हित केवल इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के शासनकाल में ही सुरक्षित रह सकते हैं और लोगों ने अब इनेलो को सत्ता सौंपने का मन बना लिया है। उन्होंने दावा किया कि आने वाला समय इनेलो का है और चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ही मुख्यमंत्री होंगे।

हरियाणा प्रदेश में अब तक हुए विकास कार्य एक नींव मात्र है
सिरसा,
5 जुलाई। कांग्रेस जिला प्रधान मलकीत सिंह खोसा ने कहा है कि हरियाणा प्रदेश में अब तक हुए विकास कार्य एक नींव मात्र है और आने वाले समय में विकास का पहिया और भी तेजी से घूमेगा। जिला प्रधान ने कहा कि विपक्षी दलों के नेताओं की बौखलाहट का जवाब और अधिक विकास कार्य करके दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व वाली राज्य सरकार के अब तक के कार्यकाल के दौरान हुए अभूतपूर्व विकास कार्यों के चलते विपक्षी दल कहीं भी टिक नहीं पा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और जिस तरह से इनेलो और भाजपा को लोगों ने नकारा है, इससे सिद्ध होता है कि लोग विकास और इमानदारी को पंसद करते हैं, इसलिए भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को दोबारा प्रदेश की बागडोर सौंपी है।
खोसा ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार पूरी ईमानदारी व मेहनत के साथ सभी वर्गों के लोगों के कल्याण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सड़कों व पुलों का मजबूत जाल बिछाकर इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाया गया है। आने वाले समय में हुड्डा की सरकार बनेगी और विकास कार्य यूं ही चलते रहेंगे।

होनहार युवाओं की राजनीति में भी सख्त जरूरत है
सिरसा
(5 जून)भारत एक युवा देश है। जिस प्रकार प्रत्येक क्षेत्र में युवा कार्य कर रहे हैं उसी तरह होनहार युवाओं की राजनीति में भी सख्त जरूरत है। यह बातें गत दिवस गांव धिंगतानिया में आयोजित एक जनसभा के दौरान युवा कांग्रेस नेता व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि होशियारी लाल शर्मा के पुत्र राजेश शर्मा ने कही। गांव के सरपंच बलबीर द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पहुंचने पर राजेश शर्मा का फूल मालाएं पहनाकर गर्मजोशी से स्वागत किया गया। इस मौके पर उनके साथ पंचायत सेल के प्रदेश महासचिव मुकेश शर्मा, जिला युवा कांग्रेस के महासचिव डॉ. आजाद केलनिया, मदन चौबुर्जा, राधे श्याम वर्मा, देवेंद्र कुमार, कन्हैया लाल, वेद सैनी, राकेश प्रधान, कृष्ण कंबोज, राजू सैनी, हेमंत, बजरंग, बंटी सैनी, सोनू, मोहित, विशाल उर्फ मोगली व रिंकु भी मौजूद थे। इस मौके पर ग्रामीणों ने राजेश शर्मा को गांव की विभिन्न समस्याओं से अवगत करवाया। जिसमें बीपीएल कार्ड बनवाना, बिजली समस्या व पेंशन की समस्या प्रमुख थीं। राजेश शर्मा ने ग्रामीणों की समस्या को गंभीरता से सुनते हुए कहा कि वे अपने स्तर पर गांव की हरेक समस्या को पूरा करवाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गांव में आज बिजली, पानी, सड़क व्यवस्था, शिक्षा, रोजगार सहित सभी सुविधाएं प्रदान करवाई जा रही हैं। उन्होंने लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में कांग्रेस पार्टी से जुडऩे का आह्वान किया। प्रदेश में शहरों व गांवों का एक समान विकास हो रहा है। मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के कुशल नेतृत्व में प्रदेश के गांवों में जितना काम अब तक हुआ है उतना इससे पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि देश में हरियाणा राज्य विकसित राज्यों की श्रेणी में गिना जाता है जिसका श्रेय कांग्रेस शासन को जाता है। इस मौके पर बलराज कुम्हार, विनोद नायक, राम स्वरूप हरिजन, शंकर नायक, कुरड़ा राम नायक, गुलजारी नायक, केसराराम कुम्हार, मास्टर सुरेश, बक्शीराम नायक, मदन हरिजन, देशराज भक्त, विनोद चावरिया, रोहताश नायक सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण जनसमूह मौजूद था।

सामुदायिक रेडियो को शिक्षा और सामाजिक परिवर्तन के कारगर उपकरण के रूप में प्रयोग किया जा सकता है
हिसार
  5 जुलाई, 2011 चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग और रेडियो सिरसा के अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा है कि सामुदायिक रेडियो को शिक्षा और सामाजिक परिवर्तन के कारगर उपकरण के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। शिक्षण संस्थाओं और सामाजिक संगठनों को अपने अपने क्षेत्र में स्थानीय समुदाय की सेवा के लिए सामुदायिक रेडियो स्टेशन स्थापित करने के लिए आगे आना चाहिए। वे आज यहां गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के एकेडेमिक स्टाफ कालेज में चल रहे ओरिएंटेशन कार्यक्रम में प्रतिभागी शिक्षकों को संबोधिर कर रहे थे। भारतीय सामुदायिक रेडियो संघ के राष्टï्रीय संयोजक चौहान ने कहा कि भारत सरकार के सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने देश में चार हजार सामुदायिक रेडियो स्टेशन स्थापित करने का लक्ष्य रखा है जबकि फिलहाल देश के केवल 115 ऐसे स्टेशन कार्य कर रहे हैं।
वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि हरियाणा में अब तक केवल पांच सामुदायिक रेडियो स्टेशनों ने कार्य करना प्रारंभ किया है। आधा दर्जन स्टेशनों की स्थापना का काम तेज गति से चल रहा है। उन्होंने कहा कि हाल ही में सूचना प्रसारण मंत्रालय ने नए सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की स्थापना के इच्छुक शिक्षण संस्थानों और गैर सरकारी संगठनों ने आवेदन मांगे हैं। प्रदेश के सक्रिय गैर सरकारी संगठनों और प्रतिष्ठिïत शिक्षण संस्थानों को इस अवसर का लाभ लेते हुए इसके लिए जल्द से जल्द आवेदन करना चाहिए ताकि हरियाणा इस मोर्चे पर देश के अन्य राज्यों से आगे निकल सके। उन्होंने कहा कि सामुदायिक रेडियो के माध्यम से शिक्षण संस्थान ने केवल अपने क्षेत्र में प्रभावी जनजागृति कार्यक्रम चला सकते हैं बल्कि इसके साथ साथ वे अपने विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के लिए भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
चौहान ने कहा कि वर्तमान में जीवन के किसी भी क्षेत्र में कामयाबी के लिए असरदार कम्युनिकेशन स्किल्स की आवश्यकता होती है। रेडियो इस दिशा में अभ्यास व प्रशिक्षण में अद्भुत मदद कर सकता है। भारतीय सामुदायिक रेडियो संघ के राष्टï्रीय संयोजक चौहान ने कहा कि उनका संगठन देशभर के सामुदायिक रेडियो स्टेशनों को एक मंच पर लाकर उनकी समस्याओं के  निपटारे के लिए पुरजोर प्रयास कर रहा है। देशभर के सामुदायिक रेडियो आपस में कार्यक्रमों का लेनदेन करें, इसके लिए भी एक ऑनलाइन प्लेटफार्म तैयार किया जा रहा है।

सर्वधर्म एकता सोसायटी द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन
सिरसा
, 5 जुलाई।         कल 6 जुलाई को प्रात: 9 बजे स्थानीय अशोक प्रोपर्टीज, कुंडू प्रोपर्टीज, शॉपिंग कॉम्पलैक्स न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी बरनाला रोड पर रक्तदान शिविर का आयोजन सर्वधर्म एकता सोसायटी द्वारा किया जा रहा है।
    यह जानकारी देते हुए उक्त सोसायटी के अध्यक्ष अविनाश फुटेला ने बताया कि रक्तदान शिविर का उद्घाटन चौधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डा. मनोज सिचाव करेंगे जबकि अध्यक्षता प्रो. वीरेंद्र चौहान करेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार विजता शमशेर सिंह संधू, गुरू प्रोपर्टीज के संचालक ओमप्रकाश ठुकराल, क्रेजी फैशन के संचालक पवन जिंदल, प्रोपर्टी डीलर एसोसिएशन के प्रधान गुरभेज ढिल्लो शामिल होंगे।
    उन्होंने बताया कि जिला उपायुक्त, रैडक्रास एवं आईएसबीटीआई के अध्यक्ष डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया के मार्गदर्शन में सर्वधर्म एकता सोसायटी प्रगति की ओर अग्रसर है। उन्होंने बताया कि सोसायटी द्वारा सातवां रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने सभी रक्तदानियों एवं जिलावासियों से अनुरोध है कि इस पवित्र यज्ञ में अपनी आहुति डालकर सहभागी बनें।

मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेशभर में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई है
सिरसा
। मुख्यमंत्री चौ. भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में प्रदेशभर में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई है, जिनके परिणाम स्वरूप सरकार की नीतियों से हर वर्ग प्रसन्न व खुशहाल है। मुख्यमंत्री श्री हुड्डा व सिरसा के सांसद डा. अशोक तंवर के नेतृत्व में सिरसा जिला में रिकार्डतोड विकास कार्य हुए है। उक्त उदगार ब्लाक कांग्रेस कमेटी सिरसा शहरी के अध्यक्ष भूपेश मेहता ने आज अपने कार्यालय में विभिन्न वार्डों व ग्रामीण क्षेत्रों से आए लोगों की जनसमस्याएं सुनते हुए व्यक्त किए।
इस अवसर पर उनके साथ औमप्रकाश एंथोनी, यूसुफ खान, ताज मोहम्मद, विनोद भाटिया, विनोद उपाध्याय, रामदास बजाज, प्रेम सैनी, जय सिंह नेजिया, सुमित मेहता, प्रवीण, गौरव, अभिमन्यू मलिक, हंसराज सलारपुर, रमेश गोयल, पवन सिंगला, वेद प्रकाश कंवरपुरा, वेद कुसुंभी सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भूपेश मेहता ने कहा कि प्रदेश में खेलों को बढावा देने के लिए मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा लागू की गई खेल नीति के परिणामस्वरूप युवा खिलाडिय़ों को पुलिस भर्ती में अवसर दिए जाने से सराहनीय परिणाम सामने आएंगे। आज प्रदेश में बिजली, पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं आमजन को भरपूर रूप से मिल रही है। श्री मेहता ने कहा कि प्रदेशभर में पैंशन भोगियों को हर माह की दस तारीख को पैंशन उपलब्ध करवाने के लिए सरकार पूर्णत गंभीर है तथा शीघ्र ही पैंशन भोगियों को निश्चित समय पर पैंशन मिलनी आरंभ हो जाएगी। इस अवसर पर उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे प्रदेश सरकार की उपलब्धियों व नीतियों को आमजन तक पहुंचाए ताकि अधिक से अधिक लोग लाभांवित हो।

पांच किलो चूरापोस्त सहित दो महिलाओं को काबू किया
सिरसा।
बडागुढ़ा पुलिस ने क्षेत्र के गांव सुखचैन से पांच किलो चूरापोस्त सहित दो महिलाओं को काबू किया है। आरोपी महिलाओं के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज किया गया है। आरोपियों को कल न्यायालय में पेश किया जाएगा। जानकारी मुताबिक बडागुढ़ा थाना के सहायक उपनिरीक्षक भूदेव सिंह पर आधारित एक पुलिस ने टीम ने क्षेत्र के गांव सुखचैन से संदिग्ध परिस्थितियों में घूम रही दो महिलाओं कीतलाशी लेने पर उनके कब्जे से पांच किलो चूरापोस्त बरामद किया। आरोपी महिलाओं की पहचान निहालो देवी पत्नी गोपाल व नानकी पत्नी त्रिलोक निवासी गुरूकरण कॉलोनी सीकरी राजस्थान के रूप में हुई है। आरोपी महिलाओं ने बताया कि वे यह चूरापोस्म मध्य प्रदेश से लेकर आई थी।

अदालत परिसर से चोरी हुए दो मोटरसाइकिलों की गुत्थी को सुलझाया
सिरसा
, 5 जुलाई। जिला की शहर डबवाली पुलिस ने बीती 14 जून व 21 जून को कस्बा डबवाली के अदालत परिसर से चोरी हुए दो मोटरसाइकिलों की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने इस संबंध में दो लोगों को काबू कर उनकी निशानदेही पर मोटरसाइकिल बरामद कर लिए है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान कुलविंद्र सिंह पुत्र बलजिंद्र ङ्क्षसह निवासी जोधपूर रमाणा व भूपेंद्र सिंह पुत्र महेंद्र सिंह निवासी लाल ङ्क्षसह बस्ती बठिंडा पंजाब के रूप में हुई है। जानकारी के अनुसार इस घटना में शहर डबवाली पुलिस ने बीती 1 जुलाई को सर्वप्रथम घटना के एक आरोपी कुलविंद्र सिंह को चोरीशुदा मोटरसाइकिल के साथ बठिंडा चौक से गिरफ्तार किया था, पुलिस ने आरोपी को डबवाली अदालत में पेश कर पूछताछ हेतू पहले दो दिन का तथा उसके बाद एक दिन का रिमांड हासिल किया। रिमांड अवधि में पूछताछ के दौरान उसके दूसरे साथी भूपेंद्र की पहचान हुई तथा घटना का दूसरा मोटरसाइकिल भी बरामद कर लिया गया है। दोनो आरोपियों को आज डबवाली अदालत में पेश किया जाएगा।
सिरसा, 5 जुलाई। जिला की सीआईए सिरसा पुलिस ने बीती 8 अपै्रल को बेगू रोड पर स्थित डेरा सच्चा सौदा के समीप से चोरी हुई बुलेरो गाडी व मोबाईल चोरी की घटना की गुत्थी को सुलझा लिया है। पुलिस ने घटना के एक आरोपी को काबू कर उसकी निशानदेही पर मोबाईल भी बरामद कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान परमजीत पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी दिनोद जिला भिवानी के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपी को आज सिरसा अदालत में पेश किया जाएगा। मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए सीआईए सिरसा के प्रभारी किशोरी लाल ने बताया कि पकड़े गए आरोपी परमजीत से पूछताछ के दौरान इस घटना में शामिल उसके दो अन्य साथियों की पहचान कर ली गई है। उन्होंने बताया कि पहचान किए गए दोनो आरोपी फिलहाल वाहन चोरी के आरोप में भिवानी जेल में बंद है, जिन्हे प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ कर चोरीशुदा बुलेरो गाडी भी बरामद की जाएगी। सीआईए प्रभारी ने बताया कि इस संबंध में पुलिस ने सुखजीत सिंह पुत्र रणजीत ङ्क्षसह निवासी फत्ताखेडा पंजाब की शिकायत पर अभियोग दर्ज किया था व मामले की जांच का जिम्मा सीआईए पुलिस को सौंपा गया था।

दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता सम्पन्न
ओढ़ां
-गांव जलालआना में शाह सतनाम सिंह स्टेडियम में आयोजित दो दिवसीय जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का मंगलवार को समापन हो गया। समापन समारोह में सिरसा के एसडीएम रोशन लाल ने मुख्यातिथि के रूप में भाग लेकर विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित करते हुए कहा कि खेल को खेल की भावना से खेलें और आपसी प्रेमभाव बनाए रखें। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी का नशों की बजाय खेलों की ओर रूझान सराहनीय है।
    प्रतियोगिता के अंतिम दिन आज कुश्ती में 112 किलोग्राम भार वर्ग में कल्याणनगर के सन्दीप राणा ने रानियां के रामकुमार को हराकर प्रथम स्थान हासिल किया। 57 किलोग्राम भार वर्ग में दारेवाला ब्लाक से गुरमेल सिंह प्रथम व सिरसा के मिथन ने दूसरा स्थान हासिल किया। 76 किलोग्राम भार वर्ग में सिरसा के रूपेश ने प्रथम व रानियां के अशोक ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। बालीबाल का फाइनल मुकाबला सिरसा और रानियां की टीमों के मध्य खेला गया जिसमें रानियां की टीम ने सिरसा की टीम को 3-0 से हराकर फाइनल मैच जीत लिया। महिलाओं की रस्साकशी में सिरसा ने कल्याणनगर को हराया। क्रिकेट के फाइनल में कल्याण नगर और शाह सतनाम पुरा की भिड़ंत हुई जिसमें शाह सतनाम पुरा की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 82 रन बनाए। इसके जवाब में कल्याण नगर की टीम 10 ओवरों में 6 विकेट खोकर 77 रन ही बना सकी। इस प्रकार शाह सतनाम पुरा की टीम ने फाइनल मैच 5 रनों से जीत लिया।
     इस अवसर पर खेल आयोजन समिति के सदस्य सतदेव, औमप्रकाश पटवारी, विजय, बहन लक्ष्मी, बीना और कंचन के अलावा कालांवाली के एसडीओ पवन चावला, मक्खन सिंह, सुखराज, पाली, नक्षत्र सिंह, लीला जैन, कस्तूर इन्सां, सर्वजीत नम्बदरदार, सतपाल नम्बरदार, गुरपाल, राजाराम, पवन इन्सां सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

दहेज के लिए बहू को स्प्रे पिलाकर मारा
ओढ़ां
-गांव नुहियांवाली में एक विवाहिता को ससुरालजनों ने जबरदस्ती स्प्रे पिलाकर मरने के लिए मजबूर कर दिया। थाना प्रभारी हीरा सिंह ने बताया कि ओढ़ां पुलिस ने विवाहिता की मां सुखपाल कौर पत्नी साधूराम निवासी नुहियांवाली की शिकायत पर पति करता राम, सास मूर्ति देवी, ससुर हरवंस लाल, जेठ लालचंद, ननद रेशमा और नामालूम बहनोई के खिलाफ दहेज मांगने और मरने के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। सुखपाल कौर ने अपनी शिकायत में बताया कि करीब डेढ़ वर्ष पूर्व उनकी 20 वर्षीय पुत्री संतोष का उसी गांव के रहने वाले करता राम के साथ शादी हुई थी और शादी के बाद उसकी बेटी की सास, ससुर पति, ननद व सभी घर वाले उसे दहेज के लिए तंग करने लगे और अक्सर उससे मारपीट करने लगे। कुछ माह पूर्व उसकी बेटी ने एक पुत्र को जन्म दिया था लेकिन फिर भी उसके ससुराल वाले खुश नहीं हुए और उनकी दहेज की मांग बरकरार रही तथा 4 जुलाई सोमवार की शाम उन्होंने उसे जबरदस्ती स्प्रे पिला दी और घर से फरार हो गए। सूचना मिलने पर वे अपनी बेटी को ओढ़ां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां से उसे सिरसा रैफर कर दिया गया तथा रात को करीब 10 बजे उनकी बेटी ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव का पोस्ट मार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया।
    बताया जाता है कि
    संतोष व करता राम एक ही गांव के रहने वाले हैं।
    दोनों को आपस में प्यार हो गया था जिसके चलते मार्च 2010 में दोनों की अंतर्राजातीय शादी हुई।         शादी की चर्चा पूरे गांव में रही।
    इस शादी का गांव के कुछ लोगों ने विरोध करते हुए उनकी शादी मंदिर में नहीं होने दी थी।
    लड़की अनुसूचित जाति की थी और लड़का पिछड़े वर्ग से संबंध रखता था।
    करीब 3-4 माह पूर्व लड़की ने अपने माता पिता के घर एक लड़के को जन्म दिया था।
    लड़का व उसके माता पिता हिस्से पर जमीन लेकर काश्त करते हैं।
    मृतका के जेठ लालचंद की अभी तक शादी नहीं हुई है।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: