>local news सिरसा समाचार

23 जून

>

प्रदेश सरकार द्वारा 15 तरह की सेवाएं शीघ्र व निश्चित समय पर उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया
सिरसा, 23 जून।    राज्य के नागरिकों को प्रदेश सरकार द्वारा 15 तरह की सेवाएं शीघ्र व निश्चित समय पर उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया है। इस आशय के निर्देश राज्य सरकार ने प्रशासनिक सुधार विभाग के तहत सभी जिला उपायुक्तों को पत्र क्रमांक नं. 7/2011-3एआर के तहत जारी किए हैं और कहा है कि ये सभी 15 प्रकार की सेवाएं जिला के नागरिकों को समयबद्ध उपलब्ध करवाएं। इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए उपायुक्त डा. युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा विभिन्न विभागों से संबंधित 15 प्रकार की सेवाओं की पहचान कर नागरिकों को निश्चित समय पर सेवाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए। इन सेवाओं के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों को जिम्मेवारी भी दी गई है। उन्होंने बताया कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से संबंधित नए राशन कार्ड बनवाने, डुप्लीकेट राशन कार्ड जारी करने, राशन कार्ड में परिवार के सदस्य व नाम कटवाने व जुड़वाने, क्षेत्राधिकार में संबंधित व्यक्ति का पता बदलवाने और सरेंडर सटिर्फिकेट जारी करने से संबंधित सेवाओं को लिया गया। इन सभी सेवाओं के लिए विभाग द्वारा इस प्रकार के मामले निपटाने हेतु 1 सप्ताह से दो सप्ताह का समय निश्चित किया गया है। नए राशन कार्ड बनवाने के लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के निरीक्षकों को 15 दिन के अंदर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।  सेवाओं को उपलब्ध करवाने में देरी होने पर व्यक्ति द्वारा डीएफएससी शिकायत की जा सकती है। 
उन्होंने बताया कि जाति प्रमाण-पत्र व रिहायशी प्रमाण पत्र जारी करने के लिए एक सप्ताह का समय निश्चित किया गया है। ये दोनों प्रकार के प्रमाण-पत्र संबंधित तहसीलदार द्वारा जारी किए जाएंगे। इसके साथ-साथ यदि किसी व्यक्ति को निश्चित समय पर इन प्रमाण-पत्रों से संबंधित सेवाएं उपलब्ध नहीं होती तो वे संबंधित उप मंडलाधिकारी (ना.) शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। इसी प्रकार से लर्नर ड्राइविंग लाईसेंस/परमानंैट ड्राइविंग लाईसेंस तथा हल्के वाहनों की पंजीकरण प्रमाण-पत्र जारी करने के लिए भी एक सप्ताह की समयावधि तय की गई है। ये सभी प्रमाण-पत्र उपमंडलाधिकारी (ना.) द्वारा जारी किए जाने हैं। देरी होने पर संबंधित व्यक्ति अतिरिक्त उपायुक्त को शिकायत कर सकता है। 
श्री ख्यालिया ने आगे बताया कि नए बिजली कनैक्शन/टैम्परेरी बिजली कनैक्शन बिजली लोड को बढ़वाने से संबंधित सेवाएं भी विभागीय उपमंडलाधिकारियों द्वारा 30 दिन के अंदर सेवाएं देनी होंगी। यदि इन मामलों में देरी होती है तो संबंधित व्यक्ति विभाग के संबंधित कार्यकारी अभियंता को शिकायत दर्ज करवा सकता है। इसी तरह से भूमि पंजीकरण से संबंधित मामले तहसीलदार को उसी दिन निपटाने होंगे। लैंड मुटेशन की स्वीकृति के मामले तथा भूमि रिकॉर्ड्स के दस्तावेज भी संबंधित तहसीलदारों को पांच कार्य दिवसों के अंदर ही देने होंगे। नए पानी व सीवर के कनैक्शन 12 कार्य दिवसों में और जन्म मृत्यु प्रमाण-पत्र संबंधित नगर परिषद और नगरपालिकाओं तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंचार्जों को जारी करने होंगे। इसके साथ-साथ  भवन योजना की स्वीकृति भी हुडा विभाग व नगरपरिषद/पालिका की कार्यकारी अधिकारियों को 25 कार्य दिवसों में ही देनी होगी। यदि किसी विभाग का अधिकारी इन मामलों में देरी करता है तो संबंधित व्यक्ति अतिरिक्त उपायुक्त को शिकायत दर्ज करवा सकता है। 
उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे पारदर्शी और सुशासन के लिए नागरिकों को निर्धारित समय पर उपरोक्त सेवाएं उपलब्ध करवाएं। उन्होंने यह भी कहा कि नागरिकों द्वारा उपरोक्त 15 प्रकार की सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए आवदेन पत्र की पावती भी दें। उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी व्यक्ति उपरोक्त सेवाओं से संबंधित अंग्रेजी, हिंदी, पंजाबी भाषाओं में आवेदन कर सकता है। उन्होंने अधिकारियों को सख्त हिदायतें दी हैं कि समय-समय पर उपरोक्त सभी सेवाएं उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें। 
कृषि विभाग द्वारा पैड्डी ट्रांसप्लाटर मशीन द्वारा धान की बिजाई करवाई जाएगी
सिरसा, 23 जून।    कम पानी मेें धान की फसल अच्छी पैदावार लेने के उद्देश्य से प्रदेश में कृषि विभाग द्वारा पैड्डी ट्रांसप्लाटर मशीन द्वारा धान की बिजाई करवाई जाएगी। विभाग द्वारा प्रदेश के 8 जिलों में ये मशीनें 75 हजार रुपए अनुदान पर उपलब्ध करवाई गई है और विभाग द्वारा इस नवीनतम तकनीक से 800 एकड़ जमीन पर धान की बिजाई करवाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ-साथ विभाग द्वारा इस तकनीक से बिजाई करने वाले किसानों को 2600 रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से विभिन्न प्रकार के इनपुट्स भी उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। राज्य के 8 जिलों में 20 लाख 80 हजार रुपए के इनपुट्स विभाग द्वारा उपलब्ध करवाए जाएंगे जिनमें स्प्रे, दवाई आदि शामिल होंगी। 
सिरसा जिला के उपायुक्त श्री युद्धबीर सिंह ख्यालिया ने बताया कि सिरसा जिला में पैड्डी ट्रांसप्लाटर मशीन द्वारा बिजाई के लिए 50 डैमोस्टेशन प्लांट लगाए जाएंगे। इसी प्रकार से कैथल जिला में 150, करनाल में 100, कुरूक्षेत्र में 100, पानीपत में 50, सोनीपत, जींद और फतेहाबाद में भी 50-50 डैमोस्टेशन प्लांट लगाए जाएंगे। यानी इतनी एकड़ जमीन पर उपरोक्त विधि से धान फसल की बिजाई करवाई जाएगी। इस विधि से बिजाई करने पर धान फसल की पकाई में 70 प्रतिशत तक जल की बचत होगी जिससे खरपतवार में भी कमी आएगी। 
कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री जगदीप बराड़ ने बताया कि सिरसा जिला में गत 15 जून के बाद धान फसल की बिजाई शुरू कर दी गई है। जिला में इस बार 60 हजार हैक्टेयर भूमि पर धान की विभिन्न किस्मों की बिजाई करवाने का लक्ष्य रखा गया है। अभी तक किसानों द्वारा 15 हजार हैक्टेयर से भी अधिक भूमि पर धान की बिजाई कर दी गई है और धान रोपाई का कार्य जोरों पर है। उन्होंने संभावना जताई है कि इस बार धान बिजाई के मामले में यह जिला लक्ष्य के समीप पहुंचेगा। उधर जिला में कपास फसल की बिजाई गत वर्ष की तुलना में 21 हजार एकड़ अधिक भूमि पर की गई है जिससे कहीं न कहीं धान फसल की बिजाई में कमी आने की संभावना भी बनी हुई है। उन्होंने बताया कि विभागीय अधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों द्वारा धान रोपाई की नई तकनीक के बारे में बताया जा रहा है और बिजाई से पूर्व बीमारी न आए इसके लिए भी किसानों को सलाह दी जा रही है। उन्होंने किसानों को जरूरी सलाह यह दी है कि वे धान की पनीरी पानी के अंदर उखाड़े जिससे धान की फसल में पकानी रोग का खतरा न के बराबर होता है यदि किसान सूखे में धान की पनीरी को उखाड़कर धान रोपाई करते हैं तो पकानी बीमारी का खतरा बना रहता है जो लाईलाज बीमारी है। 
उन्होंने बताया कि जिला में पीबी-1/मुच्छल पीआर, एसकेआर-47, पूसा-1121  आदि किस्म की बिजाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि धान की लंबी किस्मों की बिजाई 20ङ्ग15 सेंटीमीटर की दूरी पर जबकि बोनी किस्मों की व पछेती हालत में लंबी बढऩे वाली किस्मों की रोपाई 15 सेंटीमीटर फासले की कतारों में व पौधों में भी 15 सेंटीमीटर की दूरी रखकर करें। उन्होंने किसानों को सलाह दी है कि धान फसल की बिजाई में निरंतर कृषि वैज्ञानिकों व कृषि अधिकारियों के संपर्क में रहे और उनकी सलाह अनुसार ही धान फसल की बिजाई करें। 
कांगे्रस पार्टी ने हमेशा मूल्यों पर आधारित राजनीति की है
सिरसा। कांगे्रस पार्टी ने हमेशा मूल्यों पर आधारित राजनीति की है जिसमें हर वर्ग के विकास के लिए एक समान सोच रखने वाले नेता हैं। यह बात गत दिवस गांव चौबुर्जा में युवा कांग्रेसी नेता व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि होशियारी लाल शर्मा के छोटे पुत्र राजेश शर्मा ने युवा कार्यकर्ताओं की बैठक में कही। गांव पहुंचने पर राजेश शर्मा का फूल मालाएं पहनाकर अभिनंदन किया गया जबकि युवा कांग्रेसी नेता मदन लाल कड़वासरा ने पगड़ी पहनाई। इस मौके पर उनके साथ राधे श्याम वर्मा, डॉ. आजाद केलनिया, बजरंग शर्मा, सुरेश महीपाल, मदन राजपूत, काली बब्बर व रिंकु शर्मा भी मौजूद थे। युवा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश की उन पार्टियों में से है जिसमें सबसे युवा नेता मौजूद हैं। राहुल गांधी का उदाहरण देते हुए राजेश शर्मा ने कहा कि जिस प्रकार देश के कोने-कोने में जाकर राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी का प्रचार व विकास कार्यों की समीक्षा के साथ आम जनता के दुख दर्दों को सांझा करते हैं उससे देश के युवा वर्ग को प्रेरणा लेनी चाहिए । उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार में जो अभूतपूर्व कार्य हो रहे हैं वह इससे पहले कभी नही हुए। पार्टी के प्रचार-प्रसार के लिए युवाओं को हमेशा तत्पर रहने की बात कहते हुए शर्मा ने कहा कि राजनीति में युवा वर्ग को ज्यादा से ज्यादा संख्या में आना चाहिए तथा उसके लिए सबसे बेहतर मंच कांग्रेस पार्टी है। उन्होंने यह भी कहा कि आम लोगों को समस्या को अपना मानकर राजनीति करने वाला नेता आम लोगों के साथ हमेशा जुड़ा रहता है। इस मौके पर जेसाराम सरपंच, राम निवास सैनी, बुधराम कड़वासरा, मोमन राम, राम निवास राठी, कृष्ण किरोड़ीवाल, बलबीर पंच, साधूराम कड़ेला, पन्ना राम दूरान, जगदीश वर्मा, विकास कंबोज, विनोद कड़वासरा, शिवकुमार, सुरेंद्र सैनी, मुकेश सैनी, सुभाष कंबोज, सुरेंद्र कंबोज सहित अनेक ग्रामीण मौजूद थे।   
पुलिस समाचार
सिरसा। रानियां खंड के गांव लहरांवाली ढाणी के समीप बाजीगर थेड़ में सात माह की दूध पीती बच्ची पूजा का अपहरण कर उसे जलाकर मारने की आरोपी मृतका की दादी सूरजा बाई को रानियां पुलिस ने आज न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में हिसार बोस्टल जेल में भेज दिया गया। हत्यारोपी सूरजा बाई का कहना है कि उसे अपने किए पर पछतावा है परंतु उसके अपने समधि की धमकी को देखते हुए इस वारदात को अंजाम दिया। उल्लेखनीय है कि बीती 20 जून को बाजीगर थेड में सात माह की मासूम पूजा  का जला हुआ शव बरामद हुआ था। इस मामले की छानबीन करते हुए रानियां पुलिस ने अहम सुराग जुटाकर मृतका बच्ची की दादी सूरजाबाई को बीती रात काबू किया। आरोपी महिला ने स्वीकारा कि उसने अपनी पोती के मुंह में पहले प्याज डाला, फिर उसका गला घोंट दिया। उसके पश्चात उसने बच्ची को तंदूर में डाल दिया तथा बाद में उसे लिफाफे में डालकर घर के बाहर फैंक दिया। सूरजा बाई ने बताया कि उसकी बेटी मलकीतों बाई पिछले काफी समय से घर में बैठी थी। उसकी शादी पूजा के नाना जोगिंद्र सिंह ने करवाई थी। उसने बताया कि गत दिवस वह उनके घर आया था तथा उसे चेतावनी दी कि या तो वह अपनी बेटी को ससुराल भेज दे नही तो वह अपनी बेटी मनजीत कौर(पूजा की मां) को अपने साथ ले जाएगा। आरोपी महिला ने स्वीकारा कि अपने समधि की चेतावनी को देखते हुए उसने अपनी पोती पूजा की इस लिए हत्या कर दी कि वह अपनी पोती को भेजना नही चाहती थी।
सिरसा। जिला की डिंग पुलिस ने गश्त व चैकिंग के दौरान एक व्यक्ति को काबू कर उसके कब्जे से 25 किलो ग्राम चूरापोस्त व 15 किलो 500 ग्राम पोस्त के डोडे बरामद किए है। पकड़े गए आरोपी की पहचान काका सिंह पुत्र अर्जून सिंह निवासी सुचान के रूप में हुई है। आरोपी के खिलाफ मादक पदार्थ तस्करी अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर दिया है। आरोपी को डयूटी मजिस्ट्रैट श्रीमती सीमा सिंघल की अदालत में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है ताकि तस्करी के मामले से जुडे अन्य लोगों को बेनकाब किया जा सके। 
मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए डिंग थाना प्रभारी उपनिरीक्षक चांद ङ्क्षसह ने बताया कि गांव सुचान क्षेत्र में गश्त के दौरान उन्हें मुखबरी मिली थी कि सुचान निवासी काका सिंह ने अपने घर में चूरापोस्त व पोस्त के डोडे छुपा रखें है, और उन्हें बेचने की फिराक में हैं। थाना प्रभारी ने बताया कि सूचना को पाकर वे मौके पर पहुंचे और आरोपी को काबू कर उसके कब्जे से 25 किलोग्राम चूरापोस्त व 15 किलो 500 ग्राम पोस्त के डोडे बरामद किए। उन्होंने बताया कि आरोपी ने पूछताछ में बतलाया कि वह चूरापोस्त व पोस्त के डोडे राजस्थान के हनुमानगढ क्षेत्र के गांव मलवानी से लेकर आया था। पुलिस ने चूरापोस्त सप्लायर के खिलाफ भी मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। 
सिरसा। सीआईए सिरसा पुलिस ने हुडा पुलिस कर्मियों से मारपीट कर सरकारी कार्य में बाधा डालने के मामले में घटना के एक और आरोपी को काबू कर लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान गुरप्रीत सिंह पुत्र रिछपाल सिंह निवासी कंगनपुर सिरसा के रूप हुई है। आरोपी को आज अदालत में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा। पुलिस ने इस घटना के दो आरोपियों संजीव उर्फ कद्दू पुत्र मोहनलाल निवासी खैरपुर व रैकी उर्फ जिंतेंद्र पुत्र दयानंद पटवारी निवासी एमसी कालोनी सिरसा को पहले ही गिरफ्तार किया हुआ है। इस घटना के बाकी आरोपियों को पकडऩे के लिए पुलिस की टीमें उनके छिपने के ठिकानों पर दबिश दे रही है, ताकि उन्हें शीघ्र गिरफ्तार किया जा सके। गौरतलब है कि इस संबंध में बीती 26 मई को हुडा पुलिस चौकी में कार्यरत पुलिसकर्मी विशाल की शिकायत पर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ भादंसं की धारा 332, 353 व 186 के तहत शहर थाना सिरसा में मामला दर्ज हुआ था। अज्ञात आरोपियों ने हुडा पुलिस चौकी के सिपाही विशाल व मुख्य सिपाही प्रदीप के साथ नहर कालोनी क्षेत्र में मारपीट कर सरकारी कार्य में बाधा डाली थी। 
शहर सिरसा पुलिस ने सट्टाखाईवाली करने के आरोप में जुगनु पुत्र बिल्लू निवासी जैजै कालोनी को 520 रूपए की सट्टाराशि के साथ जैजै कालोनी क्षेत्र से काबू कर लिया। 
चपड़ासी के पदों के लिए साक्षात्कार 2 जुलाई से 7 जुलाई को विश्वविद्यालय में लिया जाएगा
हिसार 23 जून 2011
प्रो आर एस जागलान, कुलसचिव, गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार ने बताया कि चपड़ासी के पदों के लिए सभी योग्य उम्मीदवारों का साक्षात्कार दिनांक 2 जुलाई से 7 जुलाई, 2011 को विश्वविद्यालय में लिया जाएगा। उक्त साक्षात्कार के लिए सभी योग्य उम्मीदवारों को प्रवेश पत्र भेज दिये गए हैं। यदि किसी उम्मीदवार को साक्षात्कार के लिये प्रवेश पत्र 28 जून, 2011 तक प्राप्त नही होता है तो ऐसे उम्मीदवार विश्वविद्यालय में स्थापन्ना शाखा, कमरा नम्बर-302, प्रशासनिक भवन से डुप्लिकेट प्रवेश पत्र प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवार को पासपोर्ट आकार की एक सत्यापित फोटो लाना अपेक्षित होगा। 
अमृता देवी छात्रावास व महिला छात्रावास परिसर में लड़कियों के लिए साईबर कैफे की आधारशीला रखी
हिसार 23 जून 2011
गुरू जम्भेश्वर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, हिसार के कुलपति डा एम एल रंगा ने आज विश्वविद्यालय में अमृता देवी छात्रावास व महिला छात्रावास परिसर में लड़कियों के लिए साईबर कैफे की आधारशीला रखी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो आर एस जागलान, कार्यकारी अभियन्ता श्री अशोक अहलावत व विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष, अधिकारीगण तथा कर्मचारी भारी संख्या में उपस्थित थे। 
डा रंगा ने बताया कि अमृता देवी छात्रावास के फेस-1 पर 4 करोड़ 35 लाख रूपये का खर्चा आएगा। उन्होंने बताया कि इस छात्रावास के फेस-1 के निर्माण के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली ने 1 करोड़ रूपये विश्वविद्यालय को दिए है। डा रंगा ने बताया कि महिला छात्रावास परिसर में साईबर कैफे 56 लाख रूपये की लागत से तैयार किया जाएगा ताकि छात्राओं को छात्रावास में इंटरनैट की पूर्ण सुविधा प्राप्त हो सके। इसके लिए भी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली ने 50 लाख रूपये विश्वविद्यालय को दिए है। उन्होने इस अवसर पर कहा कि शहीद अमृता देवी विश्व की पहली पर्यावरण विद् है जिसने 1730 में जोधपुर के पास खेजड़ी गांव में पेड़ो के साथ चिपक कर उन्हे काटने नही दिया और अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया। उन्होने कहा कि युवा पीढी के लिए शहीद अमृता देवी प्रेरणास्त्रोत है।       
कुलसचिव प्रो आर एस जागलान ने बताया कि अमृता देवी छात्रावास के फेस-1 में 144 छात्राओं के रहने की व्यवस्था की जाएगी जोकि 2740 वर्गमीटर में फैला होगा। प्रति कमरे में तीन छात्राओं के रहने की व्यवस्था की जाएगी। इस छात्रावास में सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होगी। प्रो जागलान ने बताया कि साईबर कैफे 425 वर्ग मीटर में फैला होगा जिसमे 100 छात्राओं की बैठने की व्यवस्था, एक रिसैप्शन काउंटर, पानी पीने की व्यवस्था व शौचालय का भी निर्माण किया जाएगा।
गांव मोधासिंघाना में दो नाबालिग लड़कियों की शादियां रूकवाई
सिरसा। जिला बाल विवाह निषेध अधिकारी श्रीमती साधना मित्तल ने गांव मोधासिंघाना में दो नाबालिग लड़कियों की शादियां रूकवाई। मुसलमान समुदाय से जुड़ी तीन लड़कियों की वीरवार को बारात आनी थी, लेकिन इससे पूर्व ही नाबालिग लड़कियों की शादी करवाए जाने की जानकारी बाल विवाह निषेध अधिकारी व मल्लेकां चौकी प्रभारी पुलिस बल सहित मौके पर पहुंचे, जहां जांच पड़ताल के दौरान दो लड़कियों के नाबालिग होने की बात सामने आई। इसके पश्चात लड़कियों के परिजनों व गांव के मौजिज लोगों ने लिखित में शादियां टालने का आश्वासन दिया। 
जानकारी मुताबिक गांव माधोसिंघाना में मुंशीखान की तीन बेटियों जुबेदा बानो(18 साल), सुमन बानो (17 साल ) तथा मंजू बानो (15 साल)की बारात वीरवार  दोपहर बाद आनी थी। इससे पूर्व करीब 10-11 बजे जिला बाला विवाह निषेध अधिकारी साधना मित्तल, मल्लेकां चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक रमेश कुमार पुलिस बल सहित पहुंचे। बाल विवाह निषेध अधिकारी ने जांच पड़ताल के दौरान पाया कि जुबेदा बानो को छोड शेष दो लड़कियां नाबालिग पाई गई। जिसके पश्चात  बाल विवाह निषेध अधिकारी साधना मित्तल ने उन्हें बाल विवाह की कुरीतियों से अवगत करवाया। जिस पर लड़कियों के पिता मुंशीखान, मां पारसा बेगम, चाचा नेक मोहम्मद, शेरूद्दीन, गांव के पंच आदराम, नंबरदार नरेश कुमार ने बाल विवाह निषेध अधिकारियों को लिखित में विवाह टालने का आश्वासन दिया। 
जुबेदा बानों की बारात राजस्थान के हनुमानगढ जिला के गांव डाबडी निवासी राकेशखान पुत्र महेेंद्र खान लेकर आ रहा था जबकि सुमन व मंजू की बारात परवेज व नसीबखान पुत्रान रमजान खान निवासी भिरानी ने लेकर आनी थी। 
20 जुलाई से 28 जुलाई तक श्रीरामकथा का आयोजन किया जाएगा
सिरसा। श्री बाबा तारकेश्वरम धाम(बाबा तारा कुटिया) में हर वर्ष सावन मास में शिवरात्रि के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले धार्मिक कार्यक्रमों की कड़ी में इस बार कुटिया परिसर में आगामी 20 जुलाई से 28 जुलाई तक माता कणकेश्वरी देवी के मुखारविंद से श्रीरामकथा का आयोजन किया जाएगा। 28 जुलाई को शिवरात्रि के उपलक्ष्य में भजन संध्या कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रख्यात भजन गायक हमसर हयात व मास्टर सलीम अपनी मधुर वाणी में बाबा तारा व भगवान भोलेनाथ की महिमा का गुणगान करेंगे। 29 जुलाई को दिनभर अटूट लंगर भंडारें का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी श्री बाबा तारकेश्वरम धाम के मुख्य सेवक गोबिंद कांडा ने दी। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम को लेकर जिलावासियोंं में खासा उत्साह होता है। इस धार्मिक कार्यक्रम में जिलाभर से ही नही बल्कि प्रदेश के अन्य जिलों व सीमावर्ती राज्यों से भी श्रद्धालु शिरकत करने पहुंचते है। 
आज गरीब आदमी के मुंह से निवाला भी छिनता जा रहा है
सिरसा, 23 जून। इनेलो जिला प्रैस प्रवक्ता कृष्ण गुम्बर ने कहा है कि पिछले लगभग सात वर्षों से आम आदमी को कमरतोड़ महंगाई की मार झेलने पर मजबूर कर रही कांग्रेस की खाद्य पदार्थों को लेकर बनाई गई खोखली नीतियों के कारण आज गरीब आदमी के मुंह से निवाला भी छिनता जा रहा है। जबकि किसान लागत के आधार पर कृषि उपज का दाम पाने के लिए आज आरपार की लड़ाई लड़ रहे हैं। धान की रोपाई के सीजन में बिजली की भारी किल्लत के चलते किसानों की रातों की नींद उड़ चुकी है। इसलिए अब समय आ गया है कि आम आदमी कांग्रेस के असली चेहरे को पहचाने और इनेलो की नीतियों से जुड़े ताकि आने वाले समय में आम आदमी की इनेलो सरकार बन सके। 
उन्होंने कहा कि प्रदेशभर के विकास के नाम पर मुख्यमन्त्री ने केवल अपने गृह जिले रोहतक का ही विकास करवाया है। शेष हरियाणावासी कांग्रेस के सौतेले व्यवहार का दंश झेल रहे हैं। कांग्रेसी नेताओं व विधायकों की लूट का यह आलम है कि राज्य सरकार के अधिकांश विभाग के कर्मचारियों से लेकर अधिकारियों तक को मासिक वेतन के लिए भी तरसना पड़ रहा है।
गुम्बर ने कहा कि इनेलो कार्यकाल में पूरे प्रदेश का एक समान विकास करवाया जाता था। प्रदेश के एक आम आदमी से लेकर खास आदमी तक को एक समान मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती थीं। यही कारण है कि आज भी लोग चौ0 ओमप्रकाश चौटाला के कार्यकाल को याद करते हुए पार्टी के साथ जुड़ रहे हैं। आने वाले समय में कांग्रेस का नाम लेने वाला कोई नहीं रहेगा।
हरियाणा में विपक्षी दलों के नेता तकलीफ में है
सिरसा, 23 जून। कांग्रेस जिला प्रधान मलकीत सिंह खोसा ने कहा है कि हरियाणा में विपक्षी दलों के नेता तकलीफ में है। इस लाइलाज तकलीफ के मुख्य तीन कारण है। इनमे सबसे प्रमुख पूरे हरियाणा में तेजी से हो रहा विकास है। विपक्ष को दूसरी बड़ी दिक्कत हरियाणा में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में रखी गई ईमानदारी और शराफत की राजनीति की नींव से है। हरियाणा के अस्तित्व में आने के बाद यह पहली बार हुआ है जब प्रदेश में शराफत और विकास की राजनीति शुरू हुई है। 
खोसा ने कहा कि योजना आयोग के आंकड़ों के मुताबिक भी हरियाणा देश के उन तीन राज्यों में शामिल है जहां विकास दर 11 फीसदी से अधिक है। इन तीन राज्यों में भी हरियाणा की ग्रोथ रेट 11.3 प्रतिशत है जो सर्वाधिक है। सर्वाधिक विकास दर इस बात को प्रमाणित करती है कि समूचे प्रदेश में ढांचागत सुविधाओं के साथ विकास के कार्य चल रहे हैं। 
उन्होंने विपक्षी नेताओं पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इनेलो प्रदेश की जनता को झूठे सपने दिखा रहे हैैै और लोगों को भड़काने का काम कर रही है। लेकिन प्रदेश की जनता भली भांति जानती है कि विकास सिर्फ हुड्डा सरकार ही करा सकती है। उन्होंने हाल ही में गुडग़ांव में हुए मेयर के चुनाव में कांग्रेस समर्थित विमल यादव को पहला मेयर चुने जाने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि कांग्रेस जनता कि पहली पसंद है क्योंकि विकास और मान-सम्मान सिर्फ कांग्रेस ही करती है। खोसा ने लोगों से आह्वान किया है कि विपक्ष की बातों के बहकावे में न आए।
पंचायत समिति ओढ़ां की बैठक सम्पन्न
ओढ़ां-खंड कार्यालय ओढ़ां में गुरुवार को पंचायत समिति की बैठक चेयरमैन जगदेव सिंह असीर की अध्यक्षता में बुलाई गई जिसमें समिति के 17 में से 15 सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में तेरहवें वित्त आयोग की दूसरी किश्त की राशी 4 लाख 59 हजार 900 रुपए में से प्रत्येक सदस्य को अपने अपने गांव पीने के पानी का नल लगाने के लिए 20-20 हजार रुपए की राशी जारी की गई और सर्वसम्मति से एक लाख 19 हजार 900 रुपए की लागत से ओढ़ां में भूमिगत पाइप लाइन डालने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा गांव नुहियांवाली में स्टेडियम की देखभाल के लिए चौकीदार की नियुक्ति करने का निर्णय गया।
इस अवसर पर पंचायत समिति के कार्यकारी अधिकारी बलराज सिंह मलेठिया ने सभी सदस्यों को अपने अपने क्षेत्र में इंदिरा विकास योजना के तहत बनने वाले मकानों, बुढ़ापा पैंशन वितरण और प्रत्येक गांव में खाली पड़े सरकारी भवनों की सूची देने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने 2011 से चूल्हा टैक्स लगाने का निर्णय लिया है अत: चूल्हा भरवाने में ग्राम पंचायतों को सहयोग दें।
इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ओढ़ां के डॉ. जसकीरत सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की तरफ से दी जा रही सुविधायों के बारे में बताते हुए कहा कि किसी भी डिलीवरी हेतु 102 नंबर पर डायल करें तो सरकारी एंबूलेंस द्वारा महिला को डिलीवरी हट तक लाने तथा बच्चा होने के बाद घर तक छोडऩे की नि:शुल्क सेवा दी जाती है तथा किसी भी प्रकार की सड़क दुघर्टना में घायलों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए भी नि:शुल्क एंबूलेंस उपलब्ध करवाई जाती है। इसके अलावा उन्होंने डेगंू बुखार व अन्य बीमारियों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि स्वास्थ्य केंद्र में 24 घंटे आपातकालीन सेवा दी जाती है।
इस अवसर पर मलेरिया विभाग की ओर से ओमप्रकाश कंबोज ने मलेरिया के प्रकोप से बचने के उपाय बताते हुए कहा कि घर के आसपास नालियों व गड्ढों, घर की छतों पर पड़े हुआ सामान जैसे खाली डिब्बों, टायरों व अन्य बर्तनों में पानी इकठ्ठा न होने दें और उन्हें खुली जगह में न रखें। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार का बुखार होने पर तुरंत अपने खून की जांच करवाएं और स्वास्थ्य केंद्र से क्लोरोक्वीन की गोलियां लेकर खाएं। इस अवसर पर पंचायत समिति के उपाध्यक्ष पाल सिंह सिंघपुरा, सहायक बीएस ढिल्लों, पंचायत समिति सदस्य राजेश कुमार, राजेंद्र सोनी, कविता श्योराण, जगसीर सिंह, बिमला देवी, सिमरजीत कौर, जसपाल कौर, गुरदीप सिंह और गुरचरण सिंह आदि उपस्थित थे।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: