>प्रादेशिक समाचार 04.04.2011 news

4 अप्रैल

>

मुख्य समाचारः

*  नाबार्ड ने प्रदेश के कृषि तथा ग्रामीण विकास क्षेत्रों को 38 अरब 34 करोड़ रूपए का रिकार्ड वित्तीय सहायता दी है।
*  उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने लाईन हानि कम करके और चोरी के मामलों पर नियंत्रण करके सर्वाधिक राजस्व अर्जित किया गया है।
*  आज से चैत्र नवरात्रें शुरू हो रहे है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु माता के मंदिरों में पहुॅच रहे है।
*  केंद्रीय मौसम विभाग ने इस वर्ष समुचे देश में सामान्य वर्षा होने का अनुमान लगाया है।

    नाबार्ड के प्रदेश क्षेत्रीय कार्यालय ने प्रदेश के कृषि तथा ग्रामीण विकास क्षेत्रों को 38 अरब 34 करोड़ रूपए का रिकार्ड सहयोग दिया है जो गत वर्ष की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक है। इसमें क्रेडिट निवेश, गैर कृषि क्षेत्र गतिविधियों, व्यावसायिक बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक, लघु अवधि ऋण के अलावा ग्रामीण संरचना विकास फंड के तहत सड़के, पुल सिंचाई कार्य, पीने के पानी की आपूर्ति, आंगनवाड़ी केंद्र तथा पशु अस्पताल आदि के लिये ऋण शामिल है।

    उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने वर्ष 2010-11 के दौरान बिजली की चोरी के मामलों का पता लगाने, राजस्व संग्रहण में वृद्धि करने, सकल तकनीकी और वाणिज्यिक लोसिज में कमी लाने ओर उपभोक्ताओं के लिए बिजली आपूर्ति में वृद्धि करने में सर्वाधिक उपलब्धि हासिल की है। उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के प्रबंध निदेशक श्री अरूण कुमार ने आज चंडीगढ़ में बताया कि निगम ने गत वर्ष के दौरान बिजली चोरी के 31000 से अधिक मामलों का पता लगाया और वर्ष 2010-11 में अब तक का सर्वाधिक 50 करोड़ रूपये से अधिक का जुर्माना लगाया गया।

    उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम ने चालू वित्तीय वर्ष में सम्प्रेषण प्रणाली को मजबूत करने के लिए 852 करोड़ रूपए से अधिक की योजना बनाकर स्वीकृति के लिए राज्य विद्युत नियामक आयोग के पास इसे भेजी है। निगम के प्रवक्ता ने बताया कि इस योजना के तहत शहरी ग्रामीण एवं कृषि क्षेत्रों उच्च वोल्टेज के बिजली वितरण पर ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। प्रवक्ता ने यह भी बताया पहले चरण में शहरी इलाकों में प्री-पेड मीटर प्रणाली शुरू की जाएगी। जिस पर करीब 74 करोड़ रूपए खर्च किए जाएॅगे।

    हरियाणा सहित देश के कई प्रदेशों में मान सम्मान की खातिर होने वाली हत्याओं को रोकने के लिए केंद्र सरकार आनर किलिंग का आदेश देने वालों पर भी हत्या के जुर्म आगामी का मुकद्मा चलाने के लिए आने वाले मानसून सत्र में संसद की सहमति ले सकती है। राज्यों से भी इस बारे में राय मांगी गई थी और अब तक 18 राज्यों ने अपनी राय भेज दी है जिसमें से 15 ने केंद्र सरकार के इस प्रसताव से सहमति जताई है जबकि दो राज्यों ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है और हरियाणा एक मात्र ऐसा राज्य है जिसने केंद्र सरकार के इस प्रस्ताव का विरोध किया है। गौरतलब है कि हरियाणा में खाप  के नुमाइंदों पर प्रेम विवाह मामलों में हत्या के आदेश देने के आरोप लगते रहे है।

    आज से चैत्र से नवरात्र शुरू हो रहे है और आज से ही विक्रमी संम्वत् शुरू हो गया है। पंचकुला के माता मनसा देवी मंदिर में आज से शुरू हुये चैत्र नवरात्र मेले में सुरक्षा भी व्यापक व्यवस्था है। परिसर में 40 स्थानों पर सी सी टी वी कैमरे लगे है और सुरक्षा के लिए 600 पुलिस कर्मी तैनात किये गये है। माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड की मुख्य प्रशासक एवं उपायुक्त आशिया बराड़ ने बताया कि मेले  में दस लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीदहै। मेले के दौरान सफाई व्यवस्था का भी खास ध्यान रखा गया है और दूर दराज से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिये बोर्ड ने निःशुल्क पार्किग स्थल बनाये है। राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया ने भिवानी जिले के गांव लोहारू में शीतला मंदिर का उद्घाटन किया तथा सूफी गायकी कार्यक्रम में भाग लिया।

    घटते लिंग अनुपात के दृष्टिगत हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आज प्रदेश के लोगों का आह्वान किया कि वे कन्या भ्रूण हत्या की बुराई को समाप्त करें। वे आज पंचकुला में 9 दिनों तक चलने वाले नवरात्र उत्सव के पावन अवसर पर श्री माता मनसा देवी पूजा स्थल बोर्ड में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे जहां पर उन्होंने श्रद्धालूओं की सुविधा के लिए मंदिर की ऑन लाईन दान प्रणाली भी आरम्भ की।

    देश में लगातार दूसरे वर्ष सामान्य मानसून के अनुमानों के बीच समूचे देश में अच्छी फसल की सम्भावना बढ़ गई है। राष्ट्रीय जलवायु केंद्र नई दिल्ली के निदेशक डी शिवानन्द पाई ने बताया कि भूमध्य रेखा और उतर प्रशान्त महासागर क्षेत्रों में ला नीना तत्वों के बने रहने से दक्षिण पश्चिम मानसून को फायदा रहेगा। श्री पाई ने कहा कि मौजुदा संकेतों के अनुसार मौसम वैज्ञानिकों को प्रशान्त महासागर के भूमध्य रेखीय क्षेत्रों में उष्णता बढ़ने के कोई लक्षण नहीं दिखते  जिलों मे से जिससे दक्षिण पश्चिम प्रभावित हो सके। पिछले वर्ष देश जलवायु दृष्टि कोण से विभाजित 597 जिलो मे से 413  जिलो में सामान्य या इससे अधिक बारिश हुई।
————————————
 

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: