>प्रादेशिक समाचार-06.04.2011 news

6 अप्रैल

>

मुख्य समाचारः

ऽ  हरियाणा की सहकारी चीनी मिलों ने 225.53 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई
करके अब तक 18.66 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।
ऽ  हरियाणा सरकार ने निजी भागीदारी पद्धति द्वारा आदर्श विद्यालय स्थापित करने
का निर्णय लिया है।
ऽ  शिक्षा मंत्री ने अध्यापकों और जनता को आह्वान किया है कि वे स्कूलों में बच्चों
का 100 फीसदी दाखिला सुनिश्चित करने के लिए आगे आए।
ऽ  हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में कुटू आटे का भोजन खाने से 400 से
अधिक लोग बिमार, सरकार ने इत्याति कदम उठाए।

हरियाणा में सभी दस सहकारी चीनी मिलों ने अब तक    225.53 लाख क्विंटल गन्ने
की पिराई  करके 18.66 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।
राज्य सहकारी चीनी मिल प्रसंघ के एक प्रवक्ता ने आज चंडीगढ़ में बताया कि इस
पिराई मौसम के दौरान अब तक गन्ने से चीनी की वसूली 8.42 प्रतिशत रही।
उन्होंने कहा कि वर्ग 2009-10 पिराई मौसम के दौरान प्रदेश की सहकारी मिलों ने 87.
04 लाख क्वंटल गन्ने की पिराई करके 7.28 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया।
उन्होंने बताया कि सहकारी चीनी मिल गोहाना, महम, रोहतक और शाहबाद ने इस
पिराई मौसम के दौरान अब तक 4.01 करोड़ यूनिट से अधिक बिजली का निर्यात किया
है।
————————————
हरियाणा सरकार ने सार्वजनिक निजी भागीदारी पद्धति द्वारा हरियाणा आर्दश विधालय
स्थापित करने का निर्णय लिया है। इन स्कूलों में 50 प्रतिशत दाखिला समाजिक और
आर्थिक रूप से वंचित  वर्गो से किया जाएगा। शिक्षा मंत्री श्रभ्मती गीता भुक्कल ने
बताया कि मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया
गया है कि प्रथम  चरण में ऐसे 5 स्कूल स्थापित किए जाएंगे और स्कूलों के लिए
स्थानों का चयन राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा और राज्य सरकार सीधे या स्थानीय
निकायों के माध्यम से निजी भागीदारों को रियायती दरों पर भूमि प्रदान करेगी।
प्रत्येक स्कूल में राज्य सरकार एक हजार चयनित विद्यार्थियों को प्रयोजित करेगी।
चयनित विद्यार्थियों में लड़कियों की संख्या 40 प्रतिशत से कम नहीं होगी और 40
प्रतिशत से अधिक छात्राओं वाले स्कूलों को उच्चित प्रोत्साहन मिलेगा और कम होने पर
जुर्माना भी लगेगा।
हरियाणा में पायलट प्राजैक्ट के रूप  में स्थापित किए जा रहे इन आदर्श स्कूलों का
उद्देश्य विश्वस्तरीय शिक्षा को सभी विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले तथा निम्न
आय वाले परिवारों के बच्चों की पहुंच में लाना है। इसके ईलावा इन स्कूलों का उद्देश्य
सभी के लिए बेहतर शिक्षा के संप्रक्त लक्ष्य की पूर्ति के लिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र
की  ष्शक्तियों को इक्कठाा कर स्कूली शिक्षा में उत्कृष्टता के केंद्र सृजित करना है।
निम्न आय वाले परिवारों पर ध्यान केंद्रित कर यह स्कूल धर्मनिरपेक्षता आपसी भाईचारे
और गुप साधारित वातावरण को बढ़ावा भी देश इसके लिए चयनित गैर सरकारी संगठन
आधार भूत संरचना के लिए उत्तरदायी होंगे और निजी भीगीदार शिक्षा , पुस्तकालय,
प्रयोगशालाएं, उपकरण, खेल के मैदान और अन्य पाठयतर सुविधाएं उपलब्ध कराने और
स्कूलों के प्रबंध के लिए उत्तरदायी होंगे।
————————————

स्वर्गीय उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की दसवीं पुण्यतिथ पर आज देश भर में
श्रद्धांजलि समोरोह व सर्वधर्म सभाओं का आयोजन किया गया और देश के प्रमुख
राजनीतिक नेताओं ने जननायक को गरीब, कमेरे, कमजोर, दलित व किसान वर्ग का
मसीहा बताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धाजलि अर्पित की। मुख्य कार्यक्रम चौधरी देवीलाल
की दिल्ली स्थित समाधि संघर्ष स्थल पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा के रूप  में आयोजित
किया गया।
सर्वधर्म प्रार्थना सभा में विभिन्न धर्मों के धार्मिक विद्वानों ने हिस्सा  लिया और धार्मिक
मंत्रों का उच्चारण कर स्वर्गीय जननायक को श्रद्धासुमन अर्पित किए।
———————————— शिक्षा मंत्री श्रीमती गीता भुक्कल ने सभी सरकारी स्कूलों और अध्यापकों के साथ साथ
जनसाधारण से अपील की है कि वे अपने अपने क्षेत्रों में स्कूलों में बच्चों का शत
प्रतिशत दाशिला सुनिश्चित करवाने के लिए आगे क्योंकि शिक्षा का अधिकार अधिनियम
लागू होने से अब निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा ग्रहण  करना हर बच्चे का मौलिक
अधिकार बन गया है।
इस अधिनियम को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी
देते हुए शिक्षा मंत्री श्रीमती भुक्कल ने बताया कि सरकारी स्कूलों में बच्चों के दाखिलों
के लिए जन्म प्रमाण पत्र  एवं स्थानांतरण प्रमाण पत्र जैसी बाधाओं को समाप्त कर सरल
बनाया गया है और वर्ष के दौरान बच्चे कभी भी दाखिला ले सकेंगे।
उन्होंने बताया कि अब कोई भी बच्चा आयु अनुसार कक्षा में प्रवेश ले सकता है। इसके
अलावा बच्चों के प्रशिक्षण का भी प्रावधान किया गया है।
————————————

पंजाब हरियाणा सहित पूरे उत्तर भारत में 400 से अधिक लोग कुटे के आटे का भोजन
करने से बिमार पड़ गए। हरियाणा में सोनीपत और पानीपत जिले में 12 लोग,
यमुनानगर में भी 12 लोग , फरीदाबाद में 3, रोहतक में 10, अंबाला में 10, हिसार जिलें
में 30, फालिजखा में 8, डेराबस्सी में 6 के करीब लोग कुटू आटा खाने से उल्टी, सरदर्द
आदि की शिकायत करने लग जिसके बाद उन्हें स्थानीय सिविल अस्पतालों में भर्ती
करवाया गया। जिन लोगों की सहेत में सुधार हुआ है उन्हे छुट्टी दे दी गई है और
शेष का ईलाज जारी है। हरियाणा सरकार ने इसके मद्देनजर सभी जिला खाद्य सुरक्षा
अधिकारियों को नवरात्रों के दौरान लिये जाने वाले अन्य खाद्य पदार्थो के भी नमूने लेने
के आदेश दिये है। खाद्य एवं औषध प्रशासक आयुक्त पी के दास ने बताया है कि राज्य
में कुटू आटे के 32 नमूने लिये जा चुके है और सरकार द्वारा लगातार निगरानी रखी जा
रही है।
————————————

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: