>प्रादेशिक समाचार-24.06.2011

24 जून

>

आकाशवाणी चण्डीगढ़
मुख्य समाचार:-
* हरियाणा सरकार ने राज्य के 2500 जमा दो स्कूलों में कम्पयूर शिक्षा पर तीन
सौ करेाड़ रूपये खर्च किये है
* कृषि विभाग ने पानी के समुचित उपयोग और बेहतर उत्पादन के दृष्टिगत धान
रोपाई के लिये मशीनों का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है।
* केंद्र ने देश की अदालतों में लंबित मामलों के निपटारे के लिये फास्ट ट्रैक के
प्रस्ताव को मंजूरी दी।
* हरियाणा में बिजली की दैनिक उपलब्धता लगातार दूसरे दिन 1288 लाख यूनिट
से अधिक रहने का रिकार्ड बना।
हरियाणा सरकार ने प्रदेश के ढाई हजार से अधिक जमा दो स्कूलों में बेहतर कम्पयूर
शिक्षा देने के लिये तीन सौ करेाड़ रूपये खर्च किये है ताकि विद्यार्थी प्रतिस्पर्धा के
आधुनिक युग में बेहतर प्रदर्शन कर सकें। शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल ने झज्जर में यह
जानकारी देते हुये कहा कि अधिकतर प्लस टू के स्कूलों में आधुनिक कम्प्यूटर लैबस
बना दी गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार सभी सरकारी स्कूलों में शिक्षा बेहतर
माहौल देने का प्रयास कर रही है। साथ ही विद्यार्थी शिक्षक अनुपात पर भी ध्यान दिया
जा रहा है ताकि विद्यार्थियों पर पूरा ध्यान दिया जा सके।

हरियाणा कृषि विभाग ने राज्य में धान की बुआई के लिये धान बीजने वाली मशीनों का
इस्तेमाल करने का फैसला किया है ताकि इसके लिए पानी का उपयुक्त इस्तेमाल हो
सके। विभागीय प्रवक्ता ने चंडीगढ़ में बताया है कि आठ जिलों में ऐसी मशीनें खरीदने
के लिये 75 हजार रूपये की सब सीडी दी गई है और इस नयी तकनीक से आठ सौ
एकड़ क्षेत्र में धान उगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि इन मशीनों के
अलावा कृषि विभाग 26 सौ रूपये प्रति एकड़ उन किसानों को दे रहा है जो इस
तकनीक का उपयोग करेंगे। इन खर्चों में दवाइयों का छिड़काव शामिल है जिसमें आठ
जिलों में बीस लाख 80 हजार रूपये खर्च किये जायेंगे।

सिरसा जिले में धान रोपण का काम 15 जून से शुरू हो गया है। इस वर्ष जिले में 60
हजार हैक्टेयर भूमि पर धान की बुआई की जा रही है। कृषि विभाग के एक प्रवक्ता ने
बताया कि अब तक 15 हजार हैक्टेयर पर धान की बुआई हो चुकी है। इस वर्ष गत वर्ष
के मुकाबले 21 हजार हैक्टेयर अधिक भूमि पर कपास की फसल बीजी गई है जिस
कारण धान के तहत क्षेत्र में कमी आई है। कृषि विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि
विभागीय विशेषज्ञ विभिन्न गांवों में जा कर किसानों को सभी फसलों की अधिक उपज
लेने, उन्हें कीटों से बचाने की शिक्षा दे रहे है।

हरियाणा में पिछड़ा क्षेत्र अनुदान कोष योजना के तहत वर्ष 2011-12 में महेंद्रगढ़ एवं
सिरसा जिलों में क्षमता निर्माण योजना पर 3 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे। ये ोनों
जिले पिछड़ा क्षेत्र अनुदान कोष योजना के अधीन आते हैं मुख्य सचिव श्रीमती उर्वशी
गुलाटी ने यह जानकारी आज चंडीगढ़ में हुई पिछड़ा क्षेत्र अनुदान कोष की
उच्चाधिकार प्राप्त कमेटी की 8 वीं बैठक में दी। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत
आने वाले जिलों की जिला परिषदों के प्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को उनके अधिकारों
एवं कार्यों की जानकारी देने के लिए रिफरैश कोर्स आयोजित किये जायेंगे और इस
वित्त वर्ष में हरियाणा ग्रामीण विकास संस्थान व पंचायती राज संस्थानों में लगभग साढ़े
सात हजार प्रतिनिधियों के लिये रिफरैश कोर्स आयोजित करेगा।

हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती उर्वशी गुलाटी ने सुझाव दिया है कि पिछड़ा क्षेत्र
अनुदान कोष के तहत केवल आधारभूत संरचना के विकास पर धन खर्च करने की बजाय
योजना में नये एवं सरल घटकों को भी ष्शमिल किया जाना चाहिये। उन्होंने अधिकारियों
को स्थानीय आवश्यकताओं के मद्देनजर योजनायें शुरू करने के निर्देश भी दिये और
कहा कि योजना के तहत सृजित परिसंपत्तियों के संचालन एवं रखरखाव के लिये व्यापक
प्रबंध किये जाने पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिये और इसके लिये अलग से धन राशि
व्यवस्था की जानी चाहिये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे योजनाये तैयार
करने के साथ साथ योजनाओं की गुणवत्ताा और उनके क्रियान्वयन का निरीक्षण करने
के लिये भी योजना के संशोधित दिशा निर्देशो को अमल में लाये।

अदालतों में लंबित लगभग ढाई करोड़ केसों के निपटारे के लिये केंद्र सरकार ने फास्ट
ट्रैक के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने विधि मंत्रालय के उस प्रस्ताव को
अपनी स्वीकृति दे दी जिसके तहत न्याय देने और कानूनी सुधार के राष्ट्रीय मिशन में
काम करने के लिये केंद्र सरकार वर्ष 2016 तक अगले पांच वर्षों में पांच हजार पांच सौ
दस करोड़ रूपये खर्च करेगी। राष्ट्रीय मिशन का उद्देश्य मुख्यतः न्याय में देरी को
कम करना होगा जिसके लिये वो कुछ नीतिगत तथा वैधिक परिवर्तन लाकर कार्य प्रणाली
में सुधार कर तथा मानव संसाधन विकसित कर सुधार लायेगा।

राज्य में बिजली की दैनिक उपलब्धता में लगातार दूसरे दिन भी 1288 लाख यूनिट
उपलब्ध करवाई गई जोकि एक रिकॉर्ड है। इस 22 जून की 1230 लाख यूनिट की
तुलना में यह 57 लाख यूनिट ज्यादा है इसी प्रकार राज्य की सम्प्रेषण व वितरण
प्रणाली पर अब तक का सर्वाधिक 6095 मेगावाट लोड दर्ज किया गया। पिछला रिकॉर्ड
गत वर्ष 17 जून को 5918 मेगावाट था। प्रवक्ता ने बताया कि बिजली की दैनिक
उपलब्धता में हरियाणा के अपने थर्मल पावर प्रोजैक्ट का महत्वपूर्ण योगदान है।

हरियाणा बिजली उत्पादन निगम लिमटिड ने अपने खरीद विनियमों को सामयिक एवं
प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए उसमें संशोधन करने का निर्णय लिया है। निगम के प्रबंध
निदेशक श्री संजीव कौशल ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि ऐसा वैश्विक स्तर
पर अपने संचालनों के स्तरों को उंचा उठाने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि
नए विनियमों के तहत अर्हता आवश्यकताओं के मानकीकरण बोली दाताओं के लोडिग
पैटरन , विदेशी उपकरण निर्माताओं को अग्रिम भुगतान तथा परिसंपत्ति खरीदों में अग्रिम
राशि डिपोसिट से छूट में संशोधन किया गया है तथा मानक खरीद अवधि को 90 दिन
से घटा कर सात दिन किया गया है।

बिजली चोरी रोकने के लिए चलाए गये अभियान के अतंर्गत उत्तर बिजली वितरण निगम
ने गत 15 जून तक 36341 उपभोक्ता परिसरों की जांच कर बिजली चोरी के 6962
मामले पकड़े है।
निगम के प्रवक्ता ने चंडीगढ़ में कहा कि दोषी उपभोक्ताओं पर 9 करोड़ 65 लाख
रूपये जुर्माना लगा जिसमें से 4 करोड़ 70 लाख रूपये वसूल किए जा चुके है। बिजली
चोरी के 1116 मामलों की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई गई है। अधिकतर मामलों में
दोषी उपभोक्ता सीधी कुण्डी, मीटर बाईपास करके, मीटरों से छेड़छाड़ या मीटरों पर
जाली सीलें लगवा कर बिजली की चोरी करते हुए पाये गये है।

यमुनानगर जिला प्रशासन ने आज भरी पुलिस बज की मौजुदगी में सहारनपुर कुरूक्षेत्र
पर बने अवैध कब्जों को हटाया । यह जानकारी देते हुये एस डी एम जगाधरी देंवेंद्र
कौशिक ने बताया कि अभ्यिान के तहत धार्मिक स्थल के नाम पर पांच जगहों पर बनाये
गये निर्माण हटवाये गये हैं यह कार्रवाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर की गई है।

एम वी स्वेज जहाज के 6 भारतीय नाविक दस महीने तक सोमाली समुद्री लुटेरों के
कब्जे में रहने के बाद आज स्वदेश लौअ आये। ये नाविक आज सुबह इंदिरा गांधी
अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुॅचे जहां उनके परिजनों और मित्रों ने उनका स्वागत किया।
एम वी स्वेज चालक दल के 6 भारतीय सदस्यों में जममू के एन के शर्मा रोहतक के
रविन्द्रर सिंह भूटिया, मुबई के सचिन, अंबाला के सतनाम सिंह और शिमला के प्रशांत
चौहान शमिल है। विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने एक वकवतय में कहा कि इन नाविकों
के सुरक्षित वापस आने पर वे ख्खुश है। उन्होंने इन नाविकों को समय पर दी गई
सहायता के लिये पाकिस्तान नौ सेना की सराहना की।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: