>प्रादेशिक समाचारः-05.04.2011 news

6 अप्रैल

>

मुख्य समाचारः

*  जन स्वास्थ्य मंत्री किरण चौधरी ने अधिकारियों को गर्मियों के दौरान पीने वाले पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है।
*  जनगणना 2011 के अनंतिम आकड़ों के अनुसार हरियाणा  में फरीदाबाद जिलें में सबसे ज्यादा और पंचकुला जिलें में सबसे कम जनसंख्या रिकार्ड की गई है।
*  पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने हरियाणा सरकार को आदेश दिया है कि पिछले वर्ष जाट आंदोलन के दौरान हिसार दंगों के दोषियों के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे रिपोर्ट पेश करें।
*  गुरूद्वारा चुनाव आयोग ने चुनाव चिन्हों की सूची जारी कर दी है।

    हरियाणा की जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने गर्मियों के दौरान पीने के पानी की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की आज चंडीगढ़ बैठक ली। बैठक में श्रीमती किरण चौधरी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बिजली कनैक्शन के लंबित मामले बढ़ रहे है जिसके परिणाम स्वरूप बड़ी संख्या में जलस्वास्थ्य के जलघर संचालित नहीं हो पा रहे है। उन्होंने कहा कि गर्मियों का समय तेजी से बढ़ रहा है और लोगों को लाभान्वित करने के लिए सभी जनस्वास्थ्य के जलघरों में बिजली कनैक्शन जारी करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य करने होंगे।

    जनगणना 2011 के अंतिम आकड़ो के अनुसार हरियाणा के सभी जिलो की तुलना में जिला फरीदाबाद में 17 लाख 98 हजार 954 की सर्वाधिक जनसंख्या रिकार्ड की गई हैं जबकि पंचकुला में पांच लाख 58 हजार 890 की न्यूनतम जनसंख्या दर्ज की गई है। जनगणना अभियान हरियाणा की निदेशक श्रीमती नीरजा शेखर ने आज चंड़ीगढ़ एक प्रैस सम्मेलन में अंतिम आकड़े जारी करते हुए बताया कि जिला गुड़गांव में एक दशक में 73.93 की सर्वाधिक वृद्धि दर दर्ज की गई है। जबकि मेवात में ये दर 37.94 और फरीदाबाद में 31.75 रिकार्ड की गई है। 

    उन्होंने कहा कि हरियाणा में गुड़गांव को छोड़कर शेष सभी जिलों ने वर्ष 1991-2011 की तुलना में वृद्धि दर में कमी दर्शाई हैं शेष हरियाणा की तुलना में एन सी आर क्षेत्र विशेषकर गुड़गांव, फरीदाबाद, मेवात एवं पलवल ने अधिक वृद्धि दर्शाई है। पंचकुला में भी अधिक वृद्धि रही। इस बार पंचकूला में जनसंख्या वृद्धि में अधिकतम कमी आई है जोकि 50.91 प्रतिशत से घटकर 19.32 प्रतिशत हुई है।

    राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री श्री सतपाल सांगवान ने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये है कि राजस्व हानि को रोकने के लिये यह सुनिश्चित किया जाए कि भविष्य में रजिस्ट्रिया, खास मुख्त्यारनामा तथा जमीन बेचने के लिये किये गए समझौते के अनुरूप हों। आज चंडी़गढ़ में राजस्व मंत्री ने कहा कि अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आम मुख्यारनामा, खास मुख्यारनामा तथा जमीन बेचने के लिए किये गए समझौते पंजीकृत किये जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के दस्तावेजों के पंजीकृत करवाए बिना रजिस्ट्रियां न की जाएं।

    विधानसभा के अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने कहा है कि उन्हें जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उसे वह पूरी निष्ठा और ईमानदारी से निभाएंगे। करनाल मे आयोजित अभिनंदन समारोह के दौरान मीडिया से बातचीत में उन्होनें कहा कि विधायकों को अनुशासन और सदन में कार्यवाही की सही जानकारी देने के लिए प्रशिक्षण देने पर विचार किया जा रहा है। जिसके लिए उनकी लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार से बात हो चुकी है। इससे जहां सदन का समय बचेगा वहीं जनप्रतिनिधियों को सही ढंग से अपनी बात रखने का अवसर भी मिलेगा। 

    प्ंाजाब व हरियाणा उच्च न्यायालय ने हरियाणा सरकार से पूछा है कि पिछले वर्ष 13-14 सिंतबर के दौरान दोषियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की है। जस्टिस टी पी मान व एम एम कुमार की न्यायालय खंडपीठ ने कहा है कि इस मामलें में प्राथमिकी दर्ज की गई और चलान भी पेश किया गया लेकिन कोई गिरफतारी क्यों नही की गई। उच्च न्यायालय ने इस मामलें में अगली सुनवाई इस महीने की 8 तारीख को रखी है।

    गुरूद्वारा चुनाव आयोग द्वारा शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनाव के लिए विभिन्न पार्टियों का पंजीकरण किया जाना है। इसके लिए आयोग द्वारा चुनाव चिंहों की सूची जारी की है। चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि पंजीकरण कराने वाली पार्टियों को इस सूची में दर्ज चुनाव चिंह ही आलाट किए जाएंगे। गुरूद्वारा चुनाव के लिए पंजीकरण करवाने वाली पार्टियों गुरूद्वारा चुनाव आयोग के सचिव के कार्यालय कोठी नम्बर 23, 8ए चंडीगढ़ में नाम व पते सहित तथा पदाधिकारियों का विवरण देते हुए अपनी पंसद के प्राथमिकता के आधार पर तीन चुनाव चिन्हों सहित आवेदन करे। ये आवेदन एसोसिएशन या पार्टी के रूल व नियमों के मेमोरेंडम सहित देने होंगे। प्रवक्ता ने बताया कि शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनाव में भाग लेने वाली पार्टियों निर्धारित नियमों के अनुसार गुरूद्वारा चुनाव आयोग को आवेदन करें।

    हरियाणा सरकार शीघ्र हिसार के प्लाट बायोटैक्नोलोजी केंद्र में बीजो और औषधीय वनस्पति की डी एन ए जांच की सुविधा मुहैया करवाएगी। जिससे नकली और जैनेटिक बदलाव के साथ तैयार किए गए बीजों की बेचने वाली कम्पनियों के खिलाफ कारवाई में मदद मिलेगी। सरकारी प्रवक्ता ने बताया है कि इससे पहले ऐसी जांच के लिए बीजो को बाहर भेजना पड़ता था अब किसानों और राज्यों की एजेंसियों को यह सुविधा प्रदेश में कुछ शुल्क देकर मुहैया होगी।
———————————–

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: